अंपायर और रैफरी में क्या अंतर है-Umpire aur referee mein kya Antar hai 

अंपायर और रैफरी में क्या अंतर है

अंपायर और रैफरी में क्या अंतर है?-Umpire aur referee mein kya Antar hai 

अंपायर और रैफरी में क्या अंतर हैइन दोनों ही शब्दों का संबंध स्पोर्ट्स से है। इन शब्दों का प्रयोग करने वालों से यदि इनका अंतर पूछा जाए, तो शायद वे अलग-अलग समझा न पाएं, जबकि इनमें स्पष्ट और बहुत बारीक अंतर है। आगे इसी को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। 

अंपायर अपना निर्णय बिना किसी सलाह के करता है। यहां यह भी संभव है कि खिलाड़ी की अपील पर अन्य अंपायर्स से उसके द्वारा दिए गए निर्णय की विवेचना हो और उस पर अंतिम निर्णय लिया जाए। दूसरी तरफ रैफरी अपने लाइनमैन साथियों से सलाह पर निर्णय देता है (उनके झंडे को देखकर)। 

loading...

अंपायर बिल्कुल शांत व सीधा होता है। खेल के आरंभ से अंत तक अपनी जगह पर खड़ा रहता है, लेकिन बेचारा रैफरी बेलगाम घोड़े की तरह मैदान में खिलाड़ियों के साथ दौड़ता रहता है। इन दोनों के निर्णय का ढंग अलग-अलग है, पर काम दोनों का एक ही है अर्थात खेल का मूल्यांकन करना। 

More from my site

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × two =