वैज्ञानिक दृष्टि से उपवास से शरीर को क्या लाभ होता है ?

वैज्ञानिक दृष्टि से उपवास से शरीर को क्या लाभ होता है ?

प्रश्न-वैज्ञानिक दृष्टि से उपवास से शरीर को क्या लाभ होता है ? Scientifically, what are the benefits of fasting to the body?

उत्तर-भारत में उपवास की प्रथा प्राचीनकाल से चली आ रही है. व्रत और उपवास तो मानो पर्यायवाची हो गए हैं. उपवास की उपयोगिता पर अन्वेषण भी होते रहे हैं. उपवास सेहत के लिए अच्छा होता यह बात हम सभी जानते हैं और विज्ञान ने भी इसे सही बताया है. इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं. यह वजन घटाने में मदद करता ही है साथ ही हृदय के लिए भी फायदेमंद है. 

हाल ही में चूहों पर किए गए एक अध्ययन में बताया गया कि नियमित उपवास आँत के बैक्टीरिया (जीवाणु) की गतिविधियों को बदलने में मदद करता है. साथ ही तंत्रिका (नस) क्षति से उबरने में भी मददगार है. अध्ययन के निष्कर्ष ‘नेचर जर्नल में प्रकाशित किए गए हैं.. 

इंपीरियल कॉलेज, लंदन के शोध कर्ताओं ने अध्ययन में पाया कि उपवास के कारण आँत के बैक्टीरिया ने 3-इंडोल प्रोपियोनिक एसिड (आईपीए) के रूप में जाना जाने वाला मेटाबोलाइट का उत्पादन बढ़ा दिया, जो तंत्रिका कोशिकाओं के सिरों पर एक्सान-फाइबर जैसी संरचनाओं को पुनः उत्पन्न करने के लिए आवश्यक है. ये शरीर की अन्य कोशिकाओं को विद्युत् रासायनिक संकेत भेजते हैं. 

शोधकर्ताओं का कहना है कि ‘क्लोस्ट्री डियम स्पोरोजेनेसिस’ नाम का बैक्टीरिया, जो आईपीए पैदा करता है वह मनुष्यों के साथ-साथ चूहों में भी स्वाभाविक रूप से पाया जाता है. साथ ही, आईपीए इंसान के खून में भी मौजूद होता है. शोधकर्ता प्रो. सिमोन डि जियोवानी ने कहा, सर्जिकल पुनर्निर्माण के अलावा तंत्रिका क्षति वाले लोगों के लिए वर्तमान में कोई इलाज नहीं है, जो केवल कुछ ही मामलों में प्रभावी है. यह हमें यह जाँचने के लिए प्रेरित करता है कि क्या जीवनशैली में बदलाव से हमें मदद मिल सकती है. उन्होंने बताया, नियमित उपवास को पहले भी शोध में घाव की मरम्मत और नए न्यूरॉन्स के विकास से जोड़ा गया, लेकिन यह ऐसा पहला शोध जो बताता है कि उपवास नसों को ठीक करने में कैसे मदद कर सकता है?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

four × 3 =