मजेदार रोचक तथ्य-गलतियां से जुड़ी रोचक जानकारी

मजेदार रोचक तथ्य-गलतियां से जुड़ी रोचक जानकारी

मजेदार रोचक तथ्य-गलतियां से जुड़ी रोचक जानकारी

1.अमरीका के एक सरकारी विभाग के टाइपिस्ट को कुछ इस प्रकार टाइप करना था-“सभी विदेशी फल-पौधे कर से मुक्त हैं।” परन्तु टाइपिस्ट ने गलती से यह पंक्ति इस प्रकार टाइप कर दी- “सभी विदेशी फल, पौधे कर से मुक्त हैं।” इस गलती का नतीजा यह हुआ कि जहां सिर्फ फल देने वाले विदेशी पौधे कर से मुक्त होने चाहिए थे, वहां सारे विदेशी फल और सारे विदेशी पौधे कर से मुक्त हो गए। जब तक गलती का पता चलता, अमरीका को दो मिलियन डॉलर का आर्थिक नुकसान हो चुका था।  (बुक ऑफ लिस्ट) 

गलतियां से जुड़ी रोचक जानकारी

2.केप कानरेवाल से 28 जुलाई, 1962 को शुक्र ग्रह की तरफ जाने के लिए रॉकेट मेराइनर-प्रथम तैयार खड़ा था। गणना के अनुसार 13 मिनट की उड़ान के पश्चात् राकेट की गति 25,820 मील प्रति घंटा होनी थी,44 मिनट बाद 9,800 सोलर सैल खुलने थे, 80 मिनट बाद कम्प्यूटर को सही दिशा निर्देश देने थे तथा सौ दिन बाद शुक्र ग्रह के चित्र खींचे जाने थे। उल्टी गिनती चाल हई, रॉकेट चार मिनट अंतरिक्ष में उड़ा और सीधा ऊपर जाने की अपेक्षा अटलांटिक समद में जा गिरा। जांच से पता चला कि कम्प्यूटर में जो जोड़-घटाने के निर्देश फीड किए गए थे, उनमें से घटाने अथवा ऋण () का निशान फीड होने से रह गया था। इस जरा-सी गलती से समूची गणना गड़बड़ा गई तथा रॉकेट तो नष्ट हुआ ही, साथ ही 18.5 मिलियन डॉलर का नुकसान भी।  (बुक ऑफ लिस्ट) 

3.फ्रेंकफर्ट, जर्मनी में एक भवन बनाते समय कारीगरों ने निकासी के एकमात्र दरवाजे को भी कंक्रीट से बंद कर दिया और इस प्रकार खुद ही इस भवन में बंद हो गए। बाद में इन्हें रोशनदान द्वारा बाहर निकाला गया। (क्लीवेउन बम्पर बुक) 

4.अमरीका के शिकागो शहर और इलिनाइँज शहर को आपस में जोड़ने के लिए एक भूमिगत सुरंग बनाने का निर्णय लिया गया। प्रशासनिक कारणों से दोनों स्थानों पर अलग-अलग ठेकेदारों को यह काम सौंप दिया गया। एक ने शिकागो से सुरंग बनानी शुरू की तथा दूसरे ने इलिनाइज से । पता नहीं निर्माण के दौरान इंजीनियरों से क्या गलती हुई कि जब ये सुरंगें आपस में एक दूसरे से मिलने के स्थान पर पहुंची तब यह पता लगा कि एक सुरंग दूसरी से 23 सेंटीमीटर नीची है और दूसरी से सीधी मिलने की अपेक्षा 20 सेंटीमीटर दूर भी है। इस गलती के कारण वहां के प्रशासन को 3,09,000 डॉलर का नुकसान हुआ। (बुक ऑफ फैक्ट्स ) 

5.सन् 1840 में पश्चिम आयरलैंड स्थित कोरिब व मस्क नामक दो झीलों के बीच एक जलमार्ग बनाने की सोची गई । पहले तो इसके पेंदे में छिद्रिल चूने का पत्थर बिछा दिया गया और जब पानी छोड़ा गया तो सारा का सारा पानी धरती ही सोख गई। इसको ठीक करके जब काम करीब-करीब खत्म होने लगा तो पता चला कि दोनों झीलों की समुद्र से ऊंचाई अलग-अलग थी तथा वे पानी को नीचे से ऊपर ले जाने की कोशिश कर रहे थे। नतीजा यह हुआ कि उस जलमार्ग में कभी भी पानी नहीं छोड़ा जा सका। (बुक ऑफ फैक्ट्स) 

6.सन् 1985 में रूसी नागरिकों को जब कछ नये जते प्राप्त हुए, वे इन्हें देखकर हँसे बिना नहीं का इन सब जूतों पर गलती से एडी पीछे की जगह पंजों वाले स्थान पर जुड़ी थी। (अमेजिंग ब्लण्डर्सी )

7.लैरी वाल्टर्स नामक व्यक्ति ने अपनी आरामकुर्सी पर गैस भरे 42 गुब्बारे बांधे और इनकी सहायता से अपनी कुर्सी पर बैठा-बैठा हवा में तीन मील ऊपर तक उड़ चला। इस दौरान वहां से गुजरने वाले अनेक वायुयानों के पायलट आरामकुर्सी पर मजे से लेटे व्यक्ति को उड़ते देख भौंचक्के थे। यह व्यक्ति बाद में अपने जेबी चाकू से इन गुब्बारों को क्रमशः फोड़ता हुआ वापस धरती पर सकुशल लौट आया, परन्तु नीचे आते ही इंतजार करती पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। उसकी गलती यह थी कि उसने हवा में उड़ने के लिए लाइसेंस नहीं लिया था। (अमेजिंग ब्लण्डर्स )

8.पीटर रालेण्ड्स नामक व्यक्ति सन् 1979 की एक सर्द सुबह जब अपनी कार का दरवाजा खोलने लगा, तब उसने पाया कि इसके ताले वाला छेद बर्फ से बंद हो चुका था। अतः इसने इस बर्फ को पिघलाने के लिए इसपर मुंह रखकर अंदर फूंक मारना शुरू किया। परन्तु जब उसने दुबारा मुंह हटाना चाहा, तो वह इसे हिला भी नहीं सका, क्योंकि उसके होंठ भी बर्फ में चिपककर जाम हो गए थे। वह लगभग बीस मिनट तक इसी प्रकार कार से अपने होंठों को चिपकाए मजबूरन खड़ा रहा। (अमेजिंग ब्लण्डर्स )

9.31 दिसंबर, 1986 को रात्रि को लाखों जर्मन निवासी नववर्ष की पूर्व संध्या के अवसर पर राष्ट्रपति का संदेश सुनने के लिए अपने-अपने टेलीविजन के आगे एकत्र थे। जब राष्ट्रपति हर वॉन विजसेकर का भाषण शुरू हुआ, तब कई लोगों को वह भाषण परिचित सा लगा। यह वही भाषण था, जो राष्ट्रपति महोदय ने गत नववर्ष की पूर्व संध्या पर दिया था। शाम को वहां के स्टेट चैनल -दो पर दर्शकों से माफी मांगी गई। हुआ यह था कि गलती से पिछले वर्ष की कैसेट दुबारा प्रसारित कर दी गई थी। (अमेजिंग ब्लण्डस )

10.इंग्लैंड में चेस्टरफील्ड स्टाकविद नहर में सन 1978 में सफाई अभियान जारी था। कर्मचारियों की अनभिज्ञता से इस नहर में बना दो सौ वर्ष पुराना एक ऐसा धात्वीय प्लग हट गया, जिस पर इस नहर का अस्तित्व कायम था। इस प्लग के हटते ही नहर का सारा पानी अचानक इस छेद से होकर धरती में समा गया और वहां नाव चलाते लोग अचानक गायब होते पानी को देखकर आश्चर्यचकित रह गए। (अमेजिंग ब्लण्डर्स)

11.सितंबर, 1978 में अमरीका की एक परमाण्विक पनडुब्बी के टारपीडो छोड़ने वाले यंत्र में मात्र तीस सैण्ट कीमत वाला पेन्ट खुलने का औजार असावधानीवश जा गिरा। फलस्वरूप ‘स्वोर्डफिश’ नामक इस पनडुब्बी में टारपीडो चलाने वाला पिस्टन सिलिण्डर जाम हो गया। इसे मजबूरन गोदी में लाना पड़ा और इस खराबी को सुधारने में 171,000 डॉलर व्यर्थ ही खर्च हो गए। (बुक ऑफ लिस्ट) 

12.हैरोगेट, इंग्लैंड में सन् 1968 में लगी एक प्रदर्शनी का बड़ा हिस्सा अचानक दुर्घटनाग्रस्त होकर गिर गया। इस प्रदर्शनी के आयोजनकर्ता थे-रॉयल सोसाइटी फॉर दी प्रिवेन्शन ऑफ एक्सीडेन्ट्स। (अमेजिंग ब्लण्डर्स) 

13.संयुक्त राष्ट्र दिवस की चालीसवीं वर्षगांठ पर सन् 1985 में माउण्ट-एवरेस्ट पर एक पर्वतारोही दल भेजकर वहां संयुक्त राष्ट्रसंघ का झण्डारोहण कराने की योजना बनाई गई। परन्तु मौसम की खराबी से यह पर्वतारोही दल चोटी से 800 फुट नीचे तक ही पहुंच सका। अतः दल ने वहीं झण्डा फहराकर फोटो ले ली। फोटो देखने पर दल की गलती का पता चला। झण्डा गलती से उल्टा फहरा दिया गया था। (अमेजिंग ब्लण्डर्स )

14.बैलीमाक्रा काउण्टी, आयरलैंड में मार्च, 1979 में एक लैटर-बॉक्स जमीन से 9 फुट ऊपर टंगा रहा। यह गलती खंभों के बदलने के दौरान हुई थी। (अमेजिंग ब्लण्डर्स ) 

 15.साउथशील्ड, इंग्लैंड में एक म्यूजियम में एक रोमन सिक्का प्रदर्शित था, जो सन् 135 से 138 के मध्य काल का बताया गया था। परन्तु एक दिन म्यूजियम देखने आई बालिका फियोना गार्डन इस सिक्के को देखकर संतुष्ट नहीं हुई और उसने बड़े विश्वासपूर्वक कहा कि यह कोई सिक्का नहीं, मात्र एक प्लास्टिक टोकन है। जब अधिकारियों ने दुबारा जांच की, तब यह पाया गया कि इस सिक्के पर रोमन स्टाइल में ‘आर’ लिखा हुआ था, जिसे विशेषज्ञों ने रोमा समझ लिया था। दरअसल वह एक सॉफ्ट ड्रिंक-निर्माता के नाम का पहला अक्षर था और मात्र प्लास्टिक टोकन ही था। (अमेजिंग ब्लण्डर्स ) 

16.अमरीका के क्लीवलैंड म्यूजियम ऑफ आर्ट में बहुचर्चित और लोकप्रिय ‘मेडोना एंड चाइल्ड’ नामक लकड़ी की बनी कलाकृति को सन् 1927 में हटाना पड़ा। एक्स-रे द्वारा यह पता लगा कि जिस वस्तु को अब तक तेरहवीं शताब्दी में बनी हुई बताकर प्रदर्शित किया जा रहा था, दरअसल वह एलसियो डोसिना नामक जालसाज द्वारा सन् 1920 में बनाई गई थी। इस कलाकृति को हटाने से हुए रिक्त स्थान पर म्यूजियम द्वारा संगमरमर निर्मित एथीना की एक मूर्ति 120,000 डॉलर में खरीदकर प्रदर्शित की गई। यहां भी म्यूजियम के विशेषज्ञ पहचानने में गलती कर गए। बाद में यह मूर्ति भी डोसिना द्वारा बनी नकली मूर्ति निकली। (ग्रेटेस्ट क्रुक्स) 

17.सन् 1983 में पेरिस की नई टेलीफोन-डायरेक्टरी जारी की गई। फ्रांस के दूरसंचार विभाग को अपनी इस डायरेक्टरी पर गर्व था, क्योंकि इसको छापने में पूर्ण सावधानी बरती गई थी। परन्तु उससे भी एक गलती रह ही गई। वहां के दूरसंचार विभाग ने स्वयं के टेलीफोन नंबर गलत छापे थे। (अमेजिंग ब्लण्डर्स ) 

18.सन् 1744 में विश्व की प्रथम ‘परफैक्ट बुक’ प्रकाशित की गई। इसके प्रत्येक पृष्ठ को छः प्रूफ रीडरों द्वारा पांच सौ बार पढ़ा गया था, ताकि कहीं कोई गलती नहीं छूट जाए। इसमें गलती इंगित करने पर प्रति गलती के लिए 250 डॉलर का इनाम घोषित किया गया। पता चला कि यह परफैक्ट बुक पूर्णतः परफैक्ट अथवा त्रुटिहीन नहीं रह पाई है। कुल मिलाकर टाइप की छः त्रुटियों के बारे में पता चला, जिसमें से एक गलती पहले पृष्ठ की पहली लाइन में थी। (रिप्ले) 

19.पेनसिलवानिया में एक नदी के दोनों किनारों से पुल का निर्माण शुरू हुआ। परन्तु इंजीनियरों से कुछ ऐसी गलती हुई कि जब यह पुल दोनों किनारों से बढ़ता हुआ नदी के मध्य मिलने के स्थान तक पहुंचा, तो वहां पर इसके आपसी छोर एक-दूसरे से 15 फुट दूर थे। (रिप्ले) 

20.ब्रिटनम 6 फरवरा, 1965 को एक नया समाचार-पत्र ‘कामनवेल्थ सेन्टीनेल’ पहली बार प्रकाशित हुआ और इसके बाद फिर कभी नहीं छपा। इस समाचार-पत्र की स्थापना श्री बीघ द्वारा की गई थी। इन्होंने इसकी ज्यादातर कहानियां लिखी, समाचार संकलन किया, विज्ञापन जुटाए तथा प्रिंटिंग की निगरानी की। परन्तु वे एक तरफ ध्यान देना भूल गए, वह था-समाचार-पत्र का वितरण। नतीजा यह हुआ कि पहले ही दिन इस अखबार की 50,000 प्रतियों के बण्डल श्री बलीघ के होटल के कमरे के आगे सुबह लाकर पटक दिए गए और बिना बंटे रह गए। इसके बाद यह अखबार कभी दुबारा नहीं छपा। (अमेजिंग ब्लण्डर्स )

21.सन् 1990 में आयोजित फुटबाल विश्वकप में अपने स्वर्ण पदक के प्रति हॉलैंड इतना आश्वस्त था कि वहां के अधिकारियों ने फाइनल जीतने के पहले ही इस संभावित विजय की खुशी में ‘नीदरलैंड विश्वकप विजेता 1991’ लिखे एक मिलियन डाक टिकट छपवा लिए। गनीमत यह रही कि शेष पन्द्रह मिलियन डाक टिकट समय पर छपकर तैयार नहीं हुए, वरना इन्हें भी एक मिलियन टिकटों की भांति सरकारी भट्टी में स्वाहा करना पड़ता। कारण यह था कि हॉलैंड इस मुकाबले में जर्मनी से हारकर मुकाबले से बाहर हो गया था। (हिंदू, 28-6-90) 

22.बिलेरिके, एसेक्स, इंग्लैंड में तीन डाकू अपनी पूरी तैयारी के साथ एक कार में बंदूकें हाथ में लिए हुए एक डाकखाने को लूटने के इरादे से बाहर निकले। परन्तु उन्होंने अपनी योजना बनाते समय एक महत्त्वपूर्ण गलती कर दी थी। दरअसल उन्होंने जिस डाकखाने को लूटने की योजना बनाई थी, वह बारह वर्ष पहले ही बंद हो चुका था। (अमेजिंग ब्लण्डर्सी )

23.पश्चिमी हंगरी के शहर ग्योर के एक अस्पताल में लगा लैटर-बॉक्स ग्यारह वर्षों तक खोला ही नहीं गया। वहां के फेफड़ों के वार्ड में लगे इस लैटर-बॉक्स को खोलने और चिट्ठियां निकालने की जिम्मेदारी वहां के एक चौकीदार की थी। परन्तु जब उसका निवास बदल दिया गया, तब न तो अस्पताल के अधिकारियों और न ही डाकखाने के अधिकारियों को इसे खाली करवाने का ध्यान आया। सन् 1978 से लेकर सन् 1989 तक रोगी अपने-अपने पत्र इसमें डालते रहे और यह ऊपर तक भर गया, तभी इस गलती का पता चल पाया। (टाइम्स ऑफ इंडिया) 

24,प्रथम विश्व-युद्ध की समाप्ति पर नवंबर, 1918 में हुई संधि पर संबंधित देशों के अधिकारियों द्वारा हस्ताक्षर करा इसे वैध करार दे दिया गया। परन्तु बाद में पता चला कि इस संधि का ब्योरा टाइप करते समय कुछ पन्नों पर कार्बन गलत ढंग से लग गया था, अतः संधि का कुछ हिस्सा पीछे से आगे की तरफ ही पढ़ा जा सकता था। (अमेजिंग ब्लण्डर्स )

25.चीन द्वारा अमरीकी बोइंग 707 विमान की नकल पर एक विमान बनाने की कोशिश की गई। परन्तु इंजीनियरों ने विमान के गुरुत्व-केन्द्र का ध्यान नहीं रखा। फलस्वरूप उनके यहां बना यह वाई-10 विमान उड़ने में असफल रहा। (रिप्ले) 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

3 × 4 =