शिक्षाप्रद कहानियां- चलाक भेड़िया

शिक्षाप्रद कहानियां- चलाक भेड़िया

शिक्षाप्रद कहानियां- चलाक भेड़िया

एक चरवाहा था जो अपनी भेड़ बकरियों को लेकर पास के ही जंगल में उनको चराने जाता था। चरवाहा जब भी अपनी भेड़ बकरियां चराने जाता तो भेड़ बकरियों के पास एक  भेड़िया आकर खड़ा हो जाता था।  चरवाहा हमेशा यह  देखता था की भेड़िया उसके भेड़-बकरी के पास आकर हमेशा खड़ा रहता है लेकिन कुछ करता नहीं है। यह सब देखकर चरवाहा को विश्वास हो गया की भेड़िया उसके भेड़ बकरियों की रखवाली कर रहा है।

लगता है कि नए जमाने के भेड़िया जमाने के साथ बदल चुके है ऐसा लगता है कि भेड़िया मांसाहारी प्रवृत्ति छोड़ चुका है। एक दिन चरवाहा अपने भेड़ बकरियों को भेड़िया के रखवाली करते देख छोड़ दिया। खुश होकर वही जंगल में पेड़ के नीचे थोड़ी देर विश्राम करने चल गया। कुछ घंटे बाद उसकी जब आंखें खुली तो वह अचंभित रह गया। भेड़िया उसके सारे भेड़ बकरियों को खात्मा कर जंगल से जा चुका था।

शिक्षाउन धोखे बाजो से दूर रहो जो मित्र होने की दावा करते हैं।

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

thirteen − eleven =