दमा का घरेलू नुस्खे-Asthma ka gharelu nuskhe

Asthma ka gharelu nuskhe

दमा का घरेलू नुस्खे-Asthma ka gharelu nuskhe

दमा श्वसन संस्थान का रोग है। जब फेफड़ों में कफ जमा हो जाता है या श्वासनली में कोई विकार उत्पन्न हो जाता है, तो सांस लेने में असुविधा होने लगती है, सांस फूलने लगती है। इसे दमा या अस्थमा कहा जाता है। 

  • साधारण दमा रोग में सुहागे का फूल और मुलहठी को अलग-अलग कूट-पीसकर, छानकर मैदे की तरह महीन पाउडर बना लें। अब इन दोनों को समान मात्रा में मिलाकर शीशी में सुरक्षित रख लें। यह हाफ ग्राम से 1 ग्राम तक दवा दिन में दो-तीन बार शहद के साथ चाटें या गरम पानी के साथ फांक लें। बच्चों के लिए इस दवा का आठवां भाग (एक रत्ती) पर्याप्त है। दही, केले, चावल, ठंडे पदार्थों का सेवन न करें। 
  • बड़ी हरड़ और सोंठ पीस लें और 5-5 ग्राम की मात्रा में गरम पानी के साथ लेते रहें। इस नुस्खे का उपयोग 3-3 घंटे के बाद 10-12 दिन तक करें। इससे दमा रोग में लाभ होता है। 

दमा का घरेलू उपचार-asthama ka gharelu upchar

  • रात को सोने से पहले 2-3 काली मिर्च चबाएं। तुलसी की पत्तियों में काली मिर्च मिलाकर लेने से दमा में आराम मिलता है। 
  • सांस फूलने की शिकायत होने पर तुलसी की पत्तियों को काले नमक के साथ मुंह में रखने से तुरंत आराम मिलता है। 
  • भुने चने रात को सोने से पूर्व खाकर ऊपर से थोड़ा गरम दूध पी लें। इससे श्वास की नली साफ हो जाती है और दमा रोग ठीक हो जाता है।

More from my site

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *