ट्रोजन युद्ध क्यों हुआ और इसकी प्रसिद्धि का कारण क्या है? 

ट्रोजन युद्ध क्यों हुआ और इसकी प्रसिद्धि का कारण क्या है? 

ट्रोजन युद्ध क्यों हुआ और इसकी प्रसिद्धि का कारण क्या है? 

ट्रोजन युद्ध प्राचीन यूनान के निवासियों और ट्राय के बीच 1230 ई. पूर्व में हुआ था। इसकी युद्धभूमि ट्रॉय शहर थी। 1240 ई. पू. में ट्रॉय के राजा का | बेटा पेरिस, स्पार्टा के राजा मेनेलास की रानी हेलेना को अपने घर भगा लाया था। ग्रीकवासी ट्रॉय पर घेरा डालकर दस साल तक युद्ध करते रहे, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। फिर उन्होंने एक योजना बनाई। 

ट्रोजन युद्ध क्यों हुआ

इस योजना के अनुसार लकड़ी का एक विशाल खोखला घोड़ा बनाया गया। इस घोड़े का नाम ‘ट्रोजन हॉर्स’ रखा गया। उन्होंने एक सैनिक टुकड़ी घोड़े के अंदर छुपा दी और उसे ट्रॉय शहर के बाहर छोड़कर चले गए। ट्राय निवासी घोड़े को शहर के अंदर लाए।

उन्हें इस बात का पता नहीं था कि घोड़े के अंदर ग्रीक सिपाही छुपे हुए हैं। आधी रात को ये सिपाही घोड़े से बाहर निकल आए। उन्होंने शहर के बाहर के दरवाजे खोल दिए। ग्रीक सेना शहर में घुस आयी। भारी मारकाट मचाकर वे हैलेना को वापस ले गए। 

ग्रीक माइथोलॉजी में इस युद्ध का महत्वपूर्ण स्थान है। ग्रीक के साहित्य में भी इसे अपने-अपने ढंग से रचनाकारों ने शब्द दिए हैं। इस युद्ध के बारे में दो मान्यताएं हैं-एक के अनुसार यह एक पौराणिक गाथा है, जबकि दूसरी के अनुसार यह एक ऐतिहासिक घटना है।

इसकी पुष्टि में वो कई सुबूत भी प्रस्तुत करते हैं। इस युद्ध के केंद्र में प्रेम गाथा है, इसीलिए इसने विभिन्न कलाप्रेमियों और रचनाकारों को अपनी ओर आकर्षित किया है। इस युद्ध पर बनी फिल्मों ने भी दर्शकों की अच्छी-खासी भीड़ इकट्ठी की है। ‘ट्रॉय’ नामक फिल्म का 11 पुरस्कारों के लिए नामांकन किया गया था। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

seven − 6 =