दुनिया की अद्भुत रहस्य रोमांचक घटनाएँ-‘द अग्ली अमेरिकन’ 

दुनिया की अद्भुत रहस्य रोमांचक घटनाएँ

‘द अग्ली अमेरिकन’ 

यह उस जमाने की घटना है, जब आज के हॉलीवुड का जाना-माना कलाकार पैट हिंगले स्टेज का कलाकार था। 

उन दिनों वह प्रसिद्ध नाटक ‘जे. बी.’ में अभिनय कर रहा था। घर में हुई एक दुर्घटना के कारण उसे एक दिन अभिनय छोड़कर घर आने को मजबूर होना पड़ा। 

दुनिया की अद्भुत रहस्य रोमांचक घटनाएँ

घर आकर उसने दर्जनों पुस्तकें दोस्तों के पास से मंगवाकर पढ़ डाली। उन पुस्तकों में ‘द अग्ली अमेरिकन’ भी थी, जिसकी चर्चा उन दिनों हर अमेरिकी की जबान पर थी, क्योंकि उसमें विदेशों में जाने वाले अमेरिकियों के व्यवहार पर विदेशियों की तीखी प्रतिक्रियाएं प्रकाशित की गयी थीं। 

इस पुस्तक को पढ़ते-पढ़ते पैट को ऐसा लगा कि कुछ समय बाद जब उस पुस्तक पर आधारित फिल्म बनेगी, तो उसमें होमर एटकिंस नाम के इंजीनियर की भूमिका उसे अदा करनी होगी। 

यह बड़ा अजीब ख्याल था, क्योंकि उन दिनों न तो वह सिने-अभिनेता था और न ही किसी सिने-निर्माता ने इस पुस्तक पर आधारित कोई फिल्म बनाने में कोई विशेष रुचि दिखायी थी। 

करीब साढ़े तीन साल बाद एक पार्टी में पैट की भेंट जार्ज इंग्लैण्ड नाम के एक निर्देशक से हुई। इंग्लैण्ड ने पैट को बताया, “यूनिवर्सल पिक्चर्स ने ‘द अग्ली अमेरिकन’ पर एक फिल्म बनाने का फैसला किया है 

और उसके निर्देशन की जिम्मेवारी मुझे सौंपी गयी है। मैंने फैसला किया है कि होमर एटकिंस नाम के इंजीनियर की भूमिका तुम अदा करोगे। क्या तम्हें यह भूमिका स्वीकार है?” 

“हां,” पैट ने मन-ही-मन मुस्कराते हुए उत्तर दिया। उसे साढ़े तीन वर्ष पहले की अपनी पूर्वानुभूति याद आ गयी थी। 

अद्भुत रहस्य रोमांचक घटनाएँ-  हॉलीवुड फिल्म निर्देशक का पूर्वाभास 

हॉलीवुड के फिल्म-जगत में राल्फ लेवी की ख्याति हास्य फिल्मों के सफल निर्देशक के रूप में है। उसने अनेक लोकप्रिय हास्य फिल्मों का निर्देशन किया है। 

यह उन दिनों की घटना है, जब लेवी येल विश्वविद्यालय का छात्र था। एक दिन उसने अपनी प्रेमिका और कुछ मित्रों के साथ न्यूयार्क जाकर एक नाटक देखने का प्रोगाम बनाया। नाटक देखने की सबसे अधिक उत्सुकता राल्फ को ही थी। 

न्यूयार्क पहुंचकर सबने खाना खाया, फिर वे थियेटर की ओर रवाना हुए। पर टिकट लेते समय राल्फ ने अचानक यह कहकर अपनी प्रेमिका और अपने मित्रों को चकित कर दिया, “अब मैं नाटक नहीं देख सकता! मैं जल्दी-से-जल्दी अपने घर लौटना चाहता हूं।” 

उसके मित्र नाटक देखने के लिए रुक गये, पर वह अपनी प्रेमिका के साथ वापस चल पड़ा। वे दोनों रात के ढाई बजे अपने-अपने घर लौटे।

घर पहुंचने पर राल्फ को उसके पड़ोसी ने यह संदेश दिया, “तुम फौरन इस नम्बर पर फोन करो!” 

फोन करने पर राल्फ को पता चला कि कुछ घंटे पहले उसके पिता का देहांत हो गया था।

राल्फ के पिता की मृत्यु ठीक उसी समय हुई थी, जिस समय वे नाटक देखने के लिए टिकट खरीद रहे थे। 

अद्भुत रहस्य- अभिनेत्री ल्यूसिल बाल के अतीन्द्रिय अनुभव 

हॉलीवुड की मोहक अभिनेत्री ल्यूसिल बाल को अपने जीवन में दो बार अविस्मरणीय अतीन्द्रिय अनुभव हुए। उनका वर्णन करते हुए वह कहती है, “पहली अतीन्द्रिय अनुभूति मुझे 17 वर्ष की आयु में, जब मैंने पहली बार नौकरी की थी, हुई। नौकरी करते ही स्वतंत्र जीवन व्यतीत करने की मेरी इच्छा जाग्रत हुई और मैं अपने माता-पिता के फ्लैट के ऊपर एक फ्लैट लेकर अलग रहने लगी। 

दुनिया की अद्भुत रहस्य रोमांचक घटनाएँ

“एक शाम मैंने अपनी एक सहेली को रात के खाने के लिए 

आमंत्रित किया। खाना मैंने खुद ही बनाया था और उसमें मेरी अनेक प्रिय चीजें भी थीं। खाना खाने के बाद हम दोनों ने बाहर घूमने का प्रोग्राम बनाया।

“घूमते-घूमते सहसा मैंने देखा कि मेरी उंगली में अंगूठी नहीं थी। इससे हम दोनों बड़े चिंतित हुए। फ्लैट में वापस आकर हमने हर जगह अंगूठी की खोज की, पर अंगूठी का कहीं पता न चला। 

“बात आयी-गयी हो गयी, पर अंगूठी के खोने का गम मुझे बना रहा।

“करीब डेढ़ महीने बाद मैंने अपने लिए फिर वही खाना बनाया। खाना खाने के बाद मैं अकेली ही घूमने के लिए बाहर निकल गयी। घूमते-घूमते अचानक मुझे ऐसा लगा कि जैसे किसी ने मुझसे कहा हो, ‘तुम्हारी गायब अंगूठी आलू के बोरे के नीचे दबी पड़ी है।’ 

“वापस आकर मैंने देखा, तो अंगूठी सचमुच आलू के बोरे के नीचे पड़ी थी। वह वहां कैसे पहुंच गयी थी और उसके वहां होने की बात मुझे किसने बतलायी थी, यह आज तक मेरी समझ में नहीं आया। 

“दूसरा अतीन्द्रिय अनुभव मुझे इस सदी के चौथे दशक में तब हुआ, जब मैं एक सफल सिने-अभिनेत्री बन चुकी थी। ‘मेरी डबल हैलन’ आज तो मेरी अच्छी सहेली बन चुकी है, पर उन दिनों उससे मेरी जान-पहचान दुआ-सलाम तक ही सीमित थी। 

“एक दिन जब मैं अपनी कार से स्टूडियो जा रही थी, एक चौराहे पर मैंने देखा, पुलिस के बहुत-से कर्मचारी एक टूटी कार के चारों ओर खड़े थे। शायद वह कार दुर्घटना में फंस गयी थी। उस कार को देखते ही मेरे न जाने कैसे मन में अचानक हैलन की याद आ गयी। 

“स्टूडियो जाने पर मैंने हैलन को उसके घर फोन किया। जब उसने मुझे बताया कि वह ठीक थी, तो मुझे बड़ी खुशी हुई। पर जो आशंका मेरे मन में घर कर गयी थी, वह ज्यों-की-त्यों बनी रही। मैंने उससे उसके पति के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि वह कार लेकर कहीं गया था और शाम तक वापस लौटेगा। मैंने उससे कहा, ‘यदि मेरी कोई जरूरत हो, तो फोन करना। हो सकता है तुम्हें मेरी मदद की जरूरत पड़े।’ 

“बाद में हैलन ने मुझे फोन किया, ‘जैसे ही तुमने फोन बन्द किया, पुलिस कंट्रोल रूम से मुझे फोन पर सूचना मिली कि मेरा पति कार-दुर्घटना में मारा गया। तुम फौरन मेरे पास आओ’।” 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

3 × four =