पीपुल्स यूनियन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स क्या है….

पीपुल्स यूनियन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स क्या है?,चाबहार बन्दरगाह का भारत के लिए क्या महत्व है ?

पीपुल्स यूनियन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स क्या है?,चाबहार बन्दरगाह का भारत के लिए क्या महत्व है ?, केबिनेट सचिवालय क्या है?,तनाव को सौन्दर्य का सबसे बड़ा दुश्मन क्यों कहा जाता है ?, सुप्रीम कोर्ट के जज को कैसे नियुक्त किया जाता है?, प्रोजेक्ट 15 बी क्या है ?, रावण-1 क्या है? 

प्रश्न-पीपुल्स यूनियन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स क्या है? 

उत्तर-पीपुल्स यूनियन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स (PUDR) की स्थापना भारत में 1981 में की गई. इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है, यह संस्था जनता में लोकतान्त्रिक अधिकारों के प्रति जागृति लाने हेतु समय-समय पर सम्मेलन, गोष्ठियाँ, लेख तथा वाद-विवाद प्रतियोगिता आदि का आयोजन करती है. कभी-कभी अधिकारों के संरक्षण के लिए न्यायालय का भी सहारा लेती है, यह एक निष्पक्ष एवं आत्मनिर्भर संगठन है, जिसका किसी भी राजनीतिक दल से सम्बन्ध नहीं है, 

प्रश्न-चाबहार बन्दरगाह का भारत के लिए क्या महत्व है ? 

उत्तर-चाबहार, ईरान में सिस्तान और बलूचिस्तान प्रान्त का एक शहर है, यह एक मुक्त बन्दरगाह है और ओमान की खाड़ी के किनारे स्थित है. यह ईरान का सबसे दक्षिणी शहर है. इस नगर के अधिकांश लोग बलूच हैं और बलूची भाषा बोलते हैं, इतिहास में जाएं, तो मध्य युगीन यात्री अलबरूनी ने चाबहार को भारत का प्रवेश द्वार (मध्य एशिया से) भी कहा था, चाबहार का मतलब होता है चार झरने. 

यह बन्दरगाह ईरान के लिए रणनीति की दृष्टि से बहुत होने के साथ-साथ भारत के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है. इसके माध्यम से भारत के लिए समुद्री और सड़क मार्ग से अफगानिस्तान पहुंचने का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा और इस स्थान तक पहुँचने के लिए पाकिस्तान के रास्ते की आवश्यकता नहीं होगी इस करार पर नितिन गडकरी व ईरान के परिवहन व शहरी विकास मंत्री डॉ. अब्बास अहमद ने दस्तखत किए थे. इस बन्दरगाह का इस्तेमाल कच्चे तेल व यूरिया के परिवहन के लिए किया जाएगा, इससे भारत की परिवहन लागत में काफी बचत होगी. भारत का इरादा चाबहार में दो गोदी 10 वर्ष के लिए पट्टे पर लेने का है. इस बन्दरगाह का विकास विशेष इकाई (एसपीवी) के जरिए किया जाएगा, जो गोदियों (वर्थ) कन्टेनर टर्मिनल व बहुउद्देशीय कार्गो टर्मिनल में बदलने के लिए 8-52 करोड़ डॉलर का निवेश करेगी, 

प्रश्न-केबिनेट सचिवालय क्या है? 

उत्तर-केबिनेट (Cabinet) या मन्त्रि मण्डल की कार्यवाहियों के संचालन एवं प्रबन्धन के लिए केबिनेट या मन्त्रिमण्डलीय सचिवालय होता है. केबिनेट सचिवालय का प्रमुख केबिनेट सचिव होता है, जो प्रशासनिक सेवा का सीनियर अधिकारी होता है. केबिनेट सचिव सिविल सर्विसेज बोर्ड का पदेन अध्यक्ष भी होता है. यह सीधे प्रधानमंत्री के अधीन कार्य करता है, सचिवालय का कार्य विभिन्न मंत्रालयों से कार्यों के निष्पादन की सूचना लेना, अन्य सूचनाएं प्रेषित करना तथा समन्वय करना है, इन सूचनाओं से सरकार को नीतिगत निर्णय लेने में सहायता मिलती है. 

प्रश्न-तनाव को सौन्दर्य का सबसे बड़ा दुश्मन क्यों कहा जाता है ? 

उत्तर-ब्रिटिश शोध दल द्वारा किए अध्ययन के अनुसार तनाव 10 वर्ष में चेहरे की सारी चमक को नष्ट कर देता है. तनाव के चलते ज्यादातर लोगों की दिनचर्या खराब हो जाती है. वे पौष्टिक आहार का सेवन भी नहीं कर पाते हैं, तनाव भरे दिन के बाद ज्यादातर लोग खुद को शान्त करने के लिए शराब के सेवन या रेस्टोरेंट में अनियमित खानपान का सहारा लेते हैं. सेहत पर इसका दीर्घकालीन नकारात्मक असर होता है. इससे सफेद बाल, चौड़े जबड़े, चेहरे पर रेखाएं, झुर्रियाँ गाल फूलने, त्वचा लाल, सूजी और शिथिल होने जैसी समस्याएँ होती हैं. 

शोध में एजिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल एरिओल अमरीकी खुफिया एजेंसी एफबीआई के लिए काम कर चुकी हैं. वे अपराधियों की पुरानी तस्वीरों की मदद से उनकी नवीनतम तस्वीरें बनाया करती थीं. अब वे चेंजमाईफेस डॉट कॉम वेबसाइट चला रही हैं, जिसमें एजिंग सॉफ्टवेयर के जरिए लोग जान सकते हैं कि भविष्य में उनका चेहरा कैसा होगा. 

  • दिन में कुछ देर काम-काज से दूर रहकर खुद को वक्त देबीच-बीच में ऑफिस से छुट्टी लेते रहें, रोज कुछ देर गहरी सांस लें,संगीत सुनें, पौष्टिक आहार लें और माइंडफुलनेस तकनीक आजमाएं.
  • इनसे बचें-तनाव दूर करने के लिए शराब, फॉस्टफूड और धूम्रपान का सहारा न लें, 

प्रश्न-सुप्रीम कोर्ट के जज को कैसे नियुक्त किया जाता है? 

उत्तर भारत के मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारतीय संविधान के अधिनियम संख्या 124 के दूसरे सेक्शन के अन्तर्गत होती है, क्या आप जानते हैं कि यह पद भारतीय गणतन्त्र का सबसे ऊंचा न्यायिक पद है संविधान में 30 न्यायाधीश तथा । मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति का प्रावधान है, 

सर्वोच्च न्यायालय के सभी न्यायाधीशों की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के परामर्शानुसार की जाती है, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश इस प्रसंग में राष्ट्रपति को परामर्श देने से पूर्व अनिवार्य रूप से चार वरिष्ठतम न्यायाधीशों के समूह से परामर्श प्राप्त करते हैं तथा इस समूह से प्राप्त परामर्श के आधार पर राष्ट्रपति को परामर्श देते हैं अनुच्छेद 124 के अनुसार मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति करते समय राष्ट्रपति अपनी इच्छानुसार सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की सलाह लेगा. वहीं अन्य जजों की नियुक्ति के समय उसे अनिवार्य रूप से मुख्य न्यायाधीश की सलाह मानना अनिवार्य होगा, 

प्रश्न-प्रोजेक्ट 15 बी क्या है ? 

उत्तर-प्रोजेक्ट 15बी युद्धपोतों में अत्याधुनिक उन्नत तकनीक की सुविधा है और यह विश्व में अपनी श्रेणी के सर्वश्रेष्ठ युद्धपोतों के समान है, इन युद्धपोतों को भारतीय नौसेना के नई दिल्ली स्थित नौसेना डिजाइन निदेशालय द्वारा स्वदेश में तैयार किया गया है. प्रत्येक युद्धपोत की लम्बाई 163 मीटर और बीम पर 17-4 मीटर है और इसकी क्षमता 7,300 टन है. इन युद्धपोतों को 30 नॉटिकल मील से अधिक की गति देने के लिए इसमें चार गैस टर्बाइनों का उपयोग किया जाएगा. पी। 5बी विध्वंसक युद्धपोतों में बेहतर सुविधा, समुद्री क्षमता, स्टेल्थ और युद्ध के समय इसके बेहतर उपयोग की अवधारणाओं को ध्यान में रखते हुए नए डिजाइन के साथ तैयार किया गया है, 

प्रश्न-रावण-1 क्या है? 

उत्तर-श्रीलंका का प्रथम उपग्रह ‘रावण-1 (Raavana-1) 18 अप्रैल, 2019 को अमरीका के वर्जिनिया स्थित नासा के प्रक्षेपण केन्द्र से प्रक्षेपित किया गया, 105 किग्रा वजनी इस उपग्रह का जीवनकाल डेढ वर्ष है, रावण-1 के प्रक्षेपण के साथ ही अंतरिक्ष जगत् की दुनिया में श्रीलंका का भी प्रवेश हो गया है. इस उपग्रह की डिजाइन व निर्माण जापान के कयुशु इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में किया गया, यह उपग्रह श्रीलंका एवं पड़ोसी देशों की चित्र लेगा, रावण-1 उपग्रह पृथ्वी से 400 किमी की ऊँचाई पर परिक्रमा करेगा, रावण-1 के लॉन्च के साथ श्रीलंका का प्रवेश भी वैश्विक अन्तरिक्ष युग में हो गया है, 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

one × one =