बुढ़ापा कैसे दूर करें | जानिए बुढ़ापे दूर करने के उपाय

बुढ़ापा कैसे दूर करें

बुढ़ापा कैसे दूर करें| जानिए बुढ़ापे दूर करने के उपाय 

बीमारी-बुढ़ापा न आएं पास, यदि इनसे दोस्ती करें आप –“एंटी ऑक्सीडेंट” और “एंटी एजिंग” जैसे शब्द आजकल आप खब सुन रहे होंगे। ये बीमारियों और बढ़ापे के विरोधी तत्व हैं। हमें भोजन में इनको शामिल करना चाहिए। हमारे शरीर में “ऑक्सीडेशन” नाम की प्रक्रिया होती है जो कोशिकाओं को क्षय यानी शरीर को बुढ़ापे की ओर ले जाती है। जो भी तत्त्व इस ऑक्सीडेशन की गति को धीमा करते हैं वे “एंटीऑक्सीडेंट” या “एंटी एजिंग” तत्त्व कहलाते हैं। कुल मिलाकर ये तत्त्व शरीर को स्वस्थ रखते हैं और बुढ़ापे को थोड़ा इंतजार करने के लिए मजबूर करते हैं। प्रमुख एंटी एजिंग तत्त्व इस प्रकार हैं: 

विटामिन ए : दूध, मक्खन, अंडे, गाजर, चुकंदर, टमाटर, हरी पत्ती वाली सब्जियां, मछली के तेल, केला, आम, पपीता में।

विटामिन सी : खट्टे फल, आंवला, टमाटर, संघाड़ा, शलजम, हरी पत्ती वाली सब्जी में। 

ओमेगा 3 फैट्स : अलसी, अखरोट, कद्दू के बीच, मूंगफली, सोया और सरसों के तेल में।

पॉलीफिनोल : फलों में।

एंथोसाइनिंस : फलों में।

लाइकोपीन : टमाटर, अंगूर, गाजर, अमरूद, लाल मिर्च, खरबूजा, तरबूज में।

आइसोफ्लेवोंस : सोया, टोफू में।

इपिकेट्चन : कोको में। 

लिगनेन : अलसी में। 

अन्य : अदरक, इलायची, लहसुन, प्याज, अंकुरित अनाज, काली मिर्च, गोभी, हल्दी, लौंग, चाय, ज्वार, मक्का में। 

 ये तत्त्व हमारी त्वचा की कोशिकाओं को प्रदूषण, धूल, फ्री रेडिकल्स से बचाते हैं। ये त्वचा को मुलायम बनाने के साथ ही धूप से होने वाले नुकसान को कम करते हैं। इनमें से कई त्वचा को कसाव देते हैं और चमक पैदा करते हैं। कुछ तत्त्व त्वचा के कैंसर को रोकते हैं तो कुछ त्वचा के टेक्स्चर को दुरुस्त करते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + five =