एशियन हाइवे पर निबंध |Essay on Asian highway

एशियन हाइवे पर निबंध

एशियन हाइवे पर निबंध |Essay on Asian highway

यूनेस्कैप (यूनाइटेड नेशंस इकोनॉमिक एंड सोशल कमीशन फॉर एशिया एंड पैसिफिक) की अगुवाई में एशिया के 32 देशों को सड़क मार्ग से जोड़ने के लिए एशियन हाइवे परियोजना की शुरुआत की गई है। इस परियोजना को 32 सदस्य देशों में से भारत सहित 27 देशों ने अपनी सहमति दे दी। जुलाई, 2005 से इस परियोजना पर अंतर्सरकारी समझौता लागू हो गया है। इसके अनुसार 1,41,207 कि.मी. लंबा राजमार्ग बनाया जाएगा, जिसमें से भारत में 1,458 कि.मी. मार्ग होगा। इस परियोजना पर आने वाले 18 बिलियन अमेरिकी डॉलर का खर्च यूनेस्कैप एशियाई विकास बैंक, विश्व बैंक, जापान बैंक फॉर इंटरनेशनल कोऑपरेशन जैसी बड़ी संस्थाओं से मिलकर वहन करेगा। 

इस परियोजना की शुरुआत 1959 में हुई थी। इसके प्रथम चरण 1960 1970 में इसमें उल्लेखनीय प्रगति हुई है। 1979 में वित्तीय सहायता रुकने से प्रगति धीमी पड़ गई थी। पुनः 1992 में यूनेस्कैप ने इस परियोजना पर अपनी सहमति दी। फिर 2003 में अंतर्राष्ट्रीय बैठक में एशियन हाइवे नेटवर्क अंतर्सरकारी समझौता हुआ, जिसमें 32 सदस्य देशों में 55 हाइवे रूट तय किए गए और इस पर एक, दो तथा अधिक लेन बनाने पर सहमति हुई। 

भारत में राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास का कार्य जोरों पर है। लेकिन एशियन हाइवे से संबद्ध सभी सदस्य देशों से गुजरने वाली सड़कों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाया जाना चाहिए। भारत में इस परियोजना का लाभ बिहार, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल तथा उत्तर-पूर्वी राज्यों को मिलेगा। 

इस परियोजना के प्रभावी हो जाने से 32 सदस्य देशों में आपसी व्यापार और पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा। भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में ‘पर्यटन क्रांति’ का आगमन होगा। ऐसी स्थिति में यह क्षेत्र आर्थिक और पर्यटन संबंधी गतिविधियों का एक महत्वपूर्ण केंद्र बन जाएगा। इस परियोजना में एशिया महाद्वीप के निम्नलिखित 32 देश शामिल हैं 

अफगानिस्तान, 2. अर्मीनिया, 3. अजरबैजान, 4. बांग्लादेश, 5. भूटान, कंबोडिया, 7. चीन, 8. जर्जिया, 9. दक्षिणी अफ्रीका, 10. भारत, 11. इंडोनेशिया, 12. ईरान, 13. जापान, 14. कजाकिस्तान, 15. कर्गिस्तान, 16. लाओपीडीआर, 17. मलेशिया, 18. मंगोलिया, 19. म्यांमार, 20. नेपाल, 21. पाकिस्तान, 22. फिलीपींस, 23. उत्तर कोरिया, 24. रूस, 25. सिंगापुर, 26. श्रीलंका, 27. ताजिकिस्तान, 28. थाइलैंड, 29. तुर्की, 30. तुर्कमिनिस्तान, 31. वियतनाम, 32. उजबेकिस्तान। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

16 − 3 =