Amir banne ke tips in hindi-बेहतर प्लानिंग जरूरी

Amir banne ke tips in hindi

Amir banne ke tips in hindi-बेहतर प्लानिंग जरूरी

 “जीना सीखो जिस प्रकार हम इस दुनिया में आकर उठना बैठना, खाना-पीना, बोलना और व्यवहार करना सीखते हैं, उसी प्रकार हमें जीना भी सीखना चाहिए। जिन्दगी को कैसे जिया जाए, यह भी बहुत जरूरी है।” -सुकरात

डेविड शेफर्ड कहते हैं कि अधिकतर लोग छुट्टियों के लिए अच्छी प्लानिंग बनाते हैं। उन्हें कहां जाना है, कितने दिन रुकना है, कहां घूमना है। खर्च का बजट तैयार करना, रिजर्वेशन करवाना, रिसोर्ट बुक कराना आदि पूरी प्लानिंग से करते हैं, लेकिन अधिकतर लोग अमीर बनने के लिए किसी तरह की प्लानिंग नहीं करते।बिना प्लानिंग के किसी भी कार्य को शुरू नहीं करना चाहिए। इससे उस कार्य का लाभ आपको नहीं मिलेगा। फोर्ड फाउंडेशन द्वारा किए गए एक अध्ययन की रिपोर्ट के अनुसार 90 प्रतिशत लोग बिना किसी प्लानिंग व विचार के जीते हैं। जिसकी वजह से वे जिंदगी में कुछ भी नहीं कर पाते। 

वे बिना किसी प्लानिंग के कोई भी कार्य शुरू कर देते हैं। आगे चल कर जब उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। उससे निपटने के लिए उनके पास कोई प्लानिंग नहीं होती। तब वे अपनी किस्मत को दोष देना शुरू कर देते हैं। असफलता का दोष किस्मत पर जड़ देते हैं। जब आपने बिना प्लानिंग के काम किया, इसमें असफल हो गए। फिर इसके लिए किस्मत को दोष देना क्या सही है? 

बिना प्लानिंग के किसी भी कार्य को करने पर उस काम में सफलता मिलने के चांस काफी कम होते हैं। कह सकते हैं, नहीं के बराबर होते हैं। इसके बावजूद लोग बिना प्लानिंग के कार्य शुरू करने से बाज नहीं आते। किसी भी कार्य को प्लानिंग से करें। यह आपके फ्यूचर से जुड़ा हुआ होता है। असफल होने पर बिना प्लानिंग के किए गए कार्य की बजाय खुद की काबिलियत पर शक करने लगते हैं। मन में अनेक तरह की निगेटिव बातें पैदा करने लग जाते हैं। 

जिस तरह किसी सफर को शुरू करने से पहले यह मालूम होना जरूरी है कि कहां जाना है। वहां जाने के लिए क्या-क्या साधन हैं। कौन-सा रास्ता कहां से होकर कहां पहुंचता है? पहुंचने में कितना समय लगता है? रास्ते में किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ेगा? उससे बचने के उपाय क्या हैं? ट्रेन या फ्लाइट का रिजर्वेशन, रिसोर्ट या होटल की बुकिंग, ड्रेस, रास्ते में लगने वाले जरूरत के सामानों की सूची आदि सभी बातों पर ध्यान देकर एक अच्छी प्लानिंग व बजट तैयार कर लेते हैं। ताकि छुट्टी का भरपूर मजा ले सकें। 

जिस तरह छुट्टी का भरपूर मजा लेने के लिए पूरी प्लानिंग करते हैं। उसी तरह से अमीर बनने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए बेहतर प्लानिंग बनाएं। उसे हासिल करने के लिए अपनी प्लानिंग के मुताबिक तैयारी शुरू कर दें। फिर देखें, आपको सफलता मिलने में देर नहीं लगेगी। किसी भी काम को शुरू करने के पहले बनाई गई प्लानिंग आपको सीढ़ी-दर-सीढ़ी ऊपर की ओर ले जाएगी। आगे उठाए जाने वाले कदमों के बारे में पूरी जानकारी होने से किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। 

अमीर बनने के लिए आपको इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए। किसी भी प्लानिंग के बिना दो कदम आगे बढ़ना बड़ा मुश्किल होता है। आप छोटा काम करें या बड़ा, इसके लिए पूरी प्लानिंग जरूरी है। बिना प्लानिंग के किया गया कार्य ध्यान बंटाता है। काम करने में मन नहीं लगता है। दिशाहीन होकर व्यक्ति कुछ भी करने लगता है। क्योंकि उसे पता ही नहीं होता है कि उसे किस दिशा में जाना है, उसका अगला कदम क्या है। इससे काम तो कुछ नहीं होता ऊपर से तनाव, चिंता, परेशानी पैदा होती है। सारा काम अव्यस्थित होता है। 

जब भी कोई कार्य करें, सबसे पहले लक्ष्य तय करें। उसे पूरा करने के लिए एक अच्छी प्लानिंग तैयार करें। अमीर बनने के लिए आवश्यक साधनों, उनके उपयोग की रणनीति और समय सीमा का समावेश होना चाहिए। जो व्यक्ति अमीर बनने के लिए बेहतर प्लानिंग बनाते हैं, वे जरूर अमीर बन जाते हैं।

प्लानिंग की मॉनीटरिंग करते रहना चाहिए। इससे आपको पता चलता रहेगा कि आपने कितना रास्ता तय कर लिया है और आगे कितना तय करना हैं। प्लानिंग के द्वारा ही आप स्टेप-बाय-स्टेप काम करते हुए अमीरी की बुलंदियों को छू सकते हैं। 

अमित अरोरा जो कि एक सफल बिजनेसमैन हैं, उनका कहना है कि बिजनेस की प्लानिंग सिर्फ एक बार कर लेने से काम नहीं चलता है। इसकी प्लानिंग हर रोज होते रहनी चाहिए। यदि आप पूरे साल भर की प्लानिंग कर चुके हैं तो अब महीने भर की प्लानिंग कर लें। इसके बाद सप्ताह भर की प्लानिंग करें और फिर 24 घंटे यानी हर दिन की प्लानिंग करें। कोई भी कह सकता है ऐसा क्यों?

अमीर बनने के लिए किसी बिजनेस को शुरू करने के पहले आपको पूरी प्लानिंग कर लेनी चाहिए कि व्यवसाय को कैसे शुरू किया जाए? उसके लिए किन-किन बातों का ध्यान रखा जाए? व्यवसाय को शुरू करने के बाद आपको प्रॉडक्ट के प्रॉजक्शन, क्वालिटी, क्वांटिटी आदि की प्लानिंग करनी होगी। फिर उसकी मार्केटिंग, पब्लिसिटी आदि के बारे में प्लानिंग करनी होगी। इन सभी कामों को पूरा करने के लिए लगातार प्लानिंग पर प्लानिंग करते ही रहना होगा तब जाकर हर रोज आपका टारगेट पूरा होगा। 

किसी भी व्यक्ति को अमीर बनने की प्लानिंग बनाने से डरना नहीं चाहिए। यह बहुत कठिन नहीं है। लेकिन इसके न होने पर काम करना जरूर कठिन हो जाता है। प्लानिंग कर लेने से कठिन काम भी आसान बन जाता है। प्लानिंग सभी परेशानियों को दूर कर देती है। बिजनेस ही नहीं जिंदगी भी सिलसिलेवार चलने लगती है। किसी अमीर व्यक्ति की जिंदगी पर गौर करेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि उसकी लाइफ कितने अच्छे ढंग से चल रही है।

अमीर बनने के लिए आपने अपना बिजनेस शुरू कर दिया है, लेकिन आपने अभी तक आगे की कोई प्लानिंग नहीं बनाई है तो देर न करें, अभी और इसी वक्त आगे की प्लानिंग बना लें। जिससे आप अमीरी के शिखर पर आसानी से पहुंच सकें। 

Amir banne ke tips- अपना काम स्वयं करें 

“जिस दिन आप अपने बारे में पूरी जिम्मेदारी लेते हैं, जिस दिन आप बहाने बनाना बंद कर देते हैं, उसी दिन से आप शिखर की ओर बढ़ने की शुरुआत कर देते हैं।” -ओ. जे. सिम्पसन

अमीर बनना चाहते हैं तो अपना काम स्वयं करें। काम का चुनाव ऐसा हो जिसे आप स्वयं कर सकें और उस काम के बारे में आपको अच्छी जानकारी हो। दूसरे के भरोसे काम करवा कर आप कभी भी अमीर नहीं बन सकते। कई व्यक्ति अमीर बनने में इसलिए असफल हो जाते हैं, क्योंकि उन्हें अपने काम के बारे में कुछ भी पता नहीं होता है। 

जानकारी के अभाव में वे अपने काम को अच्छे ढंग से डील नहीं कर पाते और आखिर में उन्हें अपना काम बंद कर देना पड़ता है। सुदीप तुली का कहना है कि हमेशा ऐसा काम शुरू करना चाहिए जो आप खुद कर सकें। जो काम आप खुद कर सकते हैं उसे आप से अधिक अच्छा कोई नहीं कर सकता। क्योंकि उस काम के बारे में आपको बढ़िया जानकारी होती है। यदि आप उस काम को कारीगर से भी करवाते हैं तो काफी अच्छी तरह से करवा सकते हैं। 

जिस काम के बारे में आपको जानकारी हो, उसी काम को शुरू करें। जिससे जरूरत पड़ने पर आप स्वयं उस कार्य को कर सकें। जिस कार्य के बारे में आपको जानकारी नहीं है, जिसे आप स्वयं नहीं कर सकते, उस कार्य को दूसरों से करवाना भी बड़ा मुश्किल होता है। क्योंकि काम को करने वाला उसे ठीक कर रहा है या नहीं, इस बारे में आपको मालूम नहीं हो पाता है। काम सही न होने पर इसका लाभ नहीं मिल पाता है। 

अपना काम अपना होता है। जब आप अपना काम करते हैं तो पूरी मेहनत, लगन और जोश से करते हैं। काम को पूरा करने के लिए आपको किसी के भरोसे की भी जरूरत नहीं होती। आपके पास पूंजी कम है, नया काम करना चाहते हैं। अकेले करें यानी स्वयं करें। 

जब हम स्वयं का काम करते हैं तो उसे दिल से करते हैं। उसे नौकर की तरह नहीं, स्वामी की तरह करते हैं। उसके लिए 100 प्रतिशत मेहनत करते हैं। इसलिए इसमें मिलने वाली सफलता की गारंटी भी 100 प्रतिशत होती है। दूसरों पर डिपेंड रह कर काम करने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। 

किंग सी. जिलेट के पास एक दमदार विचार था, मगर उनके पास न तो ब्लेड बनाने की मशीन थी, न ही पूंजी। इसके बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी। स्वयं ब्लेड बनाने की मशीन बनाई और ब्रांड के रूप में पहचान बनाई। आज जब भी किसी ब्लेड का नाम जुबान पर आता है तो सबसे पहले जिलेट नाम ही आता है। 

‘अपना हाथ जगन्नाथ’ के सिद्धांत को अपनाते हुए कैसेट किंग के नाम से मशहूर गुलशन कुमार ने दिल्ली के दरियागंज इलाके में जूस की दुकान शुरू की थी। जूस का बिजनेस अच्छी तरह से चल रहा था। इसके बावजूद उनके दिमाग में कैसेट बनाने की बात सूझी। उन्होंने उसके बारे में जानकारी हासिल की और छोटे से पैमाने पर स्वयं के बल पर कैसेट बनाना शुरू कर दिया। 

यह काम भी वे स्वयं ही करते थे। दिन में जूस का कारोबार संभालते थे। रात में कैसेट बनाने में लग जाते थे। दुकान-दुकान खुद सप्लाई देने के लिए जाते थे। अपना काम करने में उन्होंने कभी शर्म भी महसूस नहीं की। धीरे-धीरे उन्होंने एक छोटी-सी कंपनी स्थापित कर ली। 

काम बढ़ जाने पर कुछ लोगों को काम पर रख लिया। इसके बावजूद स्वयं भी काम करते रहे। कुछ ही समय में काम अच्छा चल निकला। आज म्युजिक की दुनिया में उनकी कंपनी टी-सीरिज की एक अलग पहचान है। इसी तरह एमडीएच मसाले, निरमा वाशिंग पाउडर, लिज्जत पापड़ जैसे अनेक उदाहरण हैं। जिन्होंने अपना काम शुरू किया था। स्वयं उस माल को तैयार करते थे और स्वयं तैयार माल को लेकर घर-घर बेचने जाते थे। उन्होंने अपना काम करने में कभी शर्म महसूस नहीं की थी और न ही किसी के भरोसे उन्होंने अपना काम शुरू किया था। 

अपना हाथ जगन्नाथ समझने वाले इन लोगों ने अकेले ही अपना काम शुरू किया और अमीर बन गए। इसीलिए आप भी अपना काम स्वयं शुरू करें। उसे स्वयं ही पूरा करें। आप में कोई कला, कोई गुण, कोई खासियत, कोई जानकारी है तो देर न करें। हाथ पर हाथ धरे न बैठे रहें। उठिए और अमीर बनने के लिए शुरू हो जाएं उस कार्य को करने के लिए, फिर देखिए आपको अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

three + four =