मोबाइल फोन पर निबंध-Essay on Mobile Phone in Hindi

Essay on Mobile Phone in Hindi

मोबाइल फोन पर निबंध-Essay on Mobile Phone in Hindi

‘मोबाइल’ का नाम आते ही इसका एक ही अर्थ दिमाग में आता है मोबाइल फोन। आजकल जिसे भी देखें, उसके हाथ में मोबाइल फोन दिखाई देता है। इक्कीसवीं सदी के प्रथम दशक में मोबाइल के क्षेत्र में बड़ी क्रांति हुई। कुछ दिन पहले मोबाइल को प्रतिष्ठा का द्योतक माना जाता था। तब मोबाइल से फोन करना साधारण बात नहीं थी। लेकिन आज हम देखते हैं कि ऐसा कोई वर्ग नहीं है, जो मोबाइल फोन का प्रयोग न करता हो। 

मोबाइल आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है। मोबाइल के बिना सब सूना लगता है। घर में कोई अन्य चीज भूल जाएं, तो कोई बात नहीं, परंतु मोबाइल भूल जाएं, तो एक खालीपन लगता है। इस मोबाइल के बहुत से फायदे हैं। आप रास्ते में लेट हो रहे हों, तो मोबाइल से सूचना दे सकते हैं। आपकी गाड़ी खराब हो जाए, तो मिस्त्री को वहीं बुला सकते हैं। दुर्घटना आदि होने पर शीघ्रतापूर्वक सहायता प्राप्त कर सकते हैं। 

आज देश-विदेश में मोबाइल फोन से बात करना बहुत सस्ता हो गया है। एक पत्र की कीमत से भी कम पैसे में हम बात कर सकते हैं। मोबाइल के कारण दुनिया सिमटकर छोटी सी हो गई है। मोबाइल के क्षेत्र में रिलायंस कंपनी ने अपना मोबाइल लाकर एक क्रांति मचा दी। देखते-देखते कॉल रेट बहुत कम हो गए। आज लैंड लाइन से भी सस्ती दरों पर बात की जा सकती है। कुछ दिन पहले फोन लेने के लिए वर्षों इंतजार करना पड़ता था। लाइनमैन के नखरे अलग होते थे। फिर फोन कई-कई दिन खराब पड़े रहते थे। 

मोबाइल से जहां फायदे हैं, वहीं इससे नुकसान भी हैं। बहुत से लोग गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात करते हैं। यह उनके लिए तो घातक है ही, दूसरों की जान को भी खतरे में डाल देता है। मोबाइल आपके आराम में बाधक है, जब-तब इसकी घंटी बज उठती है। ऐसी दशा में मोबाइल का होना बुरा लगता है। हमें मोबाइल का सदुपयोग करना चाहिए, दुरुपयोग नहीं। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

13 + seventeen =