World unsolved mystery in hindi-रहस्यमय फसल चक 

World unsolved mystery in hindi

World unsolved mystery in hindi-रहस्यमय फसल चक

ब्रह्मांड आश्चर्यों से भरा पड़ा है। प्रतिदिन कुछ न कुछ अद्भुत घटित होता रहता है। इनमें कई विस्मयकारी आश्चर्य ऐसे भी हैं, जिनके बारे में खोज जारी है, परंतु अभी भी नहीं कहा जा सकता कि वे क्या हैं? वे कैसे घटित हो जाते हैं? कौन करता है? क्या ब्रह्मांड का कोई अस्तित्व है? या किसी रिमोट पद्धति द्वारा कोई अन्य ग्रह का वासी पृथ्वी पर अपनी पहचान बताना चाहता है। इन सब रहस्यमयी आश्चर्यों में से एक है-क्राप सर्कल्स अर्थात् फसलों पर बनाई जाने वाली आश्चर्यजनक आकृतियां। आइए देखें, आखिर ये क्राप सर्कल्स हैं क्या? 

क्राप सर्कल फसल चक्र नहीं है। शाम के समय पूरा क्षेत्र, पूरा गेहूं का खेतं शांत दिखाई दे रहा है-कहीं कोई हलचल नहीं। सुबह-सवेरे सूर्य की किरण के साथ पुनः खेत का अवलोकन करने पर वहां एक बहुत बड़े हिस्से में कुछ पौधे आधे झुके हुए और कुछ पूरे झुके हुए नजर आते हैं जैसे ज्यामिति की कोई आकृति। पूरी आकृति गोल चक्करों से निर्मित है। यही हैं क्राप सर्कल्स। विल्ट सायर (यू. के.) क्राप सर्कल स्टडी ग्रुप के अनुसार, इस बात में शंका की कोई गुंजाइश नहीं है कि क्राप सर्कल्स सचमुच ही बनते हैं। अब इन्हें पृथ्वी पर देखा जा सकता है, नापा जा सकता है तथा उसका सैम्पल लिया जा सकता है। एक बार जमीन पर, खेत में फसल पर आकृति बनने के बाद कई सप्ताह तक यह आकृति बनी रहती है, जब तक कि किसान अपनी यह फसल काट नहीं लेता है। इस तरह इसका अध्ययन करने का पूरा मौका व समय मिल जाता है। पिछले बीस वर्षों में पूरी दुनिया से प्राप्त खबरों से हजारों की संख्या में इस तरह क्राप सर्कल्स बनने का फार्मेशन रिकार्ड किया गया है। 

World unsolved mystery in hindi

वैज्ञानिक अनुसंधान बताते हैं कि जिस स्थान पर क्राप सर्कल्स बनते हैं, वहां की जमीन दसरी जगह की जमीन से अलग गुण-धर्म युक्त हो जाती है और पौधे भी अपना अलग रंग दिखाते हैं। यही नहीं, इस स्थान पर उसके ऊपर इलेक्ट्रॉनिक यंत्र, जैसे वीडियो कैमरा, वीडियो रिकार्ड्स, अन्य साउंड इक्विपमेंट्स, कंपास इत्यादि अपना काम सही ढंग से करने के बदले कुछ अलग अर्थात् गलत ढंग से करने लगते हैं। प्रतिवर्ष 200 से 250 तरह के फार्मेशन्स रिपोर्ट किए जा रहे हैं। ये दनिया के अन्य हिस्सों के बजाय इंग्लैण्ड में अधिक दिखाई दिए हैं। विल्ट सायर, उसके आस-पास का क्षेत्र, पुराने स्थान, एवीबरी के पत्थर वाले मंदिर व उसके आस-पास का क्षेत्र ज्यादा सक्रिय तथा ज्यादा तीव्र हैं। 

क्राप सकल्स ज्यामितीय आकार में फसलों पर, दूसरी वनस्पति पर और कभी-कभी रेत, पत्थर की बजरी, सादी जमीन और बर्फ के ऊपर भी प्रेस किए हए मिलते हैं। ये छोटे से लेकर बड़े आकार में अर्थात छह इंच व्यास तक भी मिलते हैं। अभी तक प्राप्त सबसे बड़ा फार्मेशन एक मील लंबा, कई साइज के चक्रों के साथ, 409 चक्रों वाला एवं 787 फट व्यास के साथ सन 2001 में विल्ट सायर के मिल्क हिल्स में पाया गया था। ये औसतन एक फुटबाल मैच के ग्राउन्ड के बराबर होते हैं। ऐसा लगता है जैसे किसी ने पौधों को बहुत धीरे से दबाकर कई सुंदर और डेलीकेट आकतियां जमीन पर बनाई हैं। खास बात यह है कि पौधे नष्ट नहीं होते हैं. समय के साथ बढ़ते हैं और फसल पकती भी है।

क्राप सर्कल्स सिर्फ साधारण निशान ही नहीं है, ज्यामिति की बहत बारीकी से बनाई गई आकृतियां गणित की उच्च स्तरीय पहेली का चित्र या पुरानी चीजों से मिलती-जुलती निशानों से बनी हुई या कभी तीनों से मिलती-जुलती आकृतियां हैं। कई रिपोर्ट्स बताते हैं कि क्राप सर्कल्स पूरी शताब्दी से हमारे साथ है। परंतु पिछले बीस वर्षों से लगातार हमारे खेतों में एक फार्मेशन से दूसरे फार्मेशन पर हर बार अधिक अर्थपूर्ण आकृतियों के साथ कठिनतम गणितीय आकृतियों के साथ प्रस्तुत हुए हैं। ये सांकेतिक तो हैं ही, क्योंकि एक अंतरंग अर्थ रखते हैं और पुराने संकेतों की तरह कई तरह से, बहुरूपता के साथ, बहुत अर्थपूर्ण होते हैं। कई स्तर पर, कई तरह से, कई तरह के लोगों ने इस अर्थपूर्ण भाषा को समझने की कोशिशें की हैं। 

क्राप सर्कल्स का कई वर्षों से, कई उदाहरणों के साथ अंतहीन सिलसिला जारी है और उसका अंत भी नहीं दिखता है। विस्मयकारी गहनता और गहन होती जा रही है। ब्रह्मांड अपने आश्चर्य दिन-प्रतिदिन दिखाता जा रहा है. और हम बौने साबित हो रहे हैं। 

सपने में दिखने वाला टेलीग्राम 

हॉलीवुड की मोहक सुन्दरी लोला अलब्राइट को हॉलीवुड की ही नहीं, विश्व की दस सर्वाधिक सुन्दरियों में से एक माना जाता है। 

सिने-तारिका बनने से पहले लोला एक लोकप्रिय मॉडल थी। एक रात उसने सपना देखा कि एक विशेष आकृति वाला आकर्षक और हंसमुख युवक एक विशेष कार के साथ उसका छायाचित्र खींच रहा है। उसने न तो उस युवक को पहले कभी देखा था और न ही उस कार को। यही सपना कई रात तक उसका पीछा करता रहा। 

एक दिन उसकी मॉडलिंग एजेंसी ने उसे बताया कि दो सप्ताह के लिए शिकागो जाना होगा। वहां पहुंचकर उसे एक फोटोग्राफर को फोन करना था, जो उसे बताएगा कि क्या-क्या करना है। 

शिकागो पहुंचकर उसने उस फोटोग्राफर से फोन पर सम्पर्क स्थापित किया। फोटोग्राफर ने, जिसका नाम पॉल हैस था, बताया कि उसे नये मॉडल की एक कार के साथ फोटो खिंचवाने हैं। वह सुबह आठ बजे कार की फैक्टरी में चलने के लिए तैयार रहे। 

लोला ने हैस को पहले कभी नहीं देखा था। जब उसने हैस को प्रत्यक्ष देखा, तो वह दंग रह गयी कि हैस वही फोटोग्राफर था, जो उसे कई रातों से सपनों में दिखायी दे रहा था। 

फिर जब वह कार की फैक्टरी में नये मॉडल की कार के पास जाकर खड़ी हुई, तो उसे एक और आश्चर्य हुआ। कार वैसी ही थी, जो उसे सपनों में दिखायी दी थी। 

हैस लोला से बहत अधिक प्रभावित हुआ। उसने लोला से कहा. “तुम फिल्मों में काम करना क्यों नहीं शुरू कर देती? तुम चाहो तो मैं तुम्हें स्टूडियो के मालिकों से मिला सकता हूं। मैं उन सबको जानता हूं।” 

पर लोला ने कहा, “मुझे फिल्मों में काम करने में कोई दिलचस्पी नहीं है, मैं अपने माडलिंग के धंधे से पूरी तरह संतुष्ट हूं।” 

लोला की अरुचि के बावजूद हैस ने स्टूडियो मालिकों से बातचीत करनी शुरू कर दी। लेला को हैस की इन कोशिशों के बारे में कुछ भी पतन था। 

 कई महीने बाद लोला को एक सपना बार-बार दिखाई देने लगा। सपने में उसे एक तार दिखाई देता था, जो मैट्रोगोल्डविन मेयर के प्रधान लई बी. मेयर ने उसे भेजा था। मेयर ने इस तार द्वारा उसे ‘स्क्रीन टेस्ट’ के लिए आमंत्रित किया था। 

जब वह यह सपना देखते-देखते तंग आ चुकी थी, तो उसे सचमुच एक तार मिला, जो वाकई बी. मेयर ने भेजा था। इस तार द्वारा उसे वास्तव में स्क्रीन टेस्ट के लिए बुलाया गया था। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

2 × five =