Mystery story in hindi-आखिर कैसे पता लगा? 

Mystery story in hindi-

Mystery story in hindi-आखिर कैसे पता लगा? 

अपने स्कूल-जीवन में हॉलीवुड और टेलीविजन के ख्यातिनाम कलाकार हार्वे लेम्बेक बास्केटबाल का नामी खिलाड़ी था। एक बार वह अपनी टीम के खिलाड़ियों के साथ एटलांटा नामक नगर में गया। एटलांटा रेलवे स्टेशन से टीम को होटल ले जाते समय टैक्सी-ड्राइवर ने उन्हें शहर की सबसे सुन्दर सड़क पोचट्री स्ट्रीट दिखायी। 

हार्वे लेम्बेक का एटलांटा आने का वह पहला मौका था। पर इस स्टीट को देखते ही उसे न जाने कैसे यह लगा कि वहां मिठाई की एक मशहूर दुकान है। उसने ड्राइवर से कहा, “अगले मोड़ से दाहिनी ओर मुड़ जाना। दो दुकान के बाद एक मिठाई की दुकान आएगी। वहां हम मिठाई खाकर चलेंगे।” 

उसकी बात सुनकर सब चकित रह गये कि हार्वे को उस दुकान का पता कैसे चल गया, जबकि पहले उसने वह स्ट्रीट कभी देखी ही न थी। लेकिन तब उनके आश्चर्य का ठिकाना न रहा, जब ठीक उसी स्थान पर मिठाई की एक दुकान के सामने टैक्सी जाकर रुक गयी। 

भविष्य सूचक सपने 

अपने विशाल और पुष्ट वक्षों के लिए सारी दुनिया में मशहूर स्वीडन में जन्मी अनीता एकबर्ग को प्रायः ‘हॉलीवुड की प्यारी गुड़िया’ के नाम से जाना जाता है। 

अनीता का कहना है कि उसे भविष्य सुचक सपने प्रायः दिखायी देते रहते हैं। एक भेंट में उसने ऐसे तीन सपनों का उल्लेख किया। 

पहला सपना अनीता को तब दिखाई दिया था, जब वह स्वीडन में अपने स्कूल में पढ़ती थी। एक दिन सुबह उठकर उसने अपनी मां से कहा, “देख लेना, हमारे पड़ोसी जल्दी ही घर छोड़कर चले जाएंगे। रात मैंने सपने में देखा कि हमारे पड़ोसी की मृत्यु हो गयी है और उसकी पत्नी अपने सामान और बच्चों के साथ सफेद रंग की एक ट्रक में बैठकर कहीं जा रही है। ट्रक पर नीले रंग के अक्षरों में कुछ लिखा था।” 

मां ने अनीता की बात पर कोई ध्यान नहीं दिया। 

मगर एक सप्ताह बाद उसे अनीता के सपने की याद आयी, जब सचमुच उसके पड़ोसी की मृत्यु हो गयी। फिर एक दिन सबने देखा, जिस ट्रक में पड़ोसिन अपने सामान और बच्चों के साथ वहां से गयी, उसका रंग सफेद था और उस पर नीले रंग के अक्षरों में कुछ लिखा था। 

कुछ वर्ष बाद अनीता ने एक और सपना देखा। यह भी उसके पडोसी से ही सम्बन्धित था। सपना देखने के बाद वह पड़ोसी से मिली और बोली. “आज रात आप अपनी कार गैरेज में ही बंद रखिएगा।’ 

“क्यों?” पड़ोसी ने हैरत से पूछा। 

“मैंने सपना देखा है कि आज रात कुछ लोग कार की खिड़की तोड़कर उसे चुराने की कोशिश करेंगे।” 

पड़ोसी ने हंसकर अनीता की बात टाल दी। उसने कार गैरेज में नहीं रखी। 

अगले दिन उसे पता चला कि रात सचमुच कुछ लोगों ने उसकी कार को चुराने की कोशिश की थी। वे कार ले जाने में तो सफल नहीं हुए थे, पर उसकी खिड़कियां तोड़ डाली थीं। 

तीसरा भविष्य सूचक सपना अनीता को उस समय दिखाई दिया था, जब वह एक सफल और लोकप्रिय अभिनेत्री बन चुकी थी। 

एक दिन सेट पर आते ही उसने एक सहायक-निर्देशक से सुबह के समाचार पत्र की एक प्रति लाने को कहा। समाचार पत्र आ गया, तो शुरू से अन्त तक सब शीर्षकों को देखने के बाद उसने राहत की सास लेकर कहा, “शुक्र है वह समाचार प्रकाशित नहीं हुआ।” 

“कौन-सा समाचार?” सहायक-निर्देशक ने पूछा। 

“कल रात मैंने सपने में टायरन पावर (हॉलीवुड के प्रख्यात अभिनेता) को बीमार देखा था। डॉक्टर उससे कह रहा था कि यदि वह रात-रात भर चलने वाली पार्टियों में जाना बंद नहीं करेगा, तो अधिक समय तक जीवित नहीं रह पाएगा। अगर टायरन पावर सचमुच बीमार होता, तो उसके बारे में समाचार पत्रों में अवश्य प्रकाशित होता।”

“और अखबारों तक पहुंचने से पहले ही उसकी बीमारी की खबर हम लोगों को मिल गयी होती।” सहायक-निर्देशक ने कहा। 

लेकिन तीसरे दिन स्टूडियो में सबकी जबान पर टायरन पावर का ही जिक्र था। समाचार पत्रों में भी खबर छपी थी। अनीता ने सपने में जो देखा था, वह हकीकत बन चुका था। किसी आकस्मिक बीमारी से टायरन पावर सहसा चल बसा था। 

Mystery real story in hindi- डोवर का शैतान 

उसको लोग आज ‘डोवर का शैतान’ के नाम से याद करते हैं, मगर वास्तव में वह भयानक विचित्र प्राणी कौन था, यह अभी भी एक अनसुलझा रहस्य बना हुआ है। अधिकतर लोगों की धारणा है कि वह किसी दूसरे ग्रह का प्राणी था, जो धरती पर उतर आया था। 

Mystery story in hindi

डोवर बोस्टन का समृद्ध और खुशहाल इलाका माना जाता है। इस रहस्यमय प्राणी को पहली बार इसी इलाके में 21 अप्रैल, 1962 को रात साढ़े दस बजे के करीब देखा गया था। जिसने उसको पहली बार देखा था, वह सत्रह साल का लड़का बिल बार्लेट था। बार्लेट अपने दो मित्रों के साथ एक कार से कहीं जा रहा था। कार बार्लेट ही चला रहा था। उसके दोनों मित्र पिछली सीट पर बैठे थे। जब बिल बार्लेट फार्म स्ट्रीट से गुजर रहा था, तब उसने हेडलाइटस की रोशनी में एक ऐसे अजीबोगरीब प्राणी को देखा, जो हमारी दुनिया का बाशिंटा नहीं लगता था। 

उस अजीबोगरीब प्राणी को देखकर बिल बार्लेट स्तब्ध रह गया। उसने देखा कि उस विचित्र प्राणी की आंखें तो हैं, किन्तु पलकें नहीं हैं। उसके न कान थे और न नाक । उसके सिर का आकार उसके शेष शरीर के बराबर ही था, जो कि बहुत पतला था। उसके शरीर पर बाल नहीं थे। उसका कद चार फुट से ज्यादा नहीं था। 

उक्त घटना के कुछ ही समय बाद डोवर में रहने वाले जान बार्डर नामक एक अन्य व्यक्ति ने भी वही शैतान जैसा प्राणी देखा। जान अपनी गर्लफ्रेंड को उसके घर छोड़कर कार से आ रहा था। मिलर हार्ड रोड पर उसकी कार के सामने वह विचित्र प्राणी आ गया। जान ने कार रोक दी। उस प्राणी को देखकर उसके हाथ-पांव सुन्न पड़ गये।

जान के अनुसार उस विचित्र प्राणी के सिर की आकृति गोल तरबूज जैसी थी। उसके चेहरे पर कान, नाक और मुख जैसी कोई चीज नहीं थी। 

उसकी चमकदार आंखें तो थीं, पर पलकें नहीं थीं। उसको देखकर मन में अपने आप आतंक पैदा हो जाता था। जान चिल्ला उठा। वह विचित्र प्राणी अदृश्य हो गया। 

जान के बाद इस विचित्र प्राणी को देखने वाला व्यक्ति बिल बार्लेट का दोस्त बिल पैन्टर था। सूचना मिलने पर डोवर की पुलिस ने उसे ढूंढ़ा, पर वह नहीं मिला। इस रहस्यमय प्राणी के बारे में अधिकतर लोगों की राय थी कि वह शैतान सरीखा विचित्र प्राणी किसी अन्य ग्रह का निवासी था। वह सम्भवतः किसी उड़न तश्तरी में बैठकर इस धरती पर आया था। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

9 − two =