गंगा नदी पवित्र क्यों होती हैं

गंगा नदी पवित्र क्यों होती हैं

सामान्य ज्ञान-गंगा नदी पवित्र क्यों होती हैं

गंगा भारत की सबसे ज्यादा प्रसिद्ध तथा पवित्र नदी है। यह हिमालय से निकल कर बंगाल की खाड़ी में जाकर समुद्र में विलीन हो जाती है। इसकी लंबाई 2506 किमी है। प्राचीन काल से ही गंगा हिन्दुओं की सबसे पवित्र नदी रही है। इसके किनारे बहुत से तीर्थ स्थान हैं, जिनमें हरिद्वार, बनारस तथा इलाहाबाद आदि हैं। हरिद्वार में गंगा किनारे प्रत्येक 12 वर्ष बाद कुंभ पर्व का आयोजन होता है। 

गंगा नदी पवित्र क्यों होती हैं

गंगा को पवित्र मानने का कारण इसका पानी बोतलों में रखने पर बहुत दिनों तक खराब नहीं होना भी है। इसके पानी में कुछ ऐसे खनिज पदार्थ मिले हैं, जो पानी को बहुत दिनों तक खराब नहीं होने देते हैं।

गंगा नदी पवित्र क्यों होती हैं

लाखों लोग हर वर्ष गंगा में स्नान करते हैं। लोगों का मानना है कि गंगा स्नान करने से समस्त पाप धुल जाते हैं तथा आत्मा पवित्र हो जाती है। लोग इसे गंगा या गंगा माता के नाम से पुकारते हैं। मृतकों की राख इस नदी में प्रवाहित की जाती है, ताकि उनकी आत्मा को शांति प्राप्त हो सके। हिंदू धर्म की मान्यता है कि जीवन के अंतिम क्षणों में व्यक्ति के मुंह में यदि गंगाजल डाला जाए तो उसे सद्गति प्राप्त होती है। 

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

3 × 2 =