शिक्षाप्रद कहानियाँ-ईश्वर से वादा

शिक्षाप्रद कहानियाँ-ईश्वर से वादा

शिक्षाप्रद कहानियाँ-ईश्वर से वादा

एक जगह नारियल बिक रहे थे। एक मछुआरा वहाँ से गुजरा तो उसे नारियल खरीदने की इच्छा हुई। उसने दाम पूछा। आठ आने का एक। उसे दाम ज्यादा लगा। वह कुछ आगे गया तो एक और दुकानदार मिला। वह चार आने में एक नारियल दे रहा था। उसे यह भी महँगा लगा। वह सस्ता करने की जिद करने लगा तो दुकानदार खिन्न होकरबोला जाओ आगे थोड़ी देर पर तुम्हें एक नारियल का पेड़ मिलेगा उस पर चाढकर जितना चाहे उतना पी लेना।

लालची मछुआरा पेड़ पर चढ़ गया। उसने कई नारियल तोड़कर नीचे फेंक दिए। पर उतरते हुए जब उसकी नजर नीचे गयी तो वह भयभीत हो गया। उसने ईश्वर से मन ही मन मन्नत माँगी कि वह सकुशल नीचे उतर गया तो उसे छह नारियल भेंट में देगा। 

थोड़ा और नीचे आने पर उसने भेंट के नारियलों की संख्या आधी कर दी। एक बार सकुशल जमीन पर पहुँचकर उसने सोचा कि ईश्वर के पास किस चीज की कमी है, वह उसके नारियलों का मोहताज नहीं है, इसलिए उसे एक भी नारियल भेंट देने की जरूरत नहीं है। 

मुसीबत के समय परोपकार करने की मनौती प्रायः इसी तरह अधूरी रह जाती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *