सनकी व्यक्ति की अजब गजब जानकारी | Amazing information of crazy person

सनकी व्यक्ति की अजब गजब जानकारी

सनकी व्यक्ति की अजब गजब जानकारी

आज हम इतिहास में ऐसे व्यक्ति की जानकारी देंगे जिसने अपने सनक के कारण वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला।

१.भरतपुर के महाराजा सवाई रामसिंह संसार की सर्वश्रेष्ठ कार रॉल्स रॉयस के शो रूम में गए। वहां उन्हें यथेष्ठ सम्मान नहीं मिला। ताव में आकर उन्होंने उस समय शोरूम में उपलब्ध तीनों रॉल्स रॉयस खरीद लीं। इसी सनक में आकर उन्होंने विश्व की सर्वाधिक महंगी कारों के पीछे कचरे का ट्रेलर लगवा दिया और ये गाड़ियां कचरा ढोने लगीं। 

२.लार्ड राकवी समुद्र के खारे पानी में घंटों डूबे रहते थे, क्योंकि उन्हें विश्वास था कि इससे उनकी अंतड़ियों को शक्ति प्राप्त होती है। इनके निवास से समुद्र तक रोजाना इनका जुलूस निकलता था, जिसमें ये आगे-आगे पैदल चलते, पीछे खाली बग्घी चलती। 

3.नवाब आसफहोला ने अपने हाथी ‘दलबदल’ की शादी ‘बडकनी’ नामक हथिनी से तय कर टी। वे स्वयं 1200 हाथियों की बारात लेकर इस विवाह को रचाने पहुंचे और सोलह श्रृंगार रत दुल्हन हथिनी को लेकर लौटे। 

 ४.पेरू निवासी जार्ज एवार नामक व्यक्ति को घोड़ा बनने की सनक सवार हो गयी। उसने घोड़ों के समान रहना और व्यवहार करना शुरू कर दिया। उसने जूतों में नाल ठुकवा ली तथा मुंह में लगाम लगाकर घोडागाड़ी खींचता और घास खाता था। 

५.नवाब गाजीउद्दीन हैदर को एक कुत्ते का भौंकना पसन्द नहीं आया। इसे चुप कराने के लिए उन्हें सलाह दी गयी कि अगर इस कुत्ते को रोजाना एक सेर गुलकन्द और एक बोतल गुलाब जल मिले तो यह संजीदा हो सकता है। बस उसी दिन से कुत्ते की यह शाही खुराक नियत कर दी गई। कुत्ता दो वर्ष बाद सन् 1816 में ही परलोक चला गया, परन्तु उसके बलबूते पर यह खुराक सन 1850 तक राजकोष से वसूल की जाती रही। 

६.लंदन निवासी विलियम बैकफोर्ड को अजब सनक थी। वह स्वयं अकेला रहता और भूले-भटके ही किसी को अपने यहां आमंत्रित करता। परन्तु उसकी खाने की मेज पर रोजाना 12 व्यक्तियों के लिए खाना लगाया जाता तथा उन 12 कुर्सियों के पीछे एक-एक नौकर परोसगिरी के लिए तैयार रहता। फिर विलियम बैकफोर्ड अकेले खाना खाता, वह भी सिर्फ एक ही प्रकार की डिश। शेष खाना वापस भिजवा दिया जाता। 

७.प्रसिद्ध उद्योगपति हॉवर्ड हुग्स को बार-बार हाथ साफ करने की अजीब सनक थी। वे हमेशा अपने पास नैपकिनों का एक बड़ा डिब्बा भरकर रखते थे। अपने जीवन के आखिरी दस वर्ष उन्हान होटल के बंद एकांत कमरों में बिताए और इस दौरान सिर्फ दो बार अपने नाखून और बाल कटवाए। 

८.मार्क ट्वेन को टब में लेटे रहकर लिखने का शौक था और विक्टर ह्यूगो बंद कमरे में पूर्णतः निर्वस्त्र होकर लिखते थे। 

9.विश्व की समृद्धतम महिला हैटी ग्रीन अकुत सम्पदा की मालकिन थी। परन्तु वे हमेशा फटे-पुराने काले कपड़े पहनती थी, सस्ते और घटिया किस्म के बिस्कुट खरीदकर अपना नाश्ता करती थी, छोटे से खस्ता हालत वाले मकान में रहती थी तथा कुछ सौ डॉलर की उधार की वसूली के लिए सबसे सस्ते साधनों द्वारा हजारों मील की यात्रा करती थी। कहा जाता है कि 80 वर्ष की उम्र में मरते समय यह महिला 200 मिलियन डॉलर की मालकिन थी, परन्तु इसने अपनी जिंदगी में कभी. एक पैसा भी केसी संस्था को दान नहीं दिया। 

सनकी व्यक्ति की अजब गजब जानकारी

१०.ब्रिजवाटर के आठवें अर्ल फ्रांसिस हेनरी एगरटन रोजाना नये जूते पहनते थे। उन्होंने अपने पालतू कुत्तों के लिए भी उम्दा चमड़े के मुलायम जूते बनवा रखे थे। वह अपनी खाने की मेज पर 12 कुर्सियां लगवाते, पीछे नैपकिन लेकर नौकर तैयार रहता और फिर उनके साथ-साथ उनके कुत्ते भी कुर्सियों पर बैठकर भोजन करते। अगर कोई कुत्ता ‘कुत्ते’ जैसा व्यवहार करने लगता, तब उसे उस समय तक दुबारा साथ बिठाकर भोजन नहीं खिलाया जाता था, जब तक वह सही अर्थों में, ‘टेबुल मेनर्स’ सीखकर नहीं आ जाता था। 

 ११.ह्यचा नामक एक साहब वर्ष 1979 से सिर्फ मक्खियां मार रहे हैं। नौकरी से रिटायर होने के पश्चात पिछले 21 वर्षों से रोजाना मक्खियां मारते हैं। करीब 4,000 मक्खियों की औसत से वे अब तक 17 किलो से अधिक मक्खियां मार चुके हैं। 

१२.ब्रेस्ट (फ्रांस) निवासी एक 68 वर्षीया महिला ने 18 वर्ष तक अपने घर का कूड़ा-कचरा बाहर नहीं फेंका और इसे घर के भीतर ही जमा करती रही। जब पड़ोसियों ने बदबू आने की शिकायत की और अधिकारी उस महिला के घर पहुंचे, तब वे यह देखकर हैरान रह गए कि इस सनकी महिला ने अपने घर के आठों कमरों में छः फुट की ऊंचाई तक कचरा इकट्ठा कर रखा था। 

(मिरर, जुलाई, 1988) 

१३.अरब के शहजादे मोहम्मद अली फासी, जो अमरीका में रहते हैं, को सड़क पर घूमती 25 बिल्लियां पसंद आ गईं। अपने मूड में आकर वे इन्हें साथ ले आए और अब ये बिल्लियां समुद्र तट पर 32 लाख डॉलर से बने महल के सात आलीशान कमरों में रह रही हैं, कीमती बर्तनों में खाना खा रही हैं तथा मोटे नर्म गद्दों पर आराम फरमा रही हैं। कहा जा रहा है कि शहजादा इन बिल्लियों की देख-रेख पर 25 लाख डॉलर सालाना खर्च करेंगे। 

(राजस्थान पत्रिका, 17-12-89) 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

5 + 6 =