Best Book for SSC descriptive paper in hindi|SSC CHSL MTS CGL descriptive book in hindi pdf free download

Best Book for SSC descriptive paper in hindi

Best Book for SSC descriptive paper in hindi|SSC CHSL MTS CGL descriptive book in hindi pdf free download|SSC Previous year descriptive questions pdf

SSC descriptive paper book का Chapter  वाइज  इस बुक का पीडीएफ(PDF )चैप्टर वाइज डाला गया है जिसे आप  पढ़ सकते हैं।SSC descriptive Book ka PDF  नीचे दी गई लिंक के जरिए पढ़  सकते हैं।ssc chsl,mts, cgl descriptive book in hindi pdf free download

ssc book

निबन्ध लेखन (Essay-writing).part-1CLICK HERE FOR PDF

निबन्ध लेखन (Essay-writing).part-2-CLICK HERE FOR PDF

letter writing for ssc  pdf

पत्र-लेखन(Letter-Writing)–CLICK HERE FOR PDF

SSC Previous year descriptive papers with solution pdf in hindi(2016-2019)CLICK HERE FOR PDF

मॉडल प्रैक्टिस सेट(Model practice set-1 to 10)–CLICK HERE FOR PDF

मॉडल प्रैक्टिस सेट(Model practice set-11 to 20)–CLICK HERE FOR PDF

मॉडल प्रैक्टिस सेट(Model practice set-21 to 30)–CLICK HERE FOR PDF

मॉडल प्रैक्टिस सेट(Model practice set-31 to 40)–CLICK HERE FOR PDF

मॉडल प्रैक्टिस सेट(Model practice set-41 to 50)–CLICK HERE FOR PDF

मॉडल प्रैक्टिस सेट(Model practice set-51 to 60)–CLICK HERE FOR PDF

SSC descriptive book chapter details here

* निबन्ध लेखन (Essay-writing)……………SHDH-9-34 

* पत्र-लेखन …….. ….SHDH-35-48 

 मॉडल प्रैक्टिस सेट-01.…………..SHDH-49 

निबन्ध : भारतीय अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 का प्रभाव 

पत्र-लेखन : अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्था के संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी को शिकायत पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-02……………SHDH-50 

निबन्ध : अनुच्छेद-370 मुद्दे एवं विवाद * पत्र-लेखन : अपने मित्र के जन्म दिवस के अवसर पर बधाई पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-03……………SHDH-51 

निबन्ध : राजद्रोह कानून और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता

* पत्र-लेखन : समाचार-पत्र के संपादक के नाम एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-04……………SHDH-52 

निबन्ध : राष्ट्र निर्माण में युवा शक्ति 

पत्र-लेखन : अपने अनुज को समय के सदुपयोग का महत्व बताते हुए एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-05……………SHDH-53 

* निबन्ध : कोरोना लॉकडाउन और वायु प्रदूषण * पत्र-लेखन : मुद्रा योजना के अंतर्गत बैंक से व्यवसाय ऋण प्राप्त ___करने के लिए बैंक प्रबंधक को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-06……………SHDH-54 

* निबन्ध : भारत को केन्द्र एवं राज्यों के आपसी रिश्तों की पुनर्व्याख्या करने की आवश्यकता है

* पत्र-लेखन : मताधिकार का प्रयोग करने के लिए जागरुकता अभियान के तहत समाचार पत्र के संपादक को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-07……………SHDH-55 

*निबन्ध : प्रवासी कौशल विकास योजना 

पत्र-लेखन : पत्रकार वार्ता में शामिल होने के लिए एक हिन्दी दैनिक समाचार पत्र के संपादक को आमंत्रण पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-08……………SHDH-56 

निबन्ध : राष्ट्रीय एकता और बढ़ती क्षेत्रीयता * पत्र-लेखन : परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर मित्र को बधाई पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-09……………SHDH-57 

निबन्ध : शिक्षा का निजीकरण 

पत्र-लेखन : अपने मुहल्ले की सफाई के संबंध ___में संबंधित स्वास्थ्य-अधिकारी को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-10….. ……SHDH-58

*निबन्ध : कोरोना प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था का पुनरुत्थान 

पत्र-लेखन : अपने पड़ोस में हुई चोरी की शिकायत के विषय में 

अपने क्षेत्र के थाना अधिकारी को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-11……………SHDH-59 

* निबन्ध : राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार नीति 

पत्र-लेखन : अपने क्षेत्र में बसों की कुव्यवस्था के बारे में सूचित करते हुए नवभारत टाइम्स के संपादक के नाम पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-12……………SHDH-60 

* निबन्ध : ड्रग टेररिज्म वैश्विक सुरक्षा के समक्ष उभरता नया खतरा * पत्र-लेखन : डिजिटल भुगतान के लाभ बताने हेतु मित्र को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-13……. ……SHDH-61 

निबन्ध : भारत एवं क्वैड (guad) समूह 

पत्र-लेखन : प्रगति मैदान में आयोजित होने वाली किसी प्रदर्शनी का विवरण देते हुए अपने मित्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-14……………SHDH-62 

* निबन्ध : ऑनलाईन परीक्षा : लाभ या हानि

* पत्र-लेखन : मित्र संजय को पत्र लिखिए जिसमें व्यायाम की महत्ता का वर्णन 

मॉडल प्रैक्टिस सेट- 15…………..SHDH-63 

निबन्ध : स्मार्ट शहर या स्मार्ट गांव

* पत्र-लेखन : मित्र को एक प्रेरणा भरा पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-16……………SHDH-64 

निबन्ध : समान नागरिक संहिता: वर्तमान एवं भविष्य 

पत्र-लेखन : पुस्तकें मँगाने के लिए पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-17……………SHDH-65 

– निबन्ध : चीनी वस्तुओं का भारत द्वारा बहिष्कार 

पत्र-लेखन : अपने क्षेत्र की सफाई की अव्यवस्था का वर्णन तथा उसे सुधारने की प्रार्थना

मॉडल प्रैक्टिस सेट-18……………SHDH-66 

* निबन्ध : परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह और भारत 

पत्र-लेखन : राष्ट्रपति द्वारा ‘वीर बालक पुरस्कार’ से सम्मानित अपने छोटे भाई को बधाई पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-19……………SHDH-67 

.निबन्ध : इंटरनेट और निजता का अधिकार व सुरक्षा 

पत्र-लेखन : यात्रा के दौरान रेल कर्मचारी के अभद्र व्यवहार की 

शिकायत के लिए रेल अधिकारी को एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-20…….. ……SHDH-68 

* निबन्ध : वन बेल्ट वन रोड : भारत के लिए सकारात्मक एवं नकारात्मक पक्ष 

पत्र-लेखन : आप अपने मित्र संतोष को उसके पिता के देहांत पर सांत्वना देते हुए पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-21……………SHDH-69 

* निबन्ध : भारतीय राज-व्यवस्था में राज्यपाल की भूमिका 

पत्र-लेखन : अपने मित्र को अपने बड़े भाई की शादी में सम्मिलित ___ होने के लिए निमंत्रण-पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-22……………SHDH-70 

निबन्ध : डिजिटिल भारत के लिए ‘नेट तटस्थता (नेट न्यूट्रिएलिटी)’ 

पत्र-लेखन : नेशनल बुक ट्रस्ट से कुछ पुस्तकें मँगाने के लिए एक पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-23……………SHDH-71 

निबन्ध : कोविड-19 के दौरान भारत की कमजोर चिकित्सकीय अवसंरचना 

पत्र-लेखन : राज्य के मुख्य सचिव को गन्ना किसानों को नियम मूल्य से अधिक मूल्य प्रदान करने हेतु पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-24…………… SHDH-72 

निबन्ध : ‘कन्या भ्रूण हत्या एक अभिशाप’ *पत्र-लेखन : मंत्रालयों के बीच सूचना आदान-प्रदान के सम्बन्ध में 

एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-25…….. ……SHDH-73 

* निबन्ध : बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद

* पत्र-लेखन : निर्देशों का अनुपालन नहीं होने के संबंध में अनौपचारिक पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-26……………SHDH-74 

* निबन्ध : आतंकवाद * पत्र-लेखन : खाद्य संरक्षण एवं महंगाई नियंत्रण हेतु किए गए प्रयासों 

के संबंध में संबंध अधिकारियों को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-27…….. ……SHDH-75 

* निबन्ध : हमारी सामाजिक समस्यायें

* पत्र-लेखन : चरित्र-प्रमाण पत्र प्रदान करने के सम्बन्ध में प्राचार्य को आवेदन पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-28……………SHDH-76 

* निबन्ध : धर्म निरपेक्षता संविधान का मूलभूत आदर्श 

पत्र-लेखन : महाविद्यालय में प्रवेश फीस की माफी के सम्बन्ध में 

प्राचार्य को आवेदन-पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-29……………SHDH-77 

* निबन्ध : कौशल भारत अभियान 

पत्र-लेखन : शिक्षा मंत्री को उर्दू भाषा को पाठ्यक्रम में शामिल करने के सम्बन्ध में पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-30……………SHDH-78 

निबन्ध : ऑनलाइन शिक्षा एक नया प्रचलन/व्यवस्था है 

पत्र-लेखन : दिव्यांग होने के कारण वैकल्पिक व्यवस्था के अंतर्गत लिपिक रखने के सम्बन्ध में प्राचार्य को आवेदन पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-31……………SHDH-79 

निबन्ध : स्टैंड अप इंडिया

पत्र-लेखन : स्नातक I में विषय (संकाय) परिवर्तन के सम्बन्ध में प्राचार्य को आवेदन-पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-32……………SHDH-80 

* निबन्ध : प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान 

पत्र-लेखन : पदोन्नति के संबंध में शासनादेश संबंधी पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-33……………SHDH-81 

निबन्ध : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 

पत्र-लेखन : अधिकारी की प्रतिनियुक्ति के संबंध में राजपत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-34……………SHDH-82 

निबन्ध : भारत में ई-गवर्नेस 

पत्र-लेखन : समाज कल्याण विभाग से अनुसूचित जाति/जनजाति के ___ छात्रों संबंधी सूचना की जानकारी हेतु पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-35…………… SHDH-83

* निबन्ध : वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी चुनौती

* पत्र-लेखन : प्राचार्य को नियमगत दण्ड की माफी हेतु एक आवेदन 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-36…………… SHDH-84 

*निबन्ध : नक्सलवाद * पत्र-लेखन : बी. टेक, पाठ्यक्रम में सुधार हेतु शिक्षा सचिव को आवेदन-पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-37…….. ……SHDH-85 

निबन्ध : ई-शॉपिंग का बढ़ता चलन

* पत्र-लेखन : MGNREGA के उत्कृष्टता पुरस्कार के लिए संबंधित विभाग को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-38……………SHDH-86 

* निबन्ध : नकली प्रचारित वीडियो की चुनौती 

पत्र-लेखन : पुस्तकालय (लाइब्रेरी) की सुविधा के सम्बन्ध में कुलपति को आवेदन पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-39……………SHDH-87 

* निबन्ध : जनसंख्या वृद्धि

*पत्र-लेखन : इक्कीसवीं शताब्दी में संचार माध्यम के रूप में इन्टरनेट की भूमिका पर पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-40…… ……SHDH-88 

*निबन्ध : भारत में विकलांगता

* पत्र-लेखन : समाज के विकास में शिक्षा के महत्व को रेखांकित करते हुए मित्र को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-41……………SHDH-89 

निबन्ध : कोरोना अवधि में बेरोजगारी की समस्या

* पत्र-लेखन : राष्ट्रीय एकता में राष्ट्रीयता के विभिन्न महत्वों से रेखांकित अपने मित्र को पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-42……………SHDH-90 

* निबन्ध : आत्मनिर्भर भारत अभियान

* पत्र-लेखन : एड्स के बढ़ते प्रकोप की ओर जनता एवं सरकार ___का ध्यान आकृष्ट करने हेतु समाचारपत्र के सम्पादक के नाम पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-43…………… SHDH-91 

निबन्ध : स्वच्छ भारत अभियान

* पत्र-लेखन : मित्र के पास एक पत्र जिसमें इतिहास के सही अर्थ के संबंध में कुछ बातें

मॉडल प्रैक्टिस सेट-44…………… SHDH-92 

* निबन्ध : संघीय बजट-2020-2021 .

पत्र-लेखन : खोई हुई वस्तु लौटाने के लिए उस अपरिचित व्यक्ति को एक धन्यवाद ज्ञापन पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-45……………SHDH-93 

निबन्ध : गुटनिरपेक्ष आंदोलन: अतीत और भविष्य 

पत्र-लेखन : मलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के उचित क्रियान्वयन होने के लिए संबंधित अधिकारी को परामर्श पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-46……………SHDH-94 

निबन्ध : क्या वातावरण की कीमत पर विकास सम्भव है? 

पत्र-लेखन : अपने क्षेत्र के पेयजल की समस्या की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए जिला स्वास्थ्य अधिकारी को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-47…………… SHDH-95 

* निबन्ध : भारतीय अर्थव्यवस्था का संकुचन 

*पत्र-लेखन : अपने स्कूटर की चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थानाध्यक्ष को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-48……………SHDH-96 

.निबन्ध : अमृत मिशन 

पत्र-लेखन : अपने क्षेत्र में डाक-वितरण की व्यवस्था ठीक न होने ___ की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए डाकपाल को एक शिकायती पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-49……………SHDH-97 

* निबन्ध : प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 

पत्र-लेखन : बस यात्रा के दौरान बस कंडक्टर ने आपके साथ दुर्व्यवहार किया। दिल्ली परिवहन निगम के महाप्रबंधक को एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-50……………SHDH-98 

* निबन्ध : गाँधी की प्रासंगिकता 

पत्र-लेखन : दूरदर्शन केंद्र निदेशक को किसी विशेष कार्यक्रम की सराहना करते हुए पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-51…………. .SHDH-99 

*निबन्ध : आपदा प्रबंधन * पत्र-लेखन : ध्वनि प्रदूषण की ओर ध्यान आकर्षित कराते हुए एक 

समाचार-पत्र के संपादक को पत्र |

मॉडल प्रैक्टिस सेट-52………….SHDH-100 

निबन्ध : भारत में पंचायती राज । 

* पत्र-लेखन : नौकरी पाने हेतु कंपनी के मैनेजर को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-53………….SHDH-101 

* निबन्ध : नदी जोड़ो परियोजना *पत्र-लेखन : बिजली गुल होने की शिकायत करते हुए संबंधित 

अधिकारी को एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-54………….SHDH-102 

निबन्ध : उत्तिष्ठ भारत (स्टैण्ड-अप इण्डिया) योजना * पत्र-लेखन : अपने विद्यालय के प्रधानाचार्य को छात्रवृत्ति या आर्थिक 

सहायता या शुल्कमाफी के लिए एक

मॉडल प्रैक्टिस सेट-55………….SHDH-103 

निबन्ध : महिला सशक्तीकरण

* पत्र-लेखन : सहपाठी के प्रशंसनीय और साहसिक व्यवहार के लिए विद्यालय के प्रधानाचार्य को पत्र 

मॉडल प्रैक्टिस सेट-56………….SHDH-104 

निबन्ध : हमारी बैंक व्यवस्था का दुरुस्तीकरण समय की पुकार है

पत्र-लेखन : चरित्र प्रमाण-पत्र प्राप्त करने के लिए अपने विद्यालय के प्रधानाध्यापक को एक पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-57………….SHDH-105 *

निबन्ध : प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (पीएम दिशा) ग्रामीण भारत को डिजिटल रूप से साक्षर बनाना 

पत्र-लेखन : खेल का सामान मँगवाने के लिए प्रधानाचार्य को आवेदन पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-58………….SHDH-106 

निबन्ध : शिक्षा का अधिकार अधिनियम

* पत्र-लेखन : अपनी भूल के लिए क्षमा-याचना तथा जुर्माना माफ 

करने की प्रार्थना प्राधानाचार्य को पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-59………….SHDH-107 

निबन्ध : न्यायिक सक्रियता 

पत्र-लेखन : शासनादेश प्रेषण संबंधी पत्र

मॉडल प्रैक्टिस सेट-60………….SHDH-108 

* निबन्ध : उड़ान योजना

* पत्र-लेखन : विदेश स्थित दूतावासों के माध्यम से विदेशी सरकार को सहयोग राशि के संबंध में पत्र 

SSC Previous year descriptive papers

हल प्रश्न-पत्र सेट-61 : SSC CHSL (10+2) विवरणात्मक परीक्षा, 18.09.2016…………… SHDH-109

सेट-62 : SSC CGL TIER-III (विवरणात्मक) परीक्षा, 19.03.2017……….. SHDH-110

सेट-63 : SSC मैट्रिक स्तर ग्रुप ‘C’ एवं ‘D’ स्टेनोग्राफर परीक्षा, 13.05.2017 …. SHDH-111

सेट-64 : SSC CHSL (10+2) विवरणात्मक परीक्षा, 09.07.2017…………… SHDH-113

सेट-65 : SSC मल्टी टास्किंग स्टाफ TIER-II परीक्षा, 28.01.2018………….. SHDH-115 

सेट-66 : SSC CGL TIER-III परीक्षा, 08.07.2018.. ……….. SHDH-119 

सेट-67: SSC CHSL TIER-II परीक्षा, 15.07.2018………………….. 

सेट-68 : SSC मल्टी टास्किंग स्टाफ TIER-II परीक्षा, 24.09.2019…………

सेट-69 : SSC CHSL TIER-II परीक्षा, 29.09.2019 ……….

सेट-70 : SSC CGL TIER-III परीक्षा, 29.12.2019………………………  CLICK HERE FOR PDF

निबन्ध लेखन (ESSAY-WRITING) 

शुद्ध निबन्ध कैसे लिखें -हिन्दी का ‘निबन्ध’ शब्द अंग्रेजी शब्द “Essay का अनुवाद है। अंग्रेजी का ‘Essay शब्द फ्रांसीसी शब्द “Essar से बना है, जिसका अर्थ है- To attempt, अर्थात् प्रयास करना। निबन्ध में निबन्धकार अपने सहज, स्वाभाविक रूप को पाठक के सामने प्रकट करता है। कहने का तात्पर्य यह है कि निबन्ध में निबन्धकार खुलकर पाठक के सामने आता है। कोई दुराव नहीं, किसी प्रकार का संकोच अथवा भय नहीं- वह जो कुछ अनुभव करता है, उसे अभिव्यक्त कर देता है। पाठक को निबन्धकार भावधारा में अनायास प्रवाहित कराता है। सघन और तीन अनुभूतियों का निबन्ध में भावात्मक प्रकाशन होता है। भाव आकुल- व्याकुल होकर सहज ही फूट पड़ते हैं। कहीं रूकावट नहीं, कोई ठहराव नहीं। वास्तव में निबन्ध वह रचना है जिसमें किसी विषय पर कोई लेखक सीमित समय एवं सीमित शब्दों में अपना विचार क्रमबद्ध व्यक्त करता है। निबन्ध की पृष्ठ- भूमि में लेखक का व्यक्तित्व होता है, उसके मनोभाव होते हैं। 

निबन्ध की विशेषताएँ अच्छे निबन्ध की चार प्रमुख विशेषताएँ हैं 1. व्यक्तित्व का प्रकाशन : यह निबन्ध की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता है। निबन्ध में निबन्धकार अपने सहज स्वाभाविक रूप से पाठक के समक्ष 

प्रस्तुत होता है। निबन्ध लेखन में जितना लेखक के व्यक्तित्व का महत्व होता है, उतना विषय का नहीं। अत्यन्त शुष्क विषय को भी निबन्धकार अपनी प्रतिभा और व्यक्तित्व से चमका देता है। वह पाठकों से मित्रवत खुलकर सहज संलाप करता है। 2. संक्षिप्तता : निबन्ध की सफलता- श्रेष्ठता उसकी संक्षिप्तता है। निबन्ध जितना छोटा होता है, जितना अधिक गठा होता है, उसमें उतनी ही सघन अनुभूतियाँ होती हैं एवं अनुभूतियों में गठाव-कसाव के कारण तीव्रता रहती है। 3. एकसूत्रता : सरल एवं श्रेष्ठ निबन्ध की तीसरी विशेषता है- एकसूत्रता। निबन्ध में वैयक्तिक स्वंत्रतता का यह अर्थ कदापि नहीं होता है कि निबन्धकार अर्थहीन, भावहीन प्रलाप करे। व्यक्तिगत विशेषता का यह मतलब नहीं कि उसके प्रदर्शन के लिए विचारों की श्रृंखला रखी ही न जाए। 4. अन्विति का प्रभाव : जिस प्रकार एक चित्र की अनेक असम्बद्ध रेखाएँ आपस में मिलकर एक सम्पूर्ण चित्र बना पाती हैं अथवा एक माला के अनेक पुष्प एकसूत्रता में ग्रथित होकर ही माला का सौन्दर्य ग्रहण करते हैं, उसी प्रकार निबन्ध के प्रत्येक विचारचिन्तन, प्रत्येक भाव तथा प्रत्येक आवेग आपस में अन्वित होकर सम्पूर्णता के प्रभाव को संशष्टि करते हैं। 

निबन्ध की आवश्यकताएँ | निबन्ध लेखन में दो वस्तुओं की आवश्यकता होती है (1) सामग्री (2) शैली 

(1) सामग्री: निबन्ध लेखन में सामग्री एक अत्यावश्यक तत्व है। निबन्ध लिखने की प्रमुख बात है कि हमारा भिन्न-भिन्न वस्तुओं पर गम्भीर अध्ययन होना चाहिए और विशेष रूप से उस वस्तु पर जिस पर हमें निबन्ध लिखना है। हमारा शब्द-भण्डार विशाल और विस्तृत होना चाहिए। हमें यह देखना चाहिए कि जिस विषय पर हमें निबन्ध लिखना है, उस विषय पर प्रसिद्ध निबन्धकारों के क्या विचार हैं। अध्ययन के लिए हमें उच्च कोटि के लेखकों के ग्रन्थ चुनने चाहिए। केवल अध्ययन मात्र से कल्याण नहीं हो सकता। अध्ययन के पश्चात् मनन की परम आवश्यकता है। जिस विषय को आप लिखना चाहते हैं उस पर गम्भीरता-पूर्वक मनन कीजिए और बुद्धि की कसौटी पर कसकर देखिए कि इसमें तथ्य कहाँ है। निबन्ध-लेखन में सर्वाधिक महत्वपूर्ण चीज अभ्यास है। बिना अभ्यास के निबन्ध लिखना बालू की दीवार उठाना है। 

(2) शैली : लिखने के लिए दो बातों की आवश्यकता है- भाव और भाषा। भाव और भाषा को समन्वित करने के ढंग को ‘शैली’ कहा जाता है। दोनों समान रूप से महत्वपूर्ण हैं। लिखने के लिए जिस तरह परिमार्जित भाव की आवश्यकता है, उसी तरह परिमार्जित भाषा की। परिमार्जित भाषा एवं परिमार्जित भाव का मेल ही शैली है। अच्छी शैली वह है, जो पाठक को प्रभावित करें। यह पाठक को शब्दों की उलझन में नहीं डालती। 

निबन्ध लिखने में सुन्दर-सुन्दर शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। वाक्य व्यवस्थित और सुसंगठित होने चाहिए। इसके साथ-साथ वाक्य छोटे हों और सरल हों। भाषा में रोचकता व प्रवाह लाने के लिए बीच-बीच में लोकोक्तियों, मुहावरों तथा अलंकारों का प्रयोग होना चाहिए। निबन्ध की भाषा सरल, सुबोध एवं परिष्कृत होनी चाहिए। तद्भव शब्दों के स्थान पर यदि तत्सम शब्दों का प्रयोग किया जाए तो और भी अच्छा है। 

निबन्ध का शिल्पविधान | सुसंगठित निबन्ध के लिए तीन बातों पर ध्यान देना चाहिए : (1) विषय-प्रवेश (2) मध्य (3) निष्कर्ष या उपसंहार 

(1) विषय-प्रवेश या भूमिका : विद्यार्थियों को भूमिका के रूप में विषय का संक्षिप्त परिचय देना चाहिए। जिस दृष्टिकोण से निबन्ध लिखा जाये, उसी दृष्टिकोण से भूमिका भी लिखी जानी चाहिए। निबन्ध की भूमिका का विषय के मध्य एवं उपसंहार से गहन संबंध रहता है। निबन्ध का 

आरम्भ आकर्षक तथा प्रभावोत्पादक होना चाहिए, जिससे पाठक के हृदय में रूचि तथा उत्सुकता उत्पन्न हो सके। सारगर्भित निबन्ध का आरम्भ आप, विषय से सम्बन्धित किसी कवि की उक्ति से, विषय की परिभाषा से, आवश्यकता या महत्व प्रदर्शित करते हुए अथवा विषय की वर्तमान अवस्था या महत्व दर्शाते हुए कर सकते हैं। 

(2) मध्य : निबन्ध के मध्य भाग में विषय का विश्लेषण किया जाता है। विश्लेषण निबन्ध का सार-अंश है। इस भाग में निश्चित रूप-रेखाओं द्वारा विषय का पूर्ण विवेचन करना चाहिए। अनावश्यक एवं अप्रमाणिक बातों को निबन्ध में स्थान नहीं देना चाहिए। इससे निबन्ध की कलेवर वृद्धि तो हो जाती है, परन्तु विषय में नीरसता आने का भय रहता है। बातों में सिलसिला होना चाहिए। जिस बात को पहले लिखा जाना चाहिए उसे पीछे लिखने से निबन्ध का महत्त्व घट जाता है। 

(3) उपसंहार : अवसान में समस्त निबन्ध का सारांश निहित होता है। अन्त इस तरह का हो कि पाठक को जान पड़े कि अब इससे अधिक कुछ नहीं कहा जा सकता। विषय को शनै:-शनैः अवसानोन्मुख करना चाहिए। यह ध्यान रखना चाहिए कि समाप्तिवाक्य ऐसे हों कि निबन्ध के सरलता और सौन्दर्य को बढ़ा दें, साथ ही वर्णित विचारों के पोषक भी हों। 

निबन्ध के भेद-प्रभेद विषय के प्रतिपादन की दृष्टि से निबन्ध तीन प्रकार के होते हैं- (1) वर्णनात्मक (2) विवरणात्मक (3) विचारात्मक 

(1) वर्णनात्मक : इन निबन्धों में वस्तु विशेष का सजीव वर्णन किया जाता है। इसमें प्राकृतिक तथा अप्राकृतिक दोनों प्रकार की विषयों का समावेश होता है। इस प्रकार के निबन्ध लेखन में सूक्ष्म निरीक्षण शक्ति एवं कुशल कल्पना की आवश्यकता होती है। 

(2) विवरणात्मक: इन निबन्धों में घटनाओं, यात्राओं, उत्सवों तथा व्यक्तियों का परिचय आदि प्रस्तुत किया जाता है। (3) विचारात्मक : विचारात्मक निबन्ध का आधार चिन्तन है। इनमें लेखक किसी विषय पर अपनी सम्मति प्रकट करता है और अपने तर्कों एवं दृष्टान्तों से उसे प्रमाणित करता है। गंभीर चिन्तन एवं अध्ययन के अभाव में विचारात्मक निबन्ध नहीं लिखे जा 

सकते। 

इस प्रकार निबन्ध-लेखन में विद्यार्थियों को भाषा, शैली, क्रमबद्धता, वर्तनी, शब्द सीमा तथा विचारों के परस्पर तारतम्य पर अवश्य ध्यान देना चाहिए। आशा है, उपरिलिखित बातें छात्रों को निबन्ध लिखने में सहायक सिद्ध होंगी। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

twenty − 1 =