वैज्ञानिक कारण-ऐसा क्यों होता है विज्ञान

वैज्ञानिक कारण (SCIENTIFIC REASONS) 

 

  1. किसी बस के अचानक चल पड़ने से यात्री पीछे की ओर गिर जाते हैं, क्यों? 

Ans. बस के अचानक चल पड़ने से व्यक्ति के शरीर का निचला भाग जो बस के सीधे सम्पर्क में है, गति जड़त्व के कारण बस के साथ ही तुरंत गति में आ जाता है, लेकिन ऊपरी भाग विराम जड़त्व के कारण स्थिर बना रहता है। अतः बस के अचानक चल पड़ने से व्यक्ति का पैर बस की गति के साथ गति में आ जाता है, लेकिन ऊपरी हिस्सा स्थिर रहता है यही कारण है कि व्यक्ति पीछे की ओर गिर जाता है। 

 

  1. दौड़ती हुई गाड़ी से उतरने पर व्यक्ति गिर जाता है, क्यों? 

Ans. दौड़ती हुई गाड़ी से उतरने वाले व्यक्ति का शरीर गाड़ी की गति के बराबर गतिशील होता है। कूदने पर उसका पैर सड़क पर स्थिर हो जाता है, लेकिन शरीर के अन्य भागों की गति वैसी ही रहती है, जिसके कारण व्यक्ति गाड़ी चलने की दिशा में गिर जाता है। 

 

  1. बंदूक से गोली छोड़ने पर पीछे की ओर क्यों झटका लगता है ? 

Ans. संवेग संरक्षण के नियम से, गोली में जितना संवेग-परिवर्तन होगा, बंदुक में भी उतना ही संवेग-परिवर्तन विपरीत दिशा में होगा । फलतः बंदूक पीछे की ओर हटती है जिससे पीछे की ओर धक्का लगता है। 

 

  1. पहाड़ों पर चढ़ता हुआ व्यक्ति आगे की ओर झुक जाता है, क्यों? 

Ans. चूँकि आगे की ओर झुक जाने से शरीर का गुरुत्व-केन्द्र व्यक्ति के पैरों के बीच में पड़ता है, जिससे वह स्थायी संतुलन की अवस्था में आ जाता है और आसानी से ऊपर चढ़ सकता है। 

 

5.लोहे का जहाज पानी पर तैरता है, लेकिन सूई क्यों डूब जाती है ?

 Ans. चूँकि लोहे का बने जहाज द्वारा हटाए गए पानी का भार जहाज के भार से अधिक होता है, जिससे लोहे का जहाज पानी पर तैरता है, लेकिन सूई अपने भार के बराबर पानी नहीं हटा पाती जिससे वह डूब जाती है।

 

  1. ठंढे प्रदेशों में झीलों के जम जाने से भी जलीय जंतु कैसे जीवित रहते हैं ? 

Ans. झीलों का जल ऊपरी भाग में तो जम जाता है लेकिन निचले तल में जल का तापमान 4°C से नीचे नहीं गिरने पाता जिससे जलीय जंतु आसानी से जीवित रहते हैं। 

 

7.रेल की पटरियों के बीच खाली जगह क्यों छोड़ दी जाती है? 

Ans. चूँकि गर्मी के दिनों में तापमान वृद्धि के साथ धातुओं में प्रसार होता है, जिससे रेल की पटरियाँ गर्मियों में बढ़ने पर छोड़ी गई खाली जगह में प्रसारित होती हैं तथा टेढ़ी-मेढ़ी होने से बच जाती हैं। 

 

8.लकड़ी के पहिए पर लोहे की हाल चढ़ाने के पहले उसे क्यों गर्म करते हैं ?

Ans. चूँकि लोहा गर्मी पाकर फैलता है जिससे उसकी परिधि में वृद्धि हो जाती है, तत्पश्चात् पहिए पर आसानी से हाल चढ़ाकर उसे पुनः ठंढा किया जाता है जिससे वह संकुचित होकर पहिए में चिपक जाए, यही कारण है कि हाल को पहले गर्म किया जाता है। 

 

  1. पहाड़ों पर खाना देर से क्यों पकता है? 

Ans. पहाड़ों पर ऊँचाई बढ़ने के साथ-साथ जल का क्वथनांक घट जाता है, जिससे खाना कम ताप पर ही उबलने लगता है। फलतः खाना वहाँ देर से पकता है। 

वैज्ञानिक कारण-ऐसा क्यों होता है विज्ञान

  1. ऊँचे भवनों पर तड़ित चालक क्यों लगाये जाते हैं ? 

Ans. बादलों के घर्षण से उत्पन्न स्थिर विद्युत से ऊँचे भवनों की सुरक्षा के लिए तड़ित चालक लगाए जाते हैं। तड़ित चालक का संबंध पृथ्वी से होता है। 

—————————————————————————————-

वैज्ञानिक कारण-ऐसा क्यों होता है विज्ञान

11.कंबल में लपेटी गई बर्फ जल्दी क्यों नहीं पिघलती है? 

Ans. कंबल बर्फ के लिए एक ऊष्मारोधी आवरण का कार्य करता है, जिससे बाह्य ऊष्मा से बर्फ अप्रभावित रहती है तथा जल्दी नहीं पिघलती है। 

 

  1. थर्मस फ्लास्क में चाय कैसे गर्म रहती है ? 

Ans. थर्मस फ्लास्क में ऊष्मारोधी आवरण लगा होता है जो मुक्त वातावरण से ऊष्मा स्थानान्तरण को रोकता है। यही कारण है कि थर्मस फ्लास्क में चाय अधिक देर तक गर्म रहती है।

 

  1. पंखे के नीचे हमें ठंढक क्यों लगती है ? 

Ans. पंखे से हमारे शरीर में वाष्पन की गति बढ़ जाती है। वाष्पन के लिए आवश्यक ऊष्मा शरीर से ही प्राप्त होती है। यही कारण है कि पंखे के नीचे हमें ठंढक लगती है। 

 

  1. उबलते हुए पानी की अपेक्षा भाप से जलन अधिक कष्टदायी होता है क्यों ? 

Ans. भाप में उबलते हुए पानी की अपेक्षा उसी ताप पर 536 कैलोरी/ग्राम ऊष्मा अधिक होती है। इसलिए भाप से जलना अधिक कष्टदायी होता है। 

 

  1. किसी पत्थर को हवा की अपेक्षा पानी में उठाना क्यों आसान होता है? 

Ans. पानी में पत्थर पर ऊपर की ओर उत्प्लावन बल कार्य करता है जो पत्थर के वास्तविक भार (हवा में भार) को कम कर देता है यही कारण है कि पत्थर को हवा की अपेक्षा पानी में उठाना आसान होता है। 

 

  1. बादलों वाली रातें स्वच्छ रातों की अपेक्षा अधिक गर्म होती है क्यों ? 

Ans. चूँकि बादल पृथ्वी के वायुमंडल से ऊष्मा विकिरण को रोकते हैं। इसलिए बादलों वाली रातें गर्म होती हैं। 

 

  1. खाना बनाने वाले बर्तनों की पेंदी काली क्यों कर दी जाती है ? 

Ans. चूँकि काली सतह ऊष्मा का अच्छा अवशोषक होता है। इसलिए खाना बनाने वाले की पेंदी काली कर दी जाती है। 

 

  1. पानी में मिट्टी का तेल डालने से मच्छर क्यों मर जाते हैं ? 

Ans. पानी में मिट्टी का तेल डालने से पानी का पृष्ठ तनाव घट जाता है, जिससे मच्छर मर 

 

  1. तारे टिमटिमाते नजर आते हैं, क्यों? 

Ans. तारों से चलने वाली प्रकाश किरणें हम तक विभिन्न घनत्व वाली वायुमंडलीय परतों से होकर गुजरती है जिससे उनका अपवर्तन हो जाता है, अतः अपवर्तित प्रकाश किरणें हम 

 

  1. पानी से भरी बाल्टी में छड़ी टेढ़ी नजर आती है, क्यों ? 

Ans. जब पानी से भरी बाल्टी में छड़ी को आंशिक रूप से डुबोई जाती है तो डूबे भाग से चलने वाली प्रकाश किरणे अपवर्तन के पश्चात् अभिलम्ब से दूर हट जाती हैं, तथा आभासी प्रतिबिम्ब नजर आने लगता है। यही कारण है कि छड़ी टेढ़ी नजर आती है।


vaigyanik Karan-aisa kyon hota hai,

21.आकाश नीला क्यों दिखाई देता है? 

Ans. आकाश का नीला दिखाई देना वायुमंडल में विद्यमान धूल के कणों द्वारा प्रकाश का प्रकीर्णन है। चूँकि हम जानते हैं कि कम तरंगदैर्घ्य (बैंगनी नीली किरणे) के प्रकाश का प्रकीर्णन सर्वाधिक होता हे, यही कारण है आकाश का रंग हमें नीला दिखाई देता है। 

 

  1. आकाश में बिजली की चमक पहले तथा गर्जन बाद में सुनाई पड़ता है क्यों? 

Ans. चूँकि प्रकाश की चाल वायु या निर्वात् में 3x 10 मीटर/से या 3 लाख किलोमीटर/ सेकंड एवं वायु में ध्वनि (गर्जन) की चाल 332 मीटर/से है। यही कारण है कि बिजली की चमक पहले तथा गर्जन बाद में सुनाई पड़ता है। 

 

  1. चन्द्रमा पर दिन व रात लगभग दो सप्ताह के होते हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि चन्द्रमा का परिक्रमण का होता है। यही कारण है कि चन्द्रमा पर दिन व रात लगभग 14-14 दिन अर्थात् दो सप्ताह के होते हैं। 

 

  1. चमगादड़ अंधेरे में कैसे उड़ते हैं ? 

Ans. चमगादड़ उड़ते समय पराध्वनिक (Ultrasonic waves) उत्पन्न करता है। ये तरंग अवरोध से परावर्तित होकर पुनः उन तक पहँचती है। इस प्रकार चमगादड़ को सही मार्ग का पता चल जाता है और अंधेरे में भी उड़ सकता है।

 

25 चन्द्रमा पर कोई वायुमंडल नहीं है, क्यों? 

Ans.चूँकि चन्द्रमा पर गैसीय अणुओं का वर्ग माध्य मल वेग अर्थात पलायन वेग (2.4 किमा से) से अधिक है। इसलिए चन्द्रमा पर वायुमंडल का अभाव है। 

 

  1. किसी रोलर को खींचने की अपेक्षा लुढ़काना आसान है, क्यों? 

Ans. चूँकि घूर्णीय घर्षण बल (Rolling Friction Force) गतिज घर्षण बल (Dynamic Force of Friction) से कम होता है। इसलिए किसी रोलर को खींचने की अपेक्षा लुढ़काना आसान होता है। 

 

27.पीछे के दृश्य देखने के लिए गाड़ियों में उत्तल दर्पण का प्रयोग किया जाता है, क्यों? 

Ans. चूँकि उत्तल दर्पण से पीछे आनेवाले कई वाहनों के सूक्ष्म वास्तविक तथा विस्तारित क्षेत्र के चित्र चालक को प्राप्त होते हैं। इसलिए वाहन में उत्तल दर्पण का ही प्रयोग किया जाता है

28.गिलास में बर्फ रखने पर गिलास के दीवारों पर पानी की छोटी-छोटी बूंदे जमा हो जाती  हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि गिलास में रखे बर्फ के कारण वाष्पन की क्रिया तीव्रता से होती है और आस पास का तापमान काफी कम हो जाता है जिससे गिलास की बाहरी सतह पर आर्द्र वायु संघनित होकर छोटी-छोटी बूंदों के रूप में जमा हो जाती है। 

 

  1. एक साइकिल सवार वक्राकार पथ पर अन्दर की ओर झुक जाता है, क्यों? 

Ans. इस क्रिया में साइकिल सवार आवश्यक अभिकेन्द्र बल जो वक्र के केन्द्र की ओर दिष्ट होता है उत्पन्न करता है जो अपकेन्द्र बल को संतुलित करता है जिसकी दिशा केन्द्र के बाहर होती है। यही कारण है कि साइकिल सवार वक्राकार पथ पर अंदर की ओर झुक जाता है। 


विज्ञान क्या और क्यों कैसे,

30.निर्वात् में यदि एक पंख और एक लोहे की गोली समान ऊँचाई से गिराई जाए तो दोनों पृथ्वी पर एक साथ पहुंचेंगे, क्यों? 

Ans. निर्वात् में यदि एक पंख और एक लोहे की गोली समान ऊँचाई से गिरायी जाए, तो दोनों पर एक त्वरण (गुरुत्वीय त्वरण) कार्य करता है जो द्रव्यमान तथा आकार पर निर्भर नहीं करता। यदि यही क्रिया खुले वातावरण में की जाए, तो गोली पहले जमीन पर गिरेगी। 

—————————————————————————————-

 

31.एक गिलास में पानी है, उसमें बर्फ का एक टुकड़ा डाल दिया जाता है जिससे गिलास लवालब भर जाता है। बर्फ के पूरा-पूरा पिघल जाने के बाद भी गिलास से पानी नहीं छलकता, क्यों? 

Ans. चूँकि बर्फ के पिघलने के बाद उससे बने पानी का आयतन बर्फ द्वारा विस्थापित पानी का आयतन के बराबर होता है, यही कारण है कि गिलास से पानी नहीं छलकता है। 

 

  1. अंतरक्षि वी भारहीनता का अनुभव करते हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि अंतरिक्ष यान एक निश्चित कक्षा में घूमता है। इसके लिए आवश्यक अभिकेन्ट बल, गुरुत्वाकर्षण बल से प्राप्त होता है। अतः पूरा यान लटका हुआ प्रतीत होता है। फलतः यान की प्रत्येक वस्तु अर्थात् अंतरिक्ष यात्री भारहीनता का अनुभव करता है। 

 

  1. गर्मियों में दोलक घडी सुस्त चलती है, क्यों? 

Ans. दोलक घड़ी का लोलक (Pendulum) धातु का बना होता है, गर्मी के दिनों में उसकी लंबाई में वृद्धि हो जाती है, जिसके कारण आवर्तकाल (T) का मान भी बढ़ जाता है, यही कारण है कि गर्मियों में दोलक घड़ी सुस्त चलती है। 

 

  1. भूमि पर गिरने के बाद गेंद ऊपर की ओर उछलती है, क्यों? 

Ans. भूमि पर गिरते ही गेंद में विरूपता आ जाती है जो प्रत्यास्थ बल उत्पन्न करती है। प्रत्यास्थता के कारण गेंद अपनी पूर्वावस्था में आना चाहती है अतः यह सतह पर दबाव डालती है। न्यूटन के तीसरे नियम के अनुसार भी गेंद पर एक दबाव ऊपर की ओर लगता है। फलतः गेंद ऊपर की ओर उछल जाती है।

 

  1. एक किलो पंख का भार एक किलो शीशे के भार से कम होगा, क्यों? 

Ans. पंख के ढेर पर उत्प्लावन बल, शीशे के ढेर पर लगे उत्प्लावन बल से अधिक होता है, इसलिए एक क्लिो पंख का भार एक किलो शीशे के भार से कम होगा। 

 

  1. लोहे की अपेक्षा रबर अधिक प्रत्यास्थ है, क्यों? 

Ans. जब रबर को खींचकर छोड़ा जाता है तो वह अपनी पूर्वावस्था को पूर्णतः प्राप्त कर लेता है, लेकिन लोहे के तार को खींचकर छोड़ने पर उसमें कुछ विरूपता आ जाती है। यही कारण है कि रबर लोहे की अपेक्षा अधिक प्रत्यास्थ है। 

 

  1. चन्द्रमा पर बर्फ को गर्म करने पर वह सीधे भाप में बदल जाती है, क्यों? 

Ans. चन्द्रमा पर वायुदाब पारे के 0.1 सेमी दाब से भी कम है। दाब घटने पर जल का क्वथनांक घटता है। पारे के 0.46 सेमी दाब पर जल का क्वथनांक 0°C रह जाता है। यही कारण है कि चन्द्रमा पर बर्फ को गर्म करने पर वह सीधे भाप में बदल जाता है। 

 

  1. साधारण जल की अपेक्षा साबुन के घोल के बुलबुले बड़े होते हैं, क्यों? 

Ans. चूंकि साबुन के घोल का पृष्ठ तनाव बहुत कम होता है। यही कारण है कि घोल के बुलबुले बड़े बनते हैं। 

 

  1. लालटेन की बत्ती में मिट्टी का तेल क्यों चढ़ता है? 

Ans. लालटेन की बत्ती के धागों के बीच बनी केशनलियों के द्वारा ही मिट्टी का तेल ऊपर 

चढ़ता है। 

 

  1. रेफ्रिजरेटर में शीतलक कुंडलियाँ ऊपर लगाई जाती हैं, क्यों? 

Ans. रेफ्रिजरेटर में ऊपर की वायु शीतलक के सम्पर्क में आकर ठंढी हो जाती है और यह भारी होने के कारण नीचे को चली जाती है तथा नीचे की गर्म वायु हल्की होने के कारण ऊपर आ जाती है। इस प्रकार वायु में संवहन धाराएँ बन जाती हैं तथा पूरा स्थान ठंढा रहता है। यदि कुण्डलियाँ नीचे लगाई जाएँ तो संवहन संभव नहीं होगा। 

———————————————————————————-

विज्ञान के प्रश्न उत्तर

41.आकाश में बादल तैरते दिखाई देते हैं, क्यों? 

Ans. जब जल की वाष्प, धूल इत्यादि के कणों पर संघनित होती है तो प्रारंभ में ये बूंदें बहुत छोटी होती हैं। इन बूंदों की चाल नीचे की ओर इतनी कम होती है कि ये आकाश में तैरते प्रतीत होती हैं जिसे बादल कहते हैं। 

 

  1. धूमकेतु की पूँछ सूर्य से परे दिष्ट होती है, क्यों? 

Ans. धूमकेतु की पूँछ हाइड्रोजन की बनी होती है जो सूर्य से परे होती है ऐसा इसलिए होता है कि सूर्य द्वारा उत्सर्जित विकिरण धूमकेतु पर दबाव डालता है जिसकी वजह से धूमकेतु की पूँछ सूर्य से परे दिष्ट होती है। 

 

  1. जब कोई सेना किसी पुल को पार करती है तो सैनिक कदम मिलाकर नहीं चलते. क्यों ?

 Ans. इसका कारण यह है कि यदि कभी सैनिकों के कदमों की आवृत्ति पुल की स्वाभाविक आवृत्ति के बराबर हो जाय तो पुल में बड़े आयाम के कम्पन होने लगेंगे तथा पुल टूटने का खतरा उत्पन्न हो जाएगा। 

 

  1. वर्षा के दिनों में साइरन की ध्वनि दूर तक सुनाई देती है, क्यों? 

Ans. जल वाष्प के कारण वायुमंडलीय घनत्व ज्यादा होता है और ध्वनि की चाल घनत्व के वर्गमूल के समानुपाती होती है। अतः ध्वनि तेज तथा दूर तक सुनाई पड़ती है। 

 

  1. पहाड़ी सड़कें सीधी ढाल न बनाकर घुमावदार बनाई जाती हैं, क्यों? 

Ans. यदि पहाड़ी सड़कें सीधी ढालूदार बना दिया जाय तो वाहन को आवश्यक घर्षण बल नहीं मिल सकेगा जिससे वाहन फिसलने लगेगा और ऊपर नहीं चढ़ पायेगा। सड़क घुमावदार बनाने से ढाल कम हो जाता है और आवश्यक घर्षण बल मिल पाता है यही कारण है कि पहाड़ी सड़कें सीधी ढालू न बनाकर घुमावदार बनाई जाती हैं। 

 

46.डॉक्टरी थर्मामीटर उबलते जल में डालने से टूट जाता है, क्यों? 

डॉक्टरी थर्मामीटर एक फारेनहाइट थर्मामीटर होता है। जिससे 94°F से 110°F तक मापा जाता है। जबकि उबलते जल का ताप 100°C अर्थात् 212°F होता है। अतः जब शर्मामीटर उबलते जल में डाला जाता है तो पारे का प्रसार इतना अधिक होता है कि मीटर इसे सहन नहीं कर पाता और थर्मामीटर अंततः टूट जाता है। 

 

47.लाल वस्तु हरा प्रकाश में काली दिखती है, क्यों? 

Ans. चूँकि लाल प्रकाश द्वारा हरा प्रकाश पूरी तरह अवशोषित हो जाता है यही कारण है 

 

  1. उगता और अस्त होता सूर्य लाल होता है क्यों?

Ans. चूँकि उगते और अस्त होते समय सूर्य क्षितिज के निकट होता है। अतः प्रकाश को वायुमंडल में अधिक चलना पड़ता है। लाल रंग के प्रकाश का तरंगदैर्घ्य सबसे अधिक होने के कारण इसकी किरणें बहुत कम बिखरती हैं और शेष रंग वायुमंडल में बिखर जाते हैं। यही कारण है कि उगता और अस्त होता सूर्य लाल प्रतीत होता है। 

49.मोटरगाडी को स्टार्ट करते समय उसकी हैड लाइट मंद पड़ जाती है क्यों ? 

Ans. गाडी स्टार्ट करते समय स्टार्टर द्वारा बैटरी से उच्च धारा प्रवाहित होती है जिससे बैटरी में विभव पतन बढ़ जाता है और बैटरी के प्लेटों के बीच विभवान्तर का मान बहुत कम हो जाता है। यही कारण है कि गाड़ी स्टार्ट करते समय उसकी हैड लाइट मंद पड़ जाती है। 

 

50.कोई वस्तु जब गर्म की जाती है, तो पहले लाल रंग की दिखाई देती है, क्यों? 

Ans. चूँकि सामान्य ताप पर केवल बड़ी तरंगदैर्घ्य की किरणें निकलती हैं, जिससे वस्तु लाल दिखती है। 

———————————————————————————

वैज्ञानिक कारण

51.जुगनू प्रकाश देता है, क्यों? 

Ans. जुगनू में एक ग्रंथि होती है, जिससे फॉस्फोरस जैसा पदार्थ रूक-रूक कर नावित होता रहता है, जिसे लुसीफेरिन (Luciferin) कहा जाता है। हवा के सम्पर्क में आने से यह जलता हुआ प्रतीत होता है। यही कारण है कि जुगनू प्रकाश देता है। 

 

  1. छाया सूर्यास्त तथा सूर्योदय के समय बड़ी व दोपहर में छोटी होती है, क्यों ? 

Ans. चूँकि दोपहर में सूर्य की किरणें पृथ्वी पर सीधी लंबवत् पड़ती है, लेकिन सूर्यास्त तथा सूर्योदय के समय तिरछी, यही कारण है कि सूर्यास्त तथा सूर्योदय के समय छाया बड़ी होती है तथा दोपहर में छोटी होती है। 

 

  1. वर्षा के दिनों में अधिक पसीना निकलता है, क्यों ? 

Ans. वर्षा के दिनों में वायुमंडल की आर्द्रता अधिक होती है, ताप अधिक होने के कारण शरीर से निकले पसीने का वाष्पीकरण नहीं हो पाता जिसके कारण ऐसा प्रतीत होता है कि पसीना अधिक निकल रहा है। 

 

  1. अधिक ऊँचाई पर नाक से खून निकलने लगता है, क्यों? 

Ans. चूँकि धरातल पर रक्त दाब तथा वायुमंडलीय दाब लगभग बराबर होती है। ऊँचाई बढ़ने के साथ-साथ वायु दाब कम होता जाता है। अधिक ऊँचाई पर रक्त दाब तो वही रहता है लेकिन वायुदाब बिल्कुल कम हो जाता है जिसके कारण नाक से खून निकलने लगता है। 

 

  1. उगता और अस्त होता सूर्य बड़ा दिखाई देता है, क्यों? 

Ans. उगता तथा अस्त होता दोनों ही स्थितियों में सूर्य क्षितिज के पास होता है और इसकी करणा को सघन माध्यम से गुजरना पड़ता है जिससे अपवर्तन अधिक होता है। अतः अपवर्तन अधिक होने के कारण सूर्य नजदीक तथा बड़ा दिखता है। 

56.बर्फ  पानी में तैरती है लेकिन अल्कोहॉल में डूब जाती है, क्यों? 

Ans.बर्फ का घनत्व पानी के घनत्व से कम तथा अल्कोहॉल के घनत्व से अधिक होता है, यही कारण है कि बर्फ अल्कोहॉल में डूब जाती है। 

 

  1. बादलों वाली रात स्वच्छ रात की अपेक्षा गर्म होती है, क्यों? 

Ans. जब आकाश में बादलों की उपस्थिति होती है तो पृथ्वी द्वारा परावर्तित विकिरित ऊपर ऊपर न जाकर बादल व पृथ्वी के बीच ही रहती है। जिसके कारण गर्मी बढ़ जाती है। अतः बादलों वाली रात स्वच्छ रात की अपेक्षा गर्म होती है। 

 

  1. बर्फ का एक टुकड़ा पेय पदार्थ को ठंढा बना देता है, क्यों ? 

Ans. चूँकि बर्फ पिघलने के लिए गुप्त ऊष्मा पेय पदार्थ से लेता है, यही कारण है कि पेय पदार्थ ठंढा हो जाता है।

 

  1. पृथ्वी पर चन्द्रमा का एक ही भाग दिखाई पड़ता है, क्यों? 

Ans. चन्द्रमा अपनी धुरी पर एक चक्कर और पृथ्वी की परिक्रमा बराबर व 27 दिनों में पूरा करता है। इसी कारण पृथ्वी पर चन्द्रमा का एक ही तल दिखाई पड़ता है। 

 

  1. तेज आँधी आने से पहले ही बैरोमीटर का पारा गिर जाता है, क्यों? 

Ans. तेज आँधी आने से पूर्व वायुमंडलीय दबाव बहुत कम हो जाता है, जिसके कारण बैरोमीटर का पारा गिर जाता है। 

————————————————————————–

  1. हाइड्रोजन भरा गुब्बारा एक ऊँचाई तक जाकर रूक जाता है, क्यों? 

Ans. चूँकि ऊँचाई के साथ घनत्व कम होता जाता है। गुब्बारा ऊपर तब तक उठता रहता है जब तक हाइड्रोजन का घनत्व हवा के घनत्व से कम रहेगा। जिस ऊँचाई पर हवा व हाइड्रोजन का घनत्व बराबर हो जायेगा, वहीं गुब्बारे का ऊपर उठना रूक जायेगा। अतः निश्चित ऊँचाई पर जाकर हाइड्रोजन भरा गुब्बारा रूक जाता है। 

 

  1. कमरा बंद रहने पर भी बाहर की आवाज सुनाई पड़ती है, क्यों? 

Ans. चूँकि ध्वनि के संचरण के लिए माध्यम की आवश्यकता होती है। कमरा बंद रहने पर हवा के माध्यम से ध्वनि कमरे के भीतर पहुँच जाती है, जिसके कारण बंद कमरे में भी बाहर की आवाज सुनाई पड़ती है। 

 

  1. डॉक्टरी थर्मामीटर के बल्ब के समीप पतली बनावट रहती है, क्यों? 

Ans. शरीर के ताप से बल्ब के पारे का प्रसार होता है और यह संकीर्ण बनावट को पार करता है और ऊपर तब तक रूका रहता है जब तक थर्मामीटर को झटका नहीं दिया जाता। यदि संकीर्ण बनावट न रहती तो पारा जल्दी से बल्ब में उतर आता। 

 

  1. चन्द्रमा का आकार तारों से बहुत छोटा होता है, फिर भी यह बड़ा दिखाई पड़ता है, क्यों ?

Ans. चन्द्रमा तारों की अपेक्षा पृथ्वी से बहुत समीप है। अतः यह आँख पर बड़ा दर्शन कोण बनाता है। किसी वस्तु का दर्शन कोण जितना ही बड़ा होता है, वह उतनी ही बडी दिखाई पड़ती है। यही कारण है कि चन्द्रमा का आकार तारों से बहुत छोटा होता है फिर भी यह बड़ा दिखाई पड़ता है। 

 

  1. अंतरिक्ष यान जो एक निश्चित कक्षा में चक्कर काट रहा है, में बैठा एक व्यक्ति एक पत्थर गिराता है, पत्थर पृथ्वी पर क्यों नहीं आता ?

Ans. चूँकि अंतरिक्षयान के अंदर भारहीनता की अवस्था होती है। इसी भारहीनता के कारण पत्थर पृथ्वी पर नहीं पहुँच पाता। 

 

  1. जाड़े के दिनों में एक मोटी कमीज की अपेक्षा तो पतली कमीज से पहनना अधिक उपयुक्त होता है क्यों

           Ans. चूँकि दो कमीजों के बीच वायु की पतली पर्त्त, जो ऊष्मा का कुचालक है, आ जाती है। जिससे ऊष्मा बाहर प्रवाहित नहीं हो पाती, यही कारण है कि एक मोटी कमीज की अपेक्षा दो पतली कमीजें पहनना अधिक उपयुक्त है।

 

  1. सुबह व शाम दोपहर की अपेक्षा कम गर्म क्यों रहते हैं ? 

Ans. चूँकि दोपहर को सूर्य की किरणें धरती पर सीधी पड़ती हैं जो कि सर्वाधिक ऊष्मा प्रदान करती है। इसलिए दोपहर सबह-शाम की अपेक्षा गर्म होता है। 

 

68.जहाज जब नदी से समुद्र में प्रवेश करता है तो पानी का तल नीचे क्यों गिर जाता हैं

Ans. चूँकि समुद्र के खारे पानी का घनत्व नदी के जल के घनत्व से अधिक होता है, इसलिए समुद्र के जल में जहाज के प्रवेश करने पर अधिक उत्प्लावन बल का अनुभव होता है, 

 

69.हवाई जहाज से यात्रा करने के पहले कलम से स्याही को क्यों निकाल दी जाता है। 

Ans. चूंकि हवाई जहाज से जब हम यात्रा करते हैं तो ऊपर पहँचने पर वायुमंडलीय दाब काफी कम हो जाता है और कलम के अंदर स्याही का द्रव दाब, बाहर के वायुमंडलीय दाब से अधिक हो जाता है, जिससे स्याही कलम से बाहर आने लगती है, यही कारण है कि हवार जहाज से यात्रा करते समय कलम से स्याही को निकाल दी जाती है। 

 

  1. किसी चालक तार से विद्युत धारा प्रवाहित करने पर ताप बढ़ जाता है, क्यों? 

Ans. किसी चालक तार से विद्युत धारा प्रवाहित करने पर तार का तापक्रम बढ़ जाता है क्योंकि उसमें प्रवाहित इलेक्ट्रॉन आपस में टकराते हैं, जिसकी वजह से ऊष्मा उत्पन्न होती है | 

———————————————————————————————–

71.विद्युत शक्ति संचरण में D.C. की अपेक्षा A.C. का व्यवहार क्यों होता है ? 

Ans. चूँकि A.C. का मुख्य लाभ यह है कि इसे आसानी से और सस्ते में एक वोल्टता से दूसरे वोल्टता तक ट्रांसफॉर्मर (transformer) द्वारा ऊर्जा की बहुत कम हानि के साथ बदला ट्रांसफॉर्मर द्वारा बहुत उच्च वोल्टता तक बढ़ाया जा सकता है और इसका अधिक दूरी तक संचरण न्यूनतम शक्ति हानि के साथ किया जा सकता है। 

 

72.विद्युत मिस्त्री विद्युत परिपथ पर कार्य करते समय रबड़ के जूते या दस्ताने क्यों पहनते हैं

Ans. रबर के जूते या दस्ताने विद्युतरोधी होते हैं। इनसे होकर विद्युत प्रवाहित नहीं होता। विद्युत मिस्त्री को विद्युत परिपथ पर कार्य करते समय कभी-कभी विद्युन्मय तार का स्पर्श हो जा सकता है। यदि विद्युन्मय तार से मिस्त्री के हाथ का स्पर्श हो जाए तो दुर्घटना हो सकती है, क्योंकि मानव शरीर विद्युत का चालक है। जब मिस्त्री रबर के दस्ताने पहनकर कार्य करते हैं तब विद्युन्मय तार का शरीर से स्पर्श नहीं हो पाता जिससे दुर्घटना होने की संभावना नहीं रहती है। रबर के जूते पहनने से मिस्त्री के शरीर का संपर्क पृथ्वी से नहीं हो पाता। 

 

  1. स्थायी चुम्बक इस्पात के क्यों बनाये जाते हैं ? 

Ans. चूँकि इस्पात की धारणशीलता अधिक होती है अर्थात् इसमें चुम्ब्कीय गुण को अधिक देर तक बनाये रखने की प्रवृत्ति होती है, इसलिए स्थायी चुम्बक इस्पात के बनाए जाते हैं। 

 

  1. दाढी बनाने के लिए अवतल दर्पण का उपयोग किया जाता है, क्यों? 

Ans. जब अवतल दर्पण के समीप किसी वास्तु को रखा जाता है, तो वस्तु का सीधा और बड़ा प्रतिबिम्ब बनता है, इसलिए दाढ़ी बनाने के लिए अवतल दर्पण का उपयोग किया जाता 

 

  1. अंतरिक्ष यात्री चन्द्रमा पर अधिक बोझ कैसे ले जाते हैं ? 

Ans. अंतरिक्ष यात्री चन्द्रमा पर अधिक बोझ इसलिए ले जा पाते हैं क्योंकि चन्द्रमा का गुरुत्वीय बल पृथ्वी के गुरुत्वीय बल का भाग होता है।

 

  1. हिमशैल पानी में क्यों तैरता है ? 

Ans. क्योंकि हिमशैल का घनत्व पानी के घनत्व से कम होता है। 

 

  1. जल से भरे हुए बर्तन की सतह पर पड़ा कोई सिक्का ऊपर उठा हुआ प्रतीत होता है, क्यों?

 Ans. पानी में पड़े सिक्के से जो प्रकाश की किरणें चलती हैं, अपवर्तन के नियमानुसार, हवा में बाहर की ओर झुक जाती है। यही कारण है कि जल से भरे  बर्तन की सतह पर पड़ा  कोई सिक्का ऊपर उठा हुआ प्रतीत होता है। 

 

  1. वृक्ष की डाल को हिलाने पर फल नीचे गिर जाते हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि वृक्ष की डाल को हिलाने के कारण उसमें अचानक गति उत्पन्न हो जाती है लेकिन डाल पर लगे फल जड़त्व के कारण अपने ही स्थान पर स्थिर रहना चाहता है। अतः इस क्रिया के कारण फल पेड़ से टूटकर नीचे गिर जाते हैं।

 

  1. प्रेशर कुकर में खाना जल्दी पक जाता है, क्यों? 

Ans. चूँकि प्रेशर कुकर में दाब बढ़ जाने के कारण क्वथनांक बढ़ जाता है जिसके कारण साधारण बरतनों की अपेक्षा प्रेशर कुकर में खाना जल्दी पक जाता है। 

 

  1. रॉकेट आगे की ओर कैसे चलता है ? 

Ans.रॉकेट में किसी ज्वलनशील पदार्थ को जलाकर गैसें उत्पन्न की जाती हैं जो नीचे की ओर अत्यंत तीव्र वेग से एक जेट के रूप में निकलती है। ये गैसें रॉकेट पर ऊपर की ओर प्रतिक्रिया बल लगाती है जिसके कारण रॉकेट ऊपर उठ जाता है। गैस के जेट का वेग जितना ही अधिक होता है रॉकेट भी ऊपर की ओर उतने ही अधिक वेग से उठता है। 

——————————————————————————————–

  1. इन्द्रधनुष सुबह के समय हमेशा पश्चिम में और शाम के समय हमेशा पूरब में ही क्यों दिखाई पड़ता है ? 

Ans. इन्द्रधनुष की रचना तभी होती है जब वर्षा के बादल सूर्य के सामने होते हैं क्योंकि सुबह सूर्य पूर्व में होता है, अतः इन्द्रधनुष पश्चिम में दिखाई पड़ता है। शाम को सूर्य पश्चिम में आ जाता है जिसके कारण इन्द्रधनुष हमेशा पूरब में दिखाई पड़ता है। 

 

  1. धूल के कण वायु में तैरते रहते हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि हल्के धूल के कण वायु की श्यानता की स्थिति में वायु में तैरते रहते हैं।

 

  1. क्या कारण है कि पानी में तैरती हुई सुई डिटर्जेन्ट का एक कण मिलाते ही डूब जाती है |

Ans. पानी में डिटर्जेन्ट का एक कण मिलाते ही पानी के घोल का पृष्ठ तनाव कम हो जाता है, यही कारण है कि पानी में डिटरजेन्ट का एक कण मिलाते ही सुई पानी में डूब जाती है। 

 

  1. आकाश में उड़ती हुई चील की परछाई हमें क्यों दिखाई नहीं देती है? 

Ans. सूर्य पृथ्वी पर एक प्राकृतिक प्रकाश का स्रोत है। अतः सूर्य की अपेक्षा चील काफी छोटी या नगण्य होती है। जब चील हवा में ऊँची उड़ती है तो केवल वायु में प्रच्छाया बनती है, वह धरती तक नहीं पहुँच पाती। लेकिन उसकी उपच्छाया पृथ्वी तल पर पहुँचती है, लेकिन धुंधली होने के कारण हमें दिखाई नहीं पड़ती है। 

 

  1. वर्षा ऋतु में इन्द्रधनुष क्यों दिखाई पड़ते हैं ? 

Ans. इन्द्रधनुष का बनना प्रकाश के प्रकीर्णन के कारण होता है। अतः वर्षा के पश्चात् वायुमंडल में जल की बूँदें निलंबित हो जाती हैं तथा बूंद अपवर्तन के माध्यम से अर्थात् प्रिज्म के रूप में क्रिया करती है, जिससे वर्षा ऋतु में इन्द्रधनुष बन जाता है। 

 

  1. हवाई जहाज से पैराशूट की सहायता से व्यक्ति पृथ्वी पर कैसे उतर जाता 

Ans. पृथ्वी पर व्यक्ति गुरुत्वाकर्षण के कारण गिरता है। पैराशूट इस बल का विरोध करते हैं और व्यक्ति की गति धीमी हो जाती है, जिससे व्यक्ति आसानी से हवाई जहाज से पृथ्वी पर उतर आता है।

 

  1. लाल रंग लाल क्यों दिखाई देता है ? 

Ans. इसका कारण यह है कि लाल वस्तु केवल लाल रंग के प्रकाश को ही परावर्तित करती है। इसी कारण लाल रंग हमें लाल ही दिखाई देते हैं। 

 

  1. क्या कारण है कि धातु के बरतन से चाय पीने की अपेक्षा चीनी मिट्टी के बरतन से चाय पीना आसान होता है ? 

Ans. हम जानते हैं कि धातु ऊष्मा की सुचालक होती है जिससे धातु के बरतन में चाय रखने पर बर्तन चाय की ऊष्मा से गर्म हो जाती है और पीने पर होंठ जलने लगते हैं। लेकिन चीनी मिट्टी ऊष्मा का कुचालक हैं, अतः चाय की ऊष्मा होंठ तक नहीं पहुंच सकती व होंठ नहीं जल पाते हैं। 

 

  1. क्या कारण है कि जब हम धूप से कमरे में आते हैं तो हमें धुंधला नजर आता है ? 

Ans. चूँकि धूप में होने पर हमारी आँख की दृष्टिपटल (Retina) की संवेदनशीलता कम हो जाता है, क्योंकि तीव्र प्रकाश आँख में न जा सके। जब हम कमरे में आते हैं तो मूल संवेदनशीलता को पुनः प्राप्त करने में समय लगता है। इसी कारण धूप से कमर मार धुंधला दिखाई देता है। 

 

90.रात्रि में अधिक दूरी तक आवाज सुनाई पड़ती है, क्यों ? 

Ans. यहाँ रात्रि में अधीक दूरी तक आवाज सुनाई देने के दो मूल कारण हैं पहला यह है कि, रात्रि में वायु दिन के अपेक्षाकृत अधिक ठंढी होने से उसमें सांद्रता अधिक हो जाता है। वायु के अधिक सान्द्र होने से उसमें ध्वनि की चाल बढ़ जाती है, जिसके कारण आवाज अधिक दूर तक सुनाई देती है। दूसरा कारण यह है कि रात्रि में दिन की अपेक्षा शोर कम होता है। इसलिए दिन में जो बहुत आवाजें किसी भी एक आवाज की तीव्रता को उसके मार्ग में पड़ने पर टकराने से कम कर देती है। अतः रात्रि में आवाजें कम होने या न होने के कारण किसी भी आवाज़ की तीव्रता को काफी हदतक स्पष्ट बनाये रखने में सक्षम होती है। 

———————————————————————————————

  1. पहाड़ों पर वाष्पोत्सर्जन की दर अधिक क्यों होती है? 

Ans. चूँकि वाष्पोत्सर्जन की दर वायुमंडलीय दाब पर निर्भर करती है। अतः वायुमंडलीय दाब की कमी से वाष्पोत्सर्जन की गति में वृद्धि होती है। यही कारण है कि पहाड़ों पर वायुमंडलीय दाब कम होता है, जिससे वाष्पोत्सर्जन काफी तेजी से होता है।

 

  1. तूफान आने का क्या कारण है ? 

Ans. गर्मी के दिनों में किसी स्थान की वायु गर्म होकर तेजी से प्रसारित होती है, जिसके कारण वह स्थान रिक्त हो जाता है। इस रिक्त स्थान की पूर्ति के लिए दूर की ठंढी वायु इस स्थान में पहुँचती है, जिससे तूफान आने की संभवना हो जाती है। 

 

  1. क्या कारण है कि कुछ कारों में अतिरिक्त पीली हैडलाइट का प्रयोग किया जाता है 

Ans. चूँकि कारों में पीली हैडलाइट का प्रयोग इसलिए किया जाता है कि पीले रंग का प्रकाश कुहरे को भी भेद सकता है। जिसके कारण कुहरे में भी वस्तुएँ स्पष्ट दिखाई पड़ती हैं तथा सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है। 

 

  1. शुद्ध स्पेक्ट्रम प्राप्त करने के लिए आपतित किरणें समांतर क्यों होनी चाहिए? 

Ans. क्योंकि एक ही रंग वाली निर्गत किरणें समांतर हों, जिससे शुद्ध स्पेक्ट्रम प्राप्त हो सके। 

 

  1. पराबैंगनी विकिरण देने वाले लैंपों के बल्बों को क्वार्ट्ज़ से बनाते हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि पराबैंगनी विकिरण देने वाले लैंपों के बल्बों को क्वार्टज से इसलिए बनाते हैं कि पराबैंगनी विकिरण ववार्ट्स में से भी गुजर जाते हैं।

 

  1. खगोलीय दूरबीन में अवतल दर्पण का प्रयोग किया जाता है, क्यों? 

Ans. चूँकि खगोलीय दूरबीन में अवतल दर्पण का प्रयोग इसलिए किया जाता है कि दर्पण सुदूर नक्षत्रों से आने वाले क्षीण प्रकाश को अभिसरित करके दर्पण के फोकस पर स्पष्ट व चमकदार प्रतिबिम्ब बना सके। 

 

  1. खतरे का सिग्नल लाल क्यों बनाया जाता है ? 

Ans. चूँकि लाल रंग का तरंगदैर्ध्य सर्वाधिक होता है जिसके कारण वायु के सूक्ष्म कणों द्वारा कुहरे या धुएँ का प्रकीर्णन नहीं होता है और ये काफी दूर तक गमन करते हैं, जिससे काफी दूर से देखने पर यह लाल ही दिखाई पड़ता है। इसलिए, खतरे के सिग्नल को लाल बनाया जाता है। 

 

  1. सभा हॉल में श्रोताओं की संख्या कम होने पर भाषण सुनने में कठिनाई होती है, क्यों? 

Ans. चूँकि सभा भवन में श्रोताओं की संख्या में कमी होने पर प्रतिध्वनि में वृद्धि हो जाती है  तथा ध्वनि का अवशोषण नहीं हो पाता, यही कारण है कि श्रोताओं को भाषण सुनने में कठिनाई होती है। 

 

  1. गर्मी के दिनों में कुत्ते जीभ निकालकर हाँफते हैं, क्यों? 

Ans. गर्मी के दिनों में भयंकर गर्मी से परेशान कत्ते जीभ निकालकर हाँफते हैं क्योंकि जीभपर वाष्पीकरण की क्रिया होती है, जिससे उसे ठंढक का अनुभव होता है। 

 

  1. गर्मी के दिनों में छत सफेदी कराना लाभदायक होता है, क्यों? 

Ans. उजला पदार्थ ऊष्मा का अच्छा परावर्तक होता हैं और अल्प अवशोषक भी होता है, 

इसलिए गर्मियों में छत की सफेदी कराना लाभदायक होता है। 

————————————————————————————

101.टी.-बी. के स्क्रीन पर धूलकण जल्दी जमा हो जाते हैं, क्यों? 

Ans. चूँकि टी. बी. स्क्रीन आवेशित तथा धूलकण अनावेशित होता है। हम जानते हैं कि आवेशित तथा अनावेशित पदार्थों के बीच आकर्षण होता है, जिसके कारण धूलकण टी. वी. स्क्रीन की ओर आकर्षित हो जाते हैं और स्क्रीन पर जल्दी धूलकण जमा हो जाता है। 

 

  1. दीकसूचक की सुई को चुम्बक के पास लाने पर सुई विक्षेपित हो जाती है, क्यों? 

Ans. दिक्सूचक की सुई स्वयं एक चुम्बक होती है। चूँकि हम जानते हैं कि एक चुम्बक को किसी दूसरे चुम्बक के पास लाने पर आकर्षण या प्रतिकर्षण होता है, यही कारण है कि दिक्सूचक की सुई विक्षेपित हो जाती है। 

 

  1. नाव पर सवार यात्रियों को खड़ा होने से मना किया जाता है, क्यों ? 

Ans. यात्रियों के खड़ा होने पर नाव का गुरुत्व केन्द्र ऊपर उठ जाता है और नाव के डूबने की संभावना बढ़ जाती है यही कारण है कि नाव पर सवार यात्रियों को खड़ा होने से मना किया जाता है। 

 

  1. रेडियो सेट सूर्यास्त के बाद साफ बजता है, क्यों? 

Ans. सूर्य की किरणों से वायुमंडलीय कणों का आयनीकरण (ionization) हो जाता है आयन की परत(ionospire)जिससे रेडियो तरंगें परावर्तित होकर रेडियो सेट तक पहुचती हैं, अनियमित हो जाती हैं। सूर्यास्त के बाद आयनोस्फीयर स्थाई हो जाने के कारण  रेडियो सेट साफ बजता है। 

 

105.A.C. मेंस को छूने से आदमी की मृत्यु हो जाती है, जबकि D.C. छूने से नहीं, क्यों? 

Ans. A.C. मेंस को छूने से धारा शरीर से होकर पृथ्वी को पहुँच जाती है और मेंस शरीर को आकर्षित करता है।इससे परिपथ पूरा हो जाता है और शरीर को जला देता है। D.C. शरीर को झटका देकर दूर फेंक देता है। 

 

  1. क्षितिज के पास सूर्य अंडाकार प्रतीत होता है, क्यों? 

Ans. क्षितिज के पास सूर्य की किरणों को सघन माध्यम से गुजरना पड़ता है, जिससे किरणों का अपवर्तन अधिक होता है, यही कारण है कि क्षितिज के पास सूर्य अंडाकार प्रतीत होता है। 

 

  1. विद्युत मोटर में स्टार्टर का प्रयोग क्यों किया जाता है ? 

Ans. विद्युत मोटर में लगी आर्मेचर-कुंडली को हानि से बचाने के लिए स्टार्टर का प्रयोग किया जाता है तथा इसके साथ श्रेणीक्रम में जोड़े गए एक बड़े एवं स्वतः समायोजित परिवर्ती प्रतिराधेक को प्रवर्तक प्रतिरोध अथवा स्टार्टर कहते हैं। 

 

  1. धारामापी का प्रयोग एमीटर के रूप में क्यों नहीं किया जाता है। 

Ans. क्योंकि धारामापी का प्रतिरोध बहुत कम नहीं होता है, जिसक का ही माप सकते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *