मजेदार रोचक कहानियां-पत्थर का सूप 

मजेदार रोचक कहानियां-पत्थर का सूप 

मजेदार रोचक कहानियां-पत्थर का सूप 

मजेदार रोचक कहानियां – मिकालीन को भ्रमण करना बहुत पसंद था। उसने अपना सारा जीवन इधर-उधर घूमते-फिरते और विभिन्न लोगों के घरों में रहते हुए बिताया था। वह उन्हें रोचक कहानियां सुनाता था, जिससे लोग बहुत खुश होते थे। वे अपने घर में उसका स्वागत करते और उसे भोजन देते। कुछ लोग उसे पैसे भी दे देते थे। इस प्रकार वह हंसी-खुशी अपना जीवन बिता रहा था। 

एक बार मिकालीन किसी शहर में एक कंजूस दंपति के घर गया। सब लोग उन्हें मिनीज कहते थे। मिकालीन ने रास्ते में सड़क पर पड़ा एक पत्थर उठाकर अपने रूमाल में बांध लिया था। 

जब मिकालीन ने मिनीज के घर का दरवाजा खटखटाया, तो उसे कोई जवाब नहीं मिला। लेकिन वह जानता था कि वे लोग घर में हैं, क्योंकि चिमनी से धुआं निकल रहा था। कई बार खटखटाने के बाद थोड़ा-सा दरवाजा खुला और एक महिला चिल्लाती हुई बोली, “जाओ, हमारे पास तुम्हारे लिए कुछ नहीं है। यहां से चले जाओ और फिर दोबारा मत आना।” । 

मिकालीन ने कहा, “मैं बस थोड़ा-सा पानी चाहता हूं। मेरे पास एक जादुई पत्थर है। जब मैं उसे पानी में उबालता हूं, तो बहुत स्वादिष्ट सूप तैयार हो जाता है।” 

मजेदार रोचक कहानियां

यह सुनकर उस महिला ने पूरा दरवाजा खोल दिया। उसका पति भी उसके साथ ही खड़ा था, वह बोला, “आओ, घर के अंदर आ जाओ 

और हमें अपना जादुई पत्थर दिखाओ। हम देखें कि तुम्हारा जादुई पत्थर कैसे काम करता है और स्वादिष्ट सूप तैयार हो जाता है।” 

मिकालीन उनके घर में चला गया। फिर उसने अपनी जेब से वह पत्थर निकालकर उन्हें दिखाया। मिकालीन ने उन्हें एक पतीले में पानी उबालने को कहा, ताकि वह स्वादिष्ट सूप बना सके। 

फिर मिकालीन उबलते हुए पानी में पत्थर डालकर बोला, “यह एक जादुई पत्थर है। शीघ्र ही स्वादिष्ट सूप बनकर तैयार हो जाएगा। यह सूप पीकर आप लोगों को बहुत मजा आएगा।” 

थोड़ी देर बाद मिकालीन ने उस पानी को चम्मच से चखकर कहा, “इसमें कुछ नमक और काली मिर्च डालना होगा।” मिसेज मिनीज ने रसोईघर से नमक और काली मिर्च लाकर उबलते हुए पानी में डाल दिया। कुछ देर बाद मिकालीन ने सूप को फिर चखकर देखा और कहा, “अगर इसमें थोड़ा-सा मांस डाल दिया जाए, तो सूप बहुत अच्छा बनेगा।” मिसेज मिनीज ने मांस के कुछ टुकड़े लाकर पतीले में डाल दिए। मांस के टुकड़े भी पानी में उबलने लगे। सभी लोग उसे देख रहे थे। 

थोड़ी देर बाद मिकालीन ने उबलते पानी को पुनः चखकर कहा, “इसमें आलू, प्याज और गाजर डालने की जरूरत है।” मिसेज मिनीज ने वह सब सामान भी लाकर मिकालीन को दे दिया, जिन्हें उसने सूप में डाल दिया। अब सब कुछ पतीले में उबल रहा था और मिनीज दंपति बड़ी बेसब्री से स्वादिष्ट सूप बनने का इंतजार कर रहे थे। 

कुछ पलों बाद मिकालीन ने सूप का रंग देखकर कहा, “अब स्वादिष्ट सूप तैयार हो गया है।” फिर उसने मिसेज मिनीज से तीन कटोरे मंगवाए और तीनों कटोरों में बारी-बारी से सूप डाला। इसके बाद वे तीनों मेज पर बैठकर बड़े चाव से उस सूप का आनंद लेने लगे। 

मजेदार रोचक कहानियां-पत्थर का सूप 

मिसेज मिनीज ने अपने पति के कान में कहा, “हम इस आदमी से सूप बनाने का जादुई पत्थर खरीद लेते हैं। इस तरह हम लोग रोजाना यह स्वादिष्ट सूप बिना किसी खर्च के बनाकर पी सकेंगे।” मिस्टर मिनीज को पत्नी की बात अच्छी लगी। उन्होंने एक शिलिंग में वह पत्थर खरीद लिया। 

जब मिकालीन मिनीज दंपति के घर से निकला, तो उसके पास सबको सुनाने के लिए एक नई कहानी थी। यह एक ऐसी मजेदार कहानी थी, जिसे उन्होंने इससे पहले कभी नहीं सुनी होगी।

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

ten − 3 =