पैराशूट कैसे लोकप्रिय हुआ?-Parachute kaise lokpriya hua

पैराशूट कैसे लोकप्रिय हुआ?

पैराशूट कैसे लोकप्रिय हुआ? 

फिल्म, सैनिक अभ्यास के प्रदर्शन या फिर बाढ़ के समय आप लोगों ने पैराशूट का प्रयोग होते हुए अवश्य देखा होगा। पैराशूट वह छतरीनुमा चीज है, जिसके द्वारा ऊंचाई से धरातल पर आसानी से उतरा जा सकता है। पैराशूट वायुसेना का अभिन्न अंग बन चुका है। इसका उपयोग अन्य कई कार्यों को सुरक्षित तरह से करने के लिए भी किया जाता है। बाढ़ आने पर जरूरी खाद्य सामग्री आदि को इसकी सहायता से नीचे उतारा जाता है। हवाई जहाज में कोई गड़बड़ी आने पर सवारियों को पैराशूट द्व गरा ही नीचे उतारा जाता है।

पैराशूट कैसे लोकप्रिय हुआ?

loading...

13वीं शताब्दी में प्रसिद्ध मोनालिसा की पेन्टिंग बनाने वाले ‘लियोनार्डो द विंची’ ने छतरीनुमा चीज बनाकर उसमें लटके आदमी का चित्र बनाया था। संभवत: यही पैराशूट के आविष्कार का प्रेरणा स्रोत रहा। फ्रांस के ब्लैकवर्ड ने टोकरी में एक कुत्ते को बैठाकर पैराशूट द्वारा ऊंचाई से नीचे गिराया। उनका यह प्रयोग सफल रहा। इस सफलता से अभिभूत हो वह स्वयं गुब्बारे की सहायता से ऊपर पहुंच गए और वहां से पैराशूट लेकर नीचे कूद पड़े, परंतु यह परीक्षण सफल नहीं हुआ और उनका एक पैर टूट गया। 

इसमें शायद अभी कुछ कमी थी। राबर्ट काकिंग ने कुछ गुणात्मक सुधारों से इसे और बेहतर तो बना दिया पर ब्लैकवर्ड का हश्र देखकर कोई भी इस प्रयोग को आजमाने की हिम्मत न कर सका। 1912 में ‘कैप्टन’ नामक व्यक्ति आकाश में उड़ते विमान से पैराशूट बांधकर सकुशल नीचे उतर आया। निश्चय ही उसका 

यह साहस पैराशूट को लोकप्रिय बना गया। समय के साथ इसकी उपयोगिता सिद्ध होती गई। प्रथम महायुद्ध में सैनिकों को पैराशूट की मदद से जमीन पर सुरक्षित उतारा गया।

पैराशूट नायलॉन या रेशम के महीन धागों से तैयार एक मजबूत कपड़े का बना होता है। यह खुलने पर करीब 24 फीट का हो जाता है। इसके बीच में एक छोटा-सा छेद होता है, ताकि जो हवा उसमें भर रही है, वह धीरे-धीरे निकल जाए, अन्यथा पैराशूट के पलटने या फटने का खतरा बना रहता है। 

पैराशूट को एक बेल्ट की मदद से कूदने वाले की कमर में बांध दिया जाता है। जब ऊंचाई से कूदने वाला व्यक्ति थोड़ा नीचे आता है तो डोरी को झटका देकर पैराशूट खोल लेता है। फिर वह आसानी से हवा में तैरता हुआ सुरक्षित स्थान पर उतर सकता है। विमान से कूदते समय पैराशूट खोलना खतरनाक हो सकता है, क्योंकि इससे पैराशूट या उसकी डोरी विमान के पंख आदि में फंस सकती है। यहां इस बात की ओर ध्यान दिलाना आवश्यक है कि पैराशूट का प्रयोग सामान्य नहीं वरन असामान्य परिस्थितियों में ही किया जाता है। 

पैराशूट कैसे लोकप्रिय हुआ?

आप यह अवश्य ही सोच रहे होंगे कि पैराशूट द्वारा आदमी किस प्रकार जमीन पर आसानी से उतर जाता है। यह विज्ञान का बहुत ही सरल नियम है। यह तो आप जानते ही होंगे कि पृथ्वी में गुरुत्वाकर्षण बल होता है, जिसके कारण हर चीज नीचे की ओर गिरती है। पैराशूट इस बल के प्रति प्रतिरोध पैदा करता है। अतः उतरने वाले आदमी की गति कम हो जाती है और वह आसानी से नीचे आ जाता है। पैराशूट मुसीबत के समय काम आता है। यह खेल या मौजमस्ती की चीज नहीं है।

More from my site

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + six =