मजेदार रोचक कहानियां-निर्दयी जादूगर

मजेदार रोचक कहानियां-निर्दयी जादूगर

मजेदार रोचक कहानियां-निर्दयी जादूगर

एक व्यापारी की दाढ़ी बहुत लंबी थी। सभी लोग उसे ‘लंबी दाढ़ी वाला’ कहकर पुकारते थे। उसकी पत्नी कहीं खो गई थी और अब वह अपने पड़ोसी की बेटी सारा से विवाह करना चाहता था। फिर कुछ समय बाद उसका विवाह बड़ी धूमधाम से सारा के साथ हो गया। 

विवाह के बाद लंबी दाढ़ी वाले व्यापारी को कुछ समय के लिए दूसरे प्रदेश में जाना पड़ा। उसने अपनी नई पत्नी से कहा, “तुम इस विशाल घर की मालकिन हो। इसकी चाबियां अपने पास रखो। तुम अपनी सहेलियों को घर में बुला सकती हो, लेकिन छोटी चाबी से कोने वाला कमरा मत खोलना। उसमें जाना मना है। अगर तुमने मेरी बात नहीं मानी, तो तुम्हें कठोर सजा मिलेगी।” 

सारा अपने पति की डरावनी आंखें देखकर सहम गई। उसने वादा किया कि वह उस कमरे को नहीं खोलेगी। जब दाढ़ी वाला चला गया, तो उसने अपनी सहेलियों को घर बुलाया। उन्हें अपने महंगे कपड़े और गहने दिखाए। 

सभी सहेलियों ने सारा का महल जैसा घर देखा। तभी एक सहेली ने उससे पूछा कि कोने वाले कमरे में क्या है? तब सारा ने बताया कि उसे उस कमरे को खोलने की इजाजत नहीं है। 

यह सुनकर सारा की एक सहेली बोली, “कमाल है यार! घर की मालकिन होने के बावजूद तुम्हें उस कमरे में जाने की इजाजत नहीं है?”

अगली सुबह सारा सोचने लगी कि उसके पति ने कोने वाले उस कमरे में ऐसा क्या छिपा रखा है, जिसे वह नहीं दिखाना चाहता। फिर उसकी जिज्ञासा इतनी बढ़ गई कि उसने उस कमरे को खोलने का निश्चय कर लिया। इसके बाद वह कोने वाले कमरे की तरफ गई और छोटी चाबी द्वारा उस कमरे का दरवाजा खोल दिया। 

मजेदार रोचक कहानियां

कमरे में कदम रखते ही सारा हैरान रह गई। वहां कांच का एक बड़ा-सा संदूक रखा था, जिसमें बहुत से मेढक भरे हुए थे। उनमें से एक मेढक ने उसे पुकारा और कहा, “हम सभी लंबी दाढ़ी वाले व्यापारी की पत्नियां हैं। हमने उसकी बात नहीं मानी, तो उसने सजा देते हुए हमें मेढक बना दिया। वह एक दुष्ट जादूगर है। अब वह तुम्हें भी मेढक बना देगा।” 

सारा डर के मारे कांप उठी और अपने कमरे की ओर भागी। तभी उसने देखा कि कमरे की छोटी चाबी का रंग बदल गया है। उसने उसे धोकर साफ करना चाहा, लेकिन रंग नहीं बदला, क्योंकि वह जादुई चाबी थी। 

 अगली सुबह सारा का पति वापस आ गया और अपनी चाबियां मांगी। सारा ने उसे चाबियों का गुच्छा दे दिया। उसके पति ने देखा कि छोटी चाबी का रंग बदल गया था। उसने कहा, “मेरे मना करने के बावजूद तुमने मेरी बात नहीं मानी। अब तुम्हारा भी वही हाल होगा, जो मेरी पूर्व पत्नियों का हुआ है। अब तुम्हें भी वहीं जाना होगा।” । 

“तुम कितने निर्दयी हो। तुम दूसरों को बहुत कष्ट देते हो?” सारा ने गुस्से से कांपते हुए कहा। 

“अब तुम्हारा भी वही हाल होगा।” दुष्ट जादूगर बोला। 

मजेदार रोचक कहानियां-निर्दयी जादूगर

सारा मदद के लिए चिल्लाती हुई बाहर भागी। उसका पति अपनी जादुई छड़ी लेकर उसके पीछे दौड़ा। सारा के भाइयों ने उसकी आवाज सुन ली थी। जब सारा का पति उस पर जादू करने वाला था, तभी उसके भाई वहां पहुंच गए। उन्होंने जादूगर को पीट-पीटकर मार डाला। 

सारा ने अपने पति की जादुई छड़ी की मदद से मेढक बनी सभी औरतों को भी आजाद कर दिया। इसके बाद उन्होंने अपने पति की धन-दौलत आपस में बांट ली और सभी आराम से रहने लगीं।