Summer skin care tips in Hindi-गर्मियों में चेहरे की देखभाल कैसे करें,

गर्मियों में चेहरे की देखभाल कैसे करें

खूबसूरती दिनभर बनी रहे और आप नजर आएं बेपनाह खूबसूरत… आपको छूने का दिल करे… लगें आप गरमी की उमसभरी दुपहरी में पूनम का चांद, आइए करें कुछ ऐसा इंतजाम… 

Summer skin care tips

यदि अधिक देर धूप में रहने के कारण चेहरा मुरझा गया हो या चेहरे का रंग पीला पड़ गया हो तो चेहरे को धोने के बाद नीबू की कुछ बूंदें मिले दूध को रूई या ऊन के फाहे से चेहरे पर लगाएं। इस लेप से त्वचा कुछ तन जाएगी। थोड़ी देर बाद पानी से धो डालें। चेहरा खिल उठेगा। इससे कील-मुंहासे दूर होका त्वचा साफ और कांतियुक्त हो जाएगी। 

गर्मियों में त्वचा पर तैलीय पदार्थों का अधिक प्रयोग न करें अन्यथा तैलीय ग्रंथियां अधिक सक्रिय हो उठेंगी। 

त्वचा कोमल और चमकती रहे, इसके लिए शीशे के एक कप में 100 ग्राम कच्चा दूध डालकर चौथाई नीबू निचोड़ें या नीबू के रस की इतनी बूंदें डालें कि दूध फट जाए। फिर इसे चेहरे और हाथों पर धीरे-धीरे मलें। इसके बाद गुनगुने पानी से स्नान करें या चेहरा धो लें। यह तैलीय त्वचा को साफ करने वाला एक उत्तम मिक्स्चर है।

नीबू का रस जहां त्वचा की अतिरिक्त चिकनाई को साफ करता है, वहीं दूध त्वचा को मखमली कोमलता देता है। यदि गरदन मैली और आभाहीन हो गई हो, तो इस मिक्स्चर को रूई, कपड़े या स्पंज की मदद से गरदन पर धीरे-धीरे मलें और फिर सूखने दें। 20 मिनट बाद ठंडे पानी से धो-पोंछकर सुखा लें। गरदन स्वच्छ, मुलायम और कांतिमय हो जाती है। 

60 ग्राम बेसन और चम्मच पिसी हुई हल्दी में थोड़ा-सा कच्चा दूध मिलाकर गाढ़ा-गाढ़ा घोल बना लें और सचम्मच या 8-10 बूंदें सरसों का तेल मिलाकर इतना फेंटें कि गाढ़ा पेस्ट बन जाए। इस पेस्ट का चेहरे, गरदन, बांहों, हाथों-पैरों, कोहनियों या घुटनों आदि पर लेप कर लें। लेप करने के 5-10 मिनट बाद जब यह लेप सूखने लगे, तब हथेलियों के दबाव से मसल-मसलकर छुड़ा लें। कुछ देर के बाद गुनगुने पानी से धो लें या स्नान कर लें तथा तौलिए से सुखा लें। इससे त्वचा साफ, रेशम-सी चिकनी, मक्खन-सी मुलायम और चमकदार हो जाती है तथा चेहरे की रंगत निखर उठती है।

बेसन-हल्दी के इस पेस्ट को चेहरे पर लगाने से चेहरे की झाइयां, दाग, झुर्रियां और कालिमा दूर होती है और चेहरे के अनावश्यक बाल भी झड़ जाते हैं। यह पेस्ट स्नान से 30 मिनट पहले लगाना ठीक रहता है या फिर रात्रि में सोने से पहले इसे 2-3 दिन 6 बार और फिर महीने में 4 बार अवश्य लगाएं। इसके 6-7 बार के प्रयोग के बाद आपको अपने रंग में फर्क नजर आने लगेगा। 

Summer skin care tips in Hindi

गर्मियों में चेहरे की देखभाल कैसे करें

तेज धूप से बचाव के लिए सन ब्लॉक भी लगाएं। सन ब्लॉक अल्ट्रा वायलेट रेडिएशन को स्किन में जाने से रोकता है। 15 से 30 एस.पी.एफ. तक का सनस्क्रीन सही रहता है। 

धूप में चेहरे को दुपट्टे या साड़ी के आंचल से ढक लें। ठंडे पानी से स्नान करें। फिर कोल्ड क्रीम या जैतून का तेल लगाएं। 

 केवल खीरे का रस या खीरे के टुकड़ों को चेहरे पर मलने से रंग साफ होता है और तैलीय त्वचा की शिकायतें दूर होती हैं। अधिक चिकनाई वाले चेहरे पर पिसा हुआ खीरा मलकर धोने से अनावश्यक चिकनाई दूर होती है। 

धूप में झुलसी स्किन पर 10 ग्राम उड़द की दाल को दही के साथ पीसकर लगाएं और 20 मिनट बाद ठंडे पानी से स्किन को धो लें। 

10 ग्राम नीबू का रस, 10 ग्राम | मूली का रस, 10 ग्राम दही को मिलाकर धूप में झुलसी स्किन पर लगाएं। 20 मिनट के बाद ठंडे पानी से धो लें। 

सनस्क्रीन चेहरे के अलावा गरदन, हाथों व कोहनियों पर भी लगाएं। आप एंटी एजिंग क्रीम, दवाइयां या फिर रेटिना क्रीम लगाते हैं, तो यह क्रीम लगाकर धूप में न निकलें। स्किन पर लाल धब्बे उभर सकते हैं। 

पेस्ट अर्थात् उबटन उतारते समय इस बात का ध्यान रखें कि हथेलियों को ऊपर से नीचे की दिशा में चलाएं अन्यथा त्वचा ढीली पड़ सकती है। झुर्रियों से बचने के लिए उबटन धीरे-धीरे नीचे से ऊपर की तरफ यानी 

ललाट पर ऊपर की ओर, गाल पर नीचे से कनपटी की ओर तथा नाक से कान की ओर, ठोड़ी पर बाईं एवं दाईं दिशा में और झुर्रियों की विपरीत दिशा में हथेलियों को ले जाते हुए करें। 

 चिकनी व तैलीय त्वचा के लिए बेसन से बढ़कर उत्तम कोई भी चीज़ नहीं है। केवल बेसन को ही पानी में घोलकर लेप कर लें और 15 मिनट बाद धो लें। इससे चेहरे का चिपचिपापन दूर होगा और चेहरा खिल उठेगा। गर्मियों में सिर्फ बेसन ही मलना अच्छा रहता है, क्योंकि यह ठंडक देता है। 

घरेलू प्रसाधन के अतिरिक्त घर से बाहर जाते समय बाजार में उपलब्ध सनस्क्रीन का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 

गर्मियों के लिए घरेलू ब्यूटी टिप्स

साबुन की जगह स्वदेशी पेस्ट लगाकर स्नान करने से त्वचा में निखार आता है और रंगत भी निखरती है। पेस्ट लगाते समय गरदन को न भूलें। पेस्ट भौंहों, पलकों एवं होंठों पर न लगाएं। 

 गर्मियों में वाटरप्रूफ मेकअप का प्रयोग करें। मेकअप को हल्का लुक दें। चिकनाईरहित मॉइश्चराइजर ही त्वचा के लिए चुनें, क्योंकि इन दिनों पसीने की अधिकता के कारण त्वचा को अतिरिक्त चिकनाई की आवश्यकता नहीं होती। 

शुष्क व रूखी त्वचा को ठीक करने के लिए कच्चे दूध जैसा दूसरा कोई स्वदेशी सौंदर्य प्रसाधन नहीं है- आधी कटोरी कच्चा दूध लेकर उसे गुनगुना कर लें, दूध में स्वच्छ रूई का एक फाहा भिगोकर चेहरे, गरदन, हाथों आदि तथा शरीर के अन्य अंगों पर 5-10 मिनट तक फेरें। आप देखेंगे कि रूई मैली हो गई है। 20 मिनट बाद ठंडे या गुनगुने पानी से धो लें। दुग्ध स्नान से त्वचा स्निग्ध बनती है। दूध के दैनिक प्रयोग से चेहरे की झाइयां, दाग-धब्बे, झुर्रियां और खुरदरापन दूर होकर चेहरे की चमक और रंगत निखरती है। 

 गर्मियों में चेहरे को फेसवाश से धो सकते हैं। इससे स्किन पर चिकनाहट नहीं रहती। दूध में पिसा हुआ बादाम और गुलाबजल मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 

Summer skin care tips in Hindi

दिनभर में 5-6 बार ताजा या ठंडे पानी से चेहरा धोएं। इससे ताजगी मिलती है। त्वचा की स्निग्धता बनी रहती है। 

हफ्ते में एक बार भाप लें। अगर त्वचा शुष्क हो तो 15 दिन में या महीने में एक बार भाप लें। इस प्रक्रिया से त्वचा की आंतरिक तौर पर सफाई हो जाती है।

 फ्रिज में रखा ककड़ी का रस त्वचा पर लगाने से गरमी से राहत मिलती है। यह त्वचा के लिए एक बेहतर प्राकृतिक टोनर है।

मेकअप उतारने के बाद रात को सोने से पहले बादाम या जैतून के तेल से त्वचा की हल्की मालिश करें। इससे त्वचा की, चमक बनी रहती है। 

चीनी मिट्टी के बरतन में खीरे को कसकर उसको कपड़े में अच्छी तरह से निचोड़कर रस निकाल लें। 30 ग्राम रस में चम्मच नीबू-रस और चम्मच गुलाबजल मिलाकर घोल बना लें। इसे रूई से चेहरे व गरदन पर लगाकर आधा या एक घंटे बाद गुनगुने पानी से, फिर ताजा पानी से मुंह धो लें। तैलीय त्वचा के लिए यह लोशन है। इससे चेहरे पर 

कुदरती चमक और निखार आ जाता है, क्योंकि कृत्रिम क्रीमों की तुलना में खीरे का रस बहुत शीघ्र त्वचा के भीतर पहुंचकर असर करता है। खीरे में त्वचा को निखारने का विशेष गुण है। धूप के कारण सांवली पड़ गई त्वचा पर इस घोल का इस्तेमाल लाभप्रद है। 

ठंडे पानी में मुल्तानी मिट्टी का पाउडर मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे झुलसी हुई स्किन पर लगाएं। 20 मिनट बाद ठंडे पानी से स्किन धो लें। 

एक चम्मच दूध में ठंडी मलाई और एक चुटकी हल्दी का बारीक पाउडर मिलाकर चेहरे पर नित्य मलने से त्वचा का रूखापन दूर होकर चेहरा कांतिमय हो जाता है। 

आंखों के नीचे व आस-पास पड़ गए कालेपन को दूर करने के लिए रूई के फाहे को खीरे के रस में भिगोकर पलकों पर और उसके आस-पास रखें। 15 मिनट बाद हटा लें। धीरे-धीरे त्वचा अपनी स्वाभाविक रंगत में आ जाएगी। 

सुबह दूध उबालने से पहले दूध की 5-7 बंदें हथेली पर डालकर उसमें 2-4 बूंदें नीब के रस की भी मिला लें और फिर चेहरे तथा हाथों पर मल लें तो त्वचा निखर उठेगी।

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *