पेट में अल्सर क्यों हो जाते हैं?

पेट में अल्सर क्यों हो जाते हैं?

पेट में अल्सर क्यों हो जाते हैं? Why do stomach ulcers occur?

पेट हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। इसे आमाशय भी कहते हैं। इसके मुख्य रूप से दो कार्य हैं – भोजन के लिए गोदाम का काम करना और उसे पचाना। भोजन को पचाने के लिए पेट से तीन प्रकार के रस पैदा होते हैं – हाइड्रोक्लोरिक अम्ल, म्यूकस और एंजाइम। हाइड्रोक्लोरिक अम्ल भोजन में उपस्थित सूक्ष्म जीवाणओं का विनाश करता है। म्यूकस पेट की आंतरिक सतह की रक्षा करता है और उसे चिकना रखता है। एंजाइम भोजन को पचाने का काम करते हैं। एक सामान्य पेट में एक लीटर भोज्य पदार्थ आ सकता है। कभी-कभी पेट में अधिक रस बनने लगते हैं, जिनके कारण पेट में बेचैनी और जलन महसूस होने लगती है। भावुकता, भय, क्रोध, तनाव आदि के कारण पाचक रसों का निर्माण अधिक होने लगता है। अधिक मसाले वाले खाद्य पदार्थों से भी ये रस अधिक बनते हैं। सिगरेट, शराब, कॉफी, चाय आदि से भी इन रसों का निर्माण अधिक होता है। जब ये रस बहुत अधिक मात्रा में बनने लगते हैं, तो हाइड्रोक्लोरिक अम्ल पेट की आंतरिक सतह पर प्रभाव डालने लगता है। आंतरिक सतह पर घाव होने शुरू हो जाते हैं। इन्हीं घावों को पेट का अल्सर कहा जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

seventeen + twelve =