माइक्रोफोन कैसे काम करता है-Microphone kaise kaam karta hai

माइक्रोफोन कैसे काम करता है

माइक्रोफोन कैसे काम करता है-Microphone kaise kaam karta hai

माइक्रोफोन कैसे काम करता है-  माइक्रोफोन एक ऐसा यंत्र है, जो ध्वनि तरंगों को विद्युत तरंगों में बदल देता है। ये संदेश दूर स्थानों तक संचारित किए जा सकते हैं और वहां इन्हें फिर से ध्वनि तरंगों में बदल दिया जाता है। दूर संचार के साधनों में यह एक आवश्यक उपकरण है। रेडियो और टेलीविजन केन्द्रों पर  संदेश संचारण व्यवस्थाओं में इसका उपयोग व्यापक रूप से किया जाता है। 

माइक्रोफोन कैसे काम करता है

 माइक्रोफोन को दो वर्गों में बांटा जा सकता है। दाब वाले माइक्रोफोन में धातु की एक पतली चद्दर होती है, जिसे ‘डायफ्रॉम’ कहते हैं। यह डायफ्रॉम विद्युत परिपथ की एक हिस्सा होती है। जब ध्वनि तरंगें डायफ्रॉम से टकराती हैं, तो यह कंपन करने लगता है। इसके कंपन करने से संदेश के अनुरूप विद्युत परिपथ में विद्युत धारा उत्पन्न हो जाती है।

उसी श्रेणी में आने वाले माइक्रोफोन भी कई प्रकार के होते हैं। इनमें कन्डेंसर माइक्रोफोन और क्रिस्टल माइक्रोफोन भी शामिल हैं। दूसरे किस्म के माइक्रोफोन में, जो बेग श्रेणी के होते हैं, एल्युमीनियम की बहुत पतली पत्ती होती है, जो चुंबकीय क्षेत्र के बीच रख दी जाती है। संदेश की ध्वनि तरंगों से यह पत्ती कंपन करती है, जिससे चुंबकीय क्षेत्र में परिवर्तन होता है। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

13 − seven =