Agniveer Model Paper 2022: Navy, Army, Air Force | Sample Question Paper

Agniveer Model Paper 2022

Agniveer Model Paper 2022: Navy, Army, Air Force | Sample Question Paper

Agniveer army एग्जाम 2022 के लिए यहां पर आपको मॉडल पेपर का सेट 1दिया गया है। यहां पर मॉडल पेपर का सेट का पीडीएफ  दिया गया है जिसे आप डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं।

Agniveer Model Paper 2022

Agniveer Model Paper 2022

Agniveer Model Paper 2022: Navy, Army, Air Force

Agniveer Armypractice set-1 2022CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army practice set-2 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army practice set-3 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army practice set-4 2022 CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army practice set-5 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

अग्निपथ योजना ki jankariclick here

Agniveer Army MODEL set-6 TO 7 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army MODEL set-8 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army MODEL set-9 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army MODEL set-10 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

Agniveer Army MODEL set-11 to 12 2022– CLICK HERE FOR PDF DOWNLOAD

agniveer question paper pdf download-यहां पर इस सेट के जीके का व्याख्या दिया गया है।

(a) फर्न की स्त्रीधानी में एक ग्रीवा नाल कोशिकाएं पायी जाती हैं। फर्न या पांग एक अपृष्पक पौधा है। यह बीजाणु धानियों से बीजाण उत्पन्न करता है। बीजाणु धानियाँ पत्तियों में पायी जाती हैं। ये उमस और गर्मी के नमुइंदे हैं। इनका वानस्पतिक नाम “एस्पैरेगस स्पैगरी’ है।

17. (b) ट्रोकोडेन्ड्रान ऐन्जियोस्पर्म वाहिका रहित होता है। वाहिका कोशिका जाइलम में पायी जाती हैं। जिसे पानी केशिकत्व के माध्यम से पूरे वृक्ष में पहुंचता है। लेकिन कुछ में ये वाहिका नहीं होती है जैसे एमब्रेला टीकापडा, बबीपा, जायगाजनम डिमेस इत्यादि।

18. (b) मर्मिकोलाजी में चीटियों का अध्ययन किया जाता है। चीटियाँ सामाजिक कीट है। ये कालोनी बनाकर रहना पंसद करती हैं।

19.(a) शल्य प्रक्रिया के बाद जन्म लेने वाला पहला बच्चा जुलियस सीजर था। 20. (a) रिवर्स ट्रांसक्रिप्टेस एंजाइम की उपस्थिति के कारण एचआईवी अपना आकर अक्सर बदल लेता है।

21. (c) 22.(b) 23.(d) मानव शरीर का प्रतिरोध शुष्क दशा में 100000 Ohms होता है। आर्द्र दशा में मानव शरीर का प्रतिरोध 1000 Ohms होता है। (Ohms – अर्थात ओम) 10 Ohms = 100000 Ohms 24. (a) कुछ पदार्थों का अति निम्न तापमान पर विद्युत प्रतिरोध पूर्णतया समाप्त हो जाता है। इनके इस गुण को अतिचालकता तथा उस पदार्थ को अतिचालक कहते हैं। 

25.(d) लोहे का सबसे शुद्ध वाणिज्यिक रूप पिटवा लोहा है। इसमें कार्बन की मात्रा 0.087% से भी कम होता है 26. (a) पीतल एक मिश्र धातु है। यहाँ तांबा एवं जस्ता धातुओं के मिश्रण से बनाया जाता है। जर्मन सिल्वर में ताँबा (45 भाग) जस्ता (45 भाग) तथा निकल (10 भाग) होता है। लोहे से पीतल की चीजें अधिक टिकाऊ होती हैं। 

(b) यशद लेपन में लोहे पर जस्ता की परत चढ़ाई जाती है। इस क्रिया को यशदीकरण कहते हैं। जिंक की परत लोहे को नमी से आवसीकृत होने से बचाती है। जिससे लोहे की छड़, बाल्टी इत्यादि काफी दिनों तक सुरक्षित रहती है। 28. (b) दो या दो से अधिक पदार्थों के समांगी मिश्रण को विलयन कहते हैं। किसी निश्चित तापमान पर विलयन के उपादानों का आपेक्षिक अनुपात एक सीमा तक परिवर्तित किया जा सकता है। जब चीनी को पानी में घोला जाता है तो एक समांगी मिश्रण बनता है। यह समांगी मिश्रण चीनी का पानी से विलयन कहलाता है।

29. (a) कोशिकाएं जो द्वार कोशिकाओं से निकट रूप से संबद्ध और अंतर्विष्ट हैं उसे संचरण ऊतक (Transfusion Tissue) कहते हैं।

30. (a) स्टार्च का शर्करा में परिवर्तित होने के लिए रंध्री द्वार (Stomatal opening) अनिवार्य है।

31.(b) मृदा अपरदन या भूक्षरण उस प्राकृतिक प्रक्रिया को कहते हैं, जिससे मिट्टी की ऊपरी परत उड़ जाती है। मृदा संरक्षण से अभिप्राय उन विधियों से है जो अपरदन को रोकते हैं। मृदा अपरदन को रोकने के लिए बनारोपण, वनों की रक्षा, बंध बनाना, भूमि उद्धार, बाढ़ नियंत्रण, अत्यधिक चराई पर रोक, पट्टीदार व सीढ़ीदार कृषि तथा सम्मोच्चरेखीय जुताई महत्वपूर्ण है।

32.(d) 33. (c) बैंगन आनुवांशिक रूप से परिष्कृत सब्जी हाल में भारतीय बाजार में उपलब्ध करा दी गई है।

34. (c) समुद्र में पाये जाने वाले पौधे या शैवाल में आयोडीन प्रचुर मात्रा में पाया | जाता है। इन्हें केल्प कहते है। केल्प में इतना अधिक आयोडीन होता है कि अन्य फलों से चार गुना अधिक है। इनका सेवन सलाद सूप या खाने की अन्य रेसीपी के जरिये करते हैं। यह स्वास्थ्यवर्धक आहार है। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

eight + twelve =