एंटोनी लेवोज़ियर की जीवनी | Biography of Antoine Lavoisier in hindi

Biography of Antoine Lavoisier in hindi

एंटोनी लेवोज़ियर की जीवनी | Biography of Antoine Lavoisier in hindi

रसायन विज्ञान के जन्मदाता एन्टोइने लौरेन्ट द लेवोइजर का जन्म 26 अगस्त सन् 1746 ई० में पेरिस (फ्रांस) में हुआ था। उनकी बचपन से ही विज्ञान में रुचि थी। अपनी शिक्षा समाप्त करने के पश्चात् यह वकील बने तथा उन्होंने अपने पेशे में पूरी निष्ठा से कार्य किया। अपने खाली समय में वह अनुसंधान कार्यों में व्यस्त रहते थे।

सन् 1766 ई० में पेरिस की सड़कों के प्रकाशित करने के सुझाव के लिए उन्हें स्वर्णपदक प्रदान किया गया। उन्हें बाद में टैक्स इकट्ठा करने वाले अफसर की पोस्ट दी गयी।

ज्वलन क्रियाओं के क्षेत्र में उन्होंने काफी कार्य किया। सन् 1772 ई० में उन्होंने यह सिद्ध करके दिखाया कि धातुओं की राख धातुओं की तुलना में अधिक भारी होती है। इससे पहले लोगों का मानना था कि जलने के बाद पदार्थों से फलोजिस्टन नामक पदार्थ निकल जाता है, जिससे वे हल्के हो जाते हैं। लेकिन लेवोइजर ने यह सिद्ध करके दिखाया कि जलने के बाद पदार्थों में कुछ जुड़ जाता है।

उन्होंने पदार्थ की अविनाशिता का नियम प्रतिपादित किया जिसके अनुसार न तो पदार्थ को पैदा किया जा सकता है और न ही पदार्थ नष्ट किया जा सकता है, केवल इसका रूप बदल जाता है। 

उन्होंने रसायन विज्ञान पर एक किताब भी लिखी जिसमें तत्वों की एक सारणी दी गयी थी। उन्होंने वैज्ञानिक कृषि के तरीके सुझाए। उन्हें भार व माप सम्बन्धी आयोग का सदस्य चुना गया।

वे विश्व के प्रथम वैज्ञानिक थे जिन्होंने यह सिद्ध करके दिखाया कि हवा में ऑक्सीजन तथा नाइट्रोजन दो गैसें होती हैं। जब कोई पदार्थ जलता है तो वह हवा की ऑक्सीजन से संयोग करता है। उनकी इसी धारणा के आधार पर आधुनिक रसायन विज्ञान ने अपने चरण आगे बढ़ाए क्योंकि इसी धारणा के आधार पर वैज्ञानिक लोग जलने की क्रिया को समझ पाए। उसी आधार पर लेवोइजर को आधुनिक रसायन विज्ञान का जन्मदाता कहा जाता है।

सन् 1789 ई० फ्रांस की क्रांति के बाद लेवोइजर वहां की सरकार की मदद करना चाहता थे लेकिन चूंकि पुरानी सरकार के साथ उनके राजनीतिक सम्बन्ध थे और वे टैक्स एकत्रित करने का कार्य करते थे। इसलिए 8 मई, सन् 1794 ई० को उनकी गला काटकर हत्या कर दी गयी। इस महान् वैज्ञानिक के कार्यों को कभी भी नहीं भुलाया जा सकता। ज्वलन क्रियाओं से सम्बन्धित उन्होंने महान् कार्य किये जिनके लिये उन्हें कभी भी भुलाया नहीं जा सकेगा।

रसायन विज्ञान एक बहुत ही व्यापक विषय है। जिसके अन्तर्गत अनेक पदार्थों की संरचना और उनके गुणों का अध्ययन किया जाता है। रसायन विज्ञान के जन्मदाता के रूप में लेवोइजर का नाम सबसे पहले लिया जाता है।

More from my site

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =