मेरा प्रिय खेल पर निबंध |Essay on My Favourite Sport in Hindi

मेरा प्रिय खेल पर निबंध

मेरा प्रिय खेल पर निबंध |Essay on My Favourite Sport in Hindi

भारतवर्ष में अनेक खेल खेले जाते हैं। कुछ खेल शहरों में लोकप्रिय हैं, तो कुछ गांवों में। क्रिकेट, हॉकी, टेनिस, बैडमिंटन, बॉस्केटबॉल आदि शहरों के लोकप्रिय खेल हैं, जबकि कबड्डी, चिक्का, गुल्ली-डंडा, आंख-मिचौनी एवं बुढ़िया कबड्डी ग्रामीण क्षेत्रों के प्रिय खेल हैं। क्रिकेट, हॉकी आदि खेलों में बहुत से कीमती साधनों की आवश्यकता होती है, जैसे-पोशाक, बॉल, बल्ला, स्टिक आदि। इन खेलों के लिए बड़ा और सुसज्जित मैदान भी होना चाहिए। इसके साथ ही क्रिकेट आदि खेलों में गंभीर चोट लगने का भी भय बना रहता है। लेकिन बुढ़िया कबड्डी एक ऐसा खेल है, जिसमें न तो किसी प्रकार के साधन की आवश्यकता होती है और न ही गंभीर चोट लगने की संभावना रहती है। इसे नगर सेठ का बच्चा भी खेलता है और झोंपड़ी में रहने वाला गरीब बालक भी। इसलिए बुढ़िया कबड्डी ही मेरा सबसे प्रिय खेल है। 

स्कूल में शाम को छुट्टी होते ही हम सभी एक जगह एकत्र हो जाते हैं। हममें से दो कप्तान चुन लिए जाते हैं। उसी प्रकार अन्य लोग भी दो हिस्सों में समान रूप से बंट जाते हैं। इसके बाद सिक्का उछालकर निर्णय किया जाता है कि पहले किसका दांव होगा? जिसका दांव होता है, उसकी बुढ़िया गोलाकार में बैठती है। उसी दल के शेष खिलाड़ी बुढ़िया से कुछ दूरी पर एक आयताकार घेरे के अंदर जगह ले लेते हैं। दूसरे दल के खिलाड़ी बुढ़िया को चारों तरफ से घेरते हुए मैदान में फैल जाते हैं। अब खेल आरंभ हो जाता है। पहले दल का खिलाड़ी अपने घर से बाहर ‘कबड्डी-कबड्डी’ बोलता हुआ दूसरे दल पर हमला करता है। सामान्यतः इस खेल में एक ही सांस में यह बोल बोला जाता है 

खेल कबड्डी आइला, तबला बजाइला। 

तबले में पैसा, लाल बजइचा॥

अगर पहले दल का खिलाड़ी दूसरे दल के किसी खिलाड़ी को छूकर एक ही श्वास में अर्थात सांस टूटे बिना अपने घर में वापस आ जाता है, तो दूसरे दल के उस खिलाड़ी को मृत घोषित कर दिया जाता है। इस प्रकार पहला दल विजयी हो जाता है। यदि खेल के बीच अवसर पाकर बुढ़िया अपने घर भाग जाती है, तो यह दल विजयी हो जाता है। अगर बुढ़िया के भागने के क्रम में दूसरे दल के किसी खिलाड़ी द्वारा छू जाती है, तो बुढ़िया का दल हार जाता है। अतः इस खेल में बुढ़िया का स्थान महत्वपूर्ण होता है। 

इस प्रकार बुढ़िया कबड्डी का खेल बड़ा सरल, मनोरंजक और स्वास्थ्यवर्धक होता है। इससे समस्त मांसपेशियों का अच्छा व्यायाम हो जाता है। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

8 + two =