पेट दर्द का घरेलू नुस्खे-Pet dard ka gharelu nuskhe

Pet dard ka gharelu nuskhe

पेट दर्द का घरेलू नुस्खे-Pet dard ka gharelu nuskhe

भूख न लगना, हल्का-हल्का दर्द रहना, पेट फूलना, पतले दस्त, चक्कर आना, खट्टी डकारें आना, पेट में वायु भरना, कब्ज होना आदि पेट दर्द के विशेष लक्षण हैं। 

पेट दर्द का घरेलू उपचार(pet dard ka gharelu upchar)

1 चम्मच अदरक का रस, 2 चम्मच नीबू का रस और थोड़ी सी चीनी मिलाकर पीने से हर तरह के पेट का दर्द दूर होता है। 

बासी भोजन, फ्रिज में रखा पदार्थ, मिर्च-मसालेदार वस्तुएं तथा देर से पचने वाली चीजें न खाएं। 

मैदा, बेसन और घी-तेल में तली चीजों को न खाएं। 

दो चम्मच मेथी के दाने फांककर ऊपर से पानी पीने से पेट दर्द ठीक हो जाता है। 

मूली के रस में नीबू का रस मिलाकर पीने से भोजन के बाद पेट में होने वाला दर्द या गैस दूर हो जाती है। 2 ग्राम अजमोद का चूर्ण, 1 ग्राम सेंधा नमक मिलाकर फांकने से पेट दर्द तुरंत ठीक हो जाता है। 

लौंग का पाउडर गरम पानी के साथ लेने से पेट दर्द ठीक हो जाता है। 

पेट दर्द का घरेलू उपाय(Pet dard ka gharelu upay)

पेट दर्द का घरेलू उपाय

अनार के दानों पर काली मिर्च, हींग तथा काला नमक का चूर्ण डालकर चूसने से पेट दर्द में लाभ होता है। 

दोपहर का भोजन करने के बाद 5 मिनट बाईं और 5 मिनट दाईं करवट लेटें। ऐसा करने से खाना जल्दी पच जाता है। रात को जल्दी सोएं और सुबह जल्दी उठे। 

मुनक्के के बीज निकाल दें और तवे पर हल्का भून लें। फिर इसमें सेंधा नमक मिलाकर खाएं। गैस विकार से उत्पन्न पेट दर्द दूर होता है। 

वायु(गैस) बनाने वाली चीजें-चने, चौलाई की सब्जी , मटर, भिंडी, गोभी, आलू आदि न खाएं। 

त्रिफला (हरड़, बहेड़ा, आंवला) के चूर्ण में मिश्री मिलाकर सेवन करने से पेट दर्द में आराम मिलता है। 

1 हरड़ का चूर्ण गरम पानी के साथ खाने से पेट दर्द से राहत मिलती है। 

कच्चा खीरा कसकर उसमें दही मिलाकर रायता बनाएं। रायते में 1-1 चुटकी पुदीना, हींग, जीरा, काली मिर्च तथा काला नमक बुरककर सेवन करने से पेट दर्द में आराम मिलता है। 

 आधे नीबू का रस, चुटकीभर काली मिर्च पाउडर,1 चम्मच अदरक का रस सबको मिलाकर पीने से पेट दर्द का निवारण होता है। 

काला नमक 3 ग्राम, हींग 2 ग्राम, काली मिर्च 5 ग्राम, अजवायन 10 ग्राम-इन सबको पीसकर आधा चम्मच चूर्ण गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से पेट दर्द में आराम मिलता है। 

पेट दर्द का घरेलू इलाज-pet dard ka gharelu ilaaj

तोरी (तोरई), परवल, टिंडा, | पालक, मेथी, मूली आदि खाएं। फलों में आम, अमरूद, पपीता, खरबूजा, केला आदि का सेवन करें। 

2-3 चम्मच ठंडे पानी में 2-3 बूंदें अमृतधारा की डालकर सुबह-शाम भोजन के बाद लेने से दस्त, मरोड़, पेचिश, अतिसार, हैजा, खट्टी डकार, तेज और अधिक प्यास, पेट फूलना, पेट दर्द, खाना खाते ही उल्टी या दस्त होना, मंदाग्नि, बादी, बदहजमी आदि रोग नष्ट होते हैं। 

अजवायन का पाउडर छः भाग और पिसा काला नमक एक भाग लेकर मिला लें। इसमें से 2 ग्राम की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ लेने से पेट दर्द में तुरंत आराम मिलता है। बच्चों को इसकी आधी मात्रा दें। इससे अफरा, वायुगोला और पेट की गैस भी मिटती है। 

अमृतधारा की 2-3 बूंदें बताशे, खांड़ या पानी में डालकर लेने से पेट दर्द दूर होता है। यदि एक बार लेने से दर्द ठीक न हो, तो आधा घंटे बाद फिर ऐसी ही एक खुराक लेने से अवश्य ही आराम मिल जाता है। 

तुलसी की पत्तियों का रस आधा चम्मच तथा 1 चम्मच अदरक का रस गुनगुना करके पीने से पेट दर्द में तुरंत लाभ होता है। 

मुलहठी को सौंफ के साथ चूसने से पेट दर्द में आराम मिलता है, साथ ही अपान वायु भी बाहर निकल जाती है। 

आधा चम्मच गन्ने के रस में सिरका मिलाकर पीने से पेट दर्द में आराम मिलता है।

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *