Hindi motivational story-सबसे बड़ी मदद

Hindi motivational story-सबसे बड़ी मदद

सबसे बड़ी मदद

Hindi motivational story एक बार एक धनी व्यक्ति  के मेज पर रुपया की थैली  रखते हुए बेंजामिन फ्रेंकलिन ने कहा। अपने मेरी बुरे समय में जो मदद की मैं उसके लिए बहुत आभारी हूं लेकिन मैं अब इतना सक्षम हो गया हूं कि मैं आपको अपना कर्ज वापस कर सकता हूं। वही कर्ज मै  आपको चुकाने आया हूं।

बेंजामिन फ्रेंकलिन की बात सुनकर वह वह धनी व्यक्ति उसे घूरते  हुए  कहा छमा कीजिए मैं आपको नहीं पहचानता हूं। न मुझे याद है कि मैंने अपनी मदद की थी।

तभी बेंजामिन फ्रेंकलिन बोला ने बोला। मैं उस समय प्रेष में अखबार छापने वाला काम किया करता था। एक दिन अचानक मेरी तबियत थोड़ी ज्यादा खराब हो गई उसी समय मैंने आप से 20  डॉलर का मदद लिया था।

यह बात सुनकर उसने अपने बीते हुए समय को याद करने की कोशिश की। तभी उसे याद आया कि एक बालक प्रेष में काम करता था। उसके बीमार होने पर मैंने उसकी मदद की थी। यह बात याद आने पर   धनी व्यक्ति ने कहा हां मुझे याद आ गया। दोस्त यह मनुष्य का सहज धर्म है किसी भी बुरे स्थिति में दूसरे मनुष्य की मदद तुम जहां तक कर सकते हो करो ताकि समाज में मनुष्यों के बीच एकता और  प्यार का नाता बना रहे।

इसको तुम अपने पास ही रखो । किसी जरुरतमंद  मनुष्य को तुम इसी रुपया की थैली से उसकी मदद करो।इस बात से बेंजामिन बहुत प्रभावित हुआ और वह खुश हुआ और रुपए के थैले को अपने साथ ले गया।

कुछ दिन बाद उसने इसी फैले के द्वारा किसी दूसरे जरुरतमंद व्यक्ति को इन रूपए के द्वारा मदद की। वह युवक भी कुछ दिनों बाद बेंजामिन फ्रेंकलिन को अपनी मदद की गई राशि लौटाने आया। तभी बेंजामिन फ्रेंकलिन ने बोला हे दोस्त तुम अपने जीवन में सफल और सक्षम व्यक्ति बन जाने के बाद यही रुपया किसी और जरुरतमंद व्यक्तियों को मदद करना। मैं समझ जाऊंगा कि मुझे मेरे पैसे वापस मिल गए।

वह युवक बोला मैं ऐसा ही करूंगा।

बेंजामिन उस वक्त युवक के कंधे पर हाथ रखते हुए बोला किसी जरुरतमंद की वक्त पर मदद करना ही दुनिया में सबसे बड़ी इंसानियत है।

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *